ताज़ा खबर
 

‘महाराष्ट्र के महा-ड्रामे को कैसे समझाएंगे?’ एंकर ने पूछा तो गाने गुनगुनाने लगे पैनलिस्ट, BJP प्रवक्ता बोले- आ जा प्यारे पास हमारे

Maharashtra Government (Govt) Formation, Maharashtra Floor Test: दिल्ली से एनसीपी के 3 विधायकों के मुंबई लौटने की खबर मिलने के बाद पार्टी चीफ शरद पवार ने नेतृत्व पर भरोसा जताया है। हालांकि, बीजेपी सूत्रों का दावा है कि अजित पवार के साथ एनसीपी के 27 विधायक हैं।

ncp bjp congressअजित पवार और देवेंद्र फडणवीस (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

Maharashtra Government (Govt) Formation, Maharashtra Floor Test:  महाराष्ट्र में सियासी घमासान मचा हुआ है। हर तरफ बीजेपी के अचानक सरकार बनाने को लेकर चर्चा है तो फडणवीस-अजित पवार के बहुमत साबित करने व सुप्रीम कोर्ट में मामले की सुनवाई को लेकर भी उत्सुकता बनी हुई है। दिल्ली से एनसीपी के 3 विधायकों के मुंबई लौटने की खबर मिलने के बाद पार्टी चीफ शरद पवार ने नेतृत्व पर भरोसा जताया है। हालांकि, बीजेपी सूत्रों का दावा है कि अजित पवार के साथ एनसीपी के 27 विधायक हैं।

जानकारी के मुताबिक, डिप्टी सीएम पद की शपथ लेने वाले अजित पवार ने रविवार (24 नवंबर) देर शाम सीएम देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात की। बताया जा रहा है कि दोनों पक्षों के बीच महाराष्ट्र के किसानों की समस्याओं को लेकर चर्चा हुई। इस बीच महाराष्ट्र में जारी खींचतान को लेकर इंडिया टुडे न्यूज चैनल पर एक कार्यक्रम टेलीकास्ट हुआ। इस दौरान एंकर राजदीप सरदेसाई ने महाराष्ट्र के महा-ड्रामे को गाने के माध्यम से समझाने के लिए कहा।

Hindi News Today, 25 November 2019 LIVE Updates: बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

एंकर का सवाल सुनकर सभी पैनलिस्ट पहले मुस्कुराने लगे। इसके बाद कांग्रेस प्रवक्ता संजय झा ‘ले जाएंगे, ले जाएंगे, दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ गाना गुनगुनाने लगे। जवाब में बीजेपी प्रवक्ता ने कहा, ‘सिर जो तेरा चकराए या दिल डूबा जाए, आ जा प्यारे पास हमारे, काहे घबराए।’ इस दौरान पैनल में मौजूद वरिष्ठ पत्रकारों, सुप्रीम कोर्ट के वकील व एंकर ने भी गाना सुनाया।

वरिष्ठ पत्रकार निखिल वागले ने एक मराठी गाना सुनाकर अपना पक्ष रखा। उन्होंने सुनाया, ‘या टोपी खाली दडलई काए।’ इसका गाने का मतलब था कि टोपी के नीचे क्या है? इसके अलावा वरिष्ठ पत्रकार स्मृति कोप्पिकर ने दबंग फिल्म के गाने ‘दगाबाज’ से महाराष्ट्र की राजनीतिक स्थिति समझाने की कोशिश की।

सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता बिश्वजीत भट्टाचार्य ने भी महा-ड्रामे पर गाना सुनाया। उन्होंने कहा, ‘ये क्या हुआ, कैसे हुआ, कब हुआ, अब क्या सुनाएं?, ये क्या हुआ, कैसे हुआ, कब हुआ, क्यों हुआ, जब हुआ, तब हुआ, ओ छोड़ो, ये ना सोचो।’ बिश्वजीत का गाना सुनकर सभी पैनलिस्ट मुस्कुराने लगे। इसके बाद एंकर ने भी ‘गोलमाल है भई, सब गोलमाल है’ गाना सुनाया।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में 12 नवंबर को राष्ट्रपति शासन लागू हुआ था। इसके बाद शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के बीच सरकार बनाने को बातचीत चल रही थी। 23 नवंबर की सुबह देवेंद्र फडणवीस एनसीपी नेता अजित पवार के साथ राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के पास पहुंचे और सरकार बनाने का प्रस्ताव पेश किया। ऐसे में देवेंद्र फडणवीस को सीएम व अजित पवार को डिप्टी सीएम पद की शपथ दिला दी गई। फिलहाल, शिवसेना, एनसीपी व कांग्रेस ने सरकार गठन को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है, जिस पर आज (25 नवंबर) को सुनवाई होनी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ”Article 370 को लेकर चिढ़ाया, आतंकवादी तक कहा”, J&K के छात्रों के साथ मारपीट के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा
2 महाराष्ट्र: बहुमत साबित करने बीजेपी ने शुरू किया “ऑपरेशन लोटस”; कांग्रेस, एनसीपी से आए चार नेताओं को सौंपा जिम्मा
3 Weather Forecast: राजस्थान में आज होगी बारिश, बहुत खराब स्तर पर पहुंचा दिल्ली-NCR में प्रदूषण का स्तर, जानिए अपने क्षेत्र के मौसम का सटीक अनुमान
ये पढ़ा क्या?
X