ताज़ा खबर
 

भारत में 73 फीसदी लोग करते हैं नरेंद्र मोदी सरकार पर भरोसा, वर्ल्‍ड इकॉनमिक फोरम की रिपोर्ट

फोरम ने इस लिस्‍ट में भारत की बेहतर स्थिति के पीछे मोदी सरकार के भ्रष्‍टाचार विरोधी और कर-सुधार अभियान को वजह बताया है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने चुनाव प्रचार में अपना पूरा जोर लगया दिया। (File Photo: PTI)

भारत में 73 फीसदी लोग राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की सरकार में विश्‍वास रखते हैं। विश्‍व आर्थिक फोरम ने 15 नवंबर को जारी रिपोर्ट में भारत को उन देशों की सूची में तीसरे स्‍थान पर रखा है, जहां के लोग अपनी सरकार पर सबसे ज्‍यादा विश्‍वास करते हैं। विश्‍व में अपनी सरकार पर सबसे ज्‍यादा भरोसा स्विट्जरलैंड और इंडोनेशिया के लोगों को है। वहां के 82-82 फीसदी लोगों को अपनी सरकार पर भरोसा है। फोरम ने इस लिस्‍ट में भारत की बेहतर स्थिति के पीछे नरेंद्र मोदी सरकार के भ्रष्‍टाचार विरोधी और कर-सुधार अभियान को वजह बताया है। सूची में भारत से नीचे लग्‍जमबर्ग, नॉर्वे, कनाडा, टर्की, न्‍यूजीलैंड, आयरलैंड, नीदरलैंड्स, जर्मनी, फिनलैंड, स्‍वीडन जैसे देश हैं। अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप की सरकार पर करीब 33 फीसदी लोग विश्‍वास रखते हैं।

हाल ही में वैश्विक रेटिंग एजेंसी मूडीज ने भारत की रेटिंग में सुधार किया था। मूडीज इंवेस्टर सर्विस द्वारा भारत की रेटिंग को बीएए3 से बढ़ाकर बीएए2 कर दिया गया है। लंबे समय से भारत को रेटिंग एजेंसियां निवेश की सबसे निचली श्रेणी बीएए3 में रखती आई हैं। इसपर केंद्र सरकार बेहद खुश है। वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने कहा, ”13 साल बाद भारत की रेटिंग में सुधार हुआ है। मुझे भरोसा है कि भारत की सुधार प्रक्रिया के बारे में संदेह रखने वाले अब अपनी राय पर गंभीरता से आत्मचिंतन करेंगे।”

मूडीज ने रेटिंग में सुधार करते हुए कहा कि यह भारत सरकार के ‘आर्थिक और संस्थागत सुधारों के व्यापक कार्यक्रम का नतीजा है।’ हालांकि रेटिंग एजेंसी ने चेतावनी देते हुए कर्ज के भारी दबाव को देश के क्रेडिट प्रोफाइल पर नकारात्मक धब्बा बताया है। कुछ ही दिन पहले विश्व बैंक की कारोबार सुगमता (ईज ऑफ डूइंग बिजनस) रिपोर्ट में भारत का स्थान 30 पायदान ऊपर कर 100 कर दिया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. B
    bitterhoney
    Nov 19, 2017 at 9:48 pm
    यह सर्वे पैसा देकर कराया गया है.वास्तविकता इसके विपरीत है.
    (9)(0)
    Reply