scorecardresearch

UPA-2 में 60% बिल भेजे गए थे सिलेक्ट कमेटी के पास, पर मोदी 2.0 में आंकड़ा था शून्य- BJP प्रवक्ता के दावे पर बोले कांग्रेस नेता

विपक्ष ने सरकार पर सदन में मार्शल का इस्तेमाल करने एवं धक्का-मुक्की करने का आरोप लगाया है।

rajya sabha, BJP
राज्यसभा में विपक्षी सांसदों और मार्शलों के बीच धक्का-मुक्की हुई थी।(फोटो-पीटीआई)।

इंडिया टुडे चैनल पर डिबेट के दौरान एंकर राजदीप सरदेसाई ने कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा से पूछा कि जब पीएम मोदी ने कांग्रेस के नेताओं को कोविड पर मीटिंग के लिए बुलाया था तो वे उसमें शामिल क्यों नहीं हुए, बहिष्कार क्यों किया?राजदीप पूछने लगे कि राहुल गांधी की संसद में मौजूदगी कम क्यों रहती है, यहां तक कि पंडित नेहरू भी संसद में मौजूद रहा करते थे। जवाब में पवन खेड़ा कहने लगे कि बीजेपी के प्रवक्ता डिबेट में भी झूठ बोलने का काम करते हैं। आपको मालूम होना चाहिए कि यूपीए में 60 से 70 प्रतिशत बिल सिलेक्ट कमेटी में भेज दिए जाते थे। 2019 के बाद से तो मोदी सरकार ने किसी भी बिल को सिलेक्ट कमेटी में भेजना ही छोड़ दिया है।

बता दें कि विपक्ष ने सरकार पर सदन में मार्शल का इस्तेमाल करने एवं धक्का-मुक्की करने का आरोप लगाया है।गुरुवार को राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के संसद भवन स्थित कक्ष में बैठक करने के बाद विपक्षी नेताओं ने संसद भवन से विजय चौक तक पैदल मार्च किया। इस दौरान कई नेताओं ने बैनर और तख्तियां ले रखी थीं। विपक्षी नेताओं की बैठक में खड़गे, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, लोकसभा में पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी, पार्टी के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश एवं आनंद शर्मा, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार, समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता रामगोपाल यादव, द्रमुक के टी आर बालू, राष्ट्रीय जनता दल के मनोज झा और अन्य विपक्षी दलों के नेता शामिल हुए।

राहुल गांधी और कई अन्य विपक्षी दलों के नेताओं ने राज्यसभा में कुछ महिला सांसदों के साथ कथित धक्का-मुक्की की घटना को ‘लोकतंत्र की हत्या’ करार दिया।

दूसरी ओर, संसद के मानसून सत्र के दौरान हंगामा और अमर्यादित व्यवहार करने का विपक्ष पर आरोप लगाते हुए बृहस्पतिवार को केंद्रीय मंत्रियों ने कहा कि संसद में नियम तोड़ने व इस तरह का बर्ताव करने वाले विपक्षी सांसदों के खिलाफ ऐसी सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए कि कोई भी भविष्य में ऐसा करने का साहस नहीं करे। केंद्रीय मंत्रियों ने विपक्षी नेताओं पर मार्शलों के साथ धक्का- मुक्की करने का आरोप लगाया।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट