scorecardresearch

ISI की नापाक करतूत, भारत-पाकिस्तान चैंपियंस ट्रॉफी मैच में कश्मीर से जुड़े बैनर दिखाने के लिए भेजे एजेंट

India-Pakistan Champions Trophy match: रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान की मंशा है कि किक्रेट ग्राउंड पर लगे कैमरों में इस तरह के बैनर्स दिखा कश्मीर का मुद्दा उठाकर पूरी दुनिया का ध्यान कश्मीर की तरफ खींचा जा सकता है।

ISI की नापाक करतूत, भारत-पाकिस्तान चैंपियंस ट्रॉफी मैच में कश्मीर से जुड़े बैनर दिखाने के लिए भेजे एजेंट
कप्तान विराट कोहली और कोच अनिल कुंबले। (Representative Image)

पाकिस्तानी की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी में भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाले मुकाबले में 14 एजेंटों को भेजा। आईएसआई की ओर से इन कार्यकर्ताओं को आज (4 मई को) होने वाले मैच में झंडे और बैनर दिखाने के लिए भेजा गया है। इंडिया टुडे ने अपने सूत्रों के हवाले से बताया कि एजेंटों को इंग्लैंड के एजबस्टन में चैंपियंस ट्राफी मैच के दौरान कश्मीर के स्वतंत्रता संदेश देने वाले A3 प्लाकार्ड्स को प्रदर्शित करने को कहा गया है। पाक की खुफिया एजेंसी की ओर से एजेंटों को ‘Kashmir Seeks Attention’, ‘कश्मीर में खून बह रहा है’, ‘हम कश्मीर के साथ हैं’ तथा ‘अब जम्मू और कश्मीर को आजादी दो’ जैसे स्लोगन प्रदर्शित करने के निर्देश दिए गए हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान की मंशा है कि किक्रेट ग्राउंड पर लगे कैमरों में इस तरह के बैनर्स दिखा कश्मीर का मुद्दा उठाकर पूरी दुनिया का ध्यान कश्मीर की तरफ खींचा जा सकता है। भारतीय खुफिया एजेंसियों को आईएसआई के इस प्लान की जानकारी है। इस तरह का एक पोस्ट सोशल मीडिया पर किया गया है, जिसमें लोगों से अपील की गई है कि अगर आप किसी को जानते हैं जो 4 जून को भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाला मैच देखने जा रहा हो। तो उससे कहे कि वह अपने साथ A3 साइज की पेपर शीट लेकर जाए जिस पर लिखा हो ‘Kashmir Seeks Attention’, ‘Kashmir is bleeding’, ‘We stand with Kashmir.’

गौरतलब है कि भारत-पाकिस्तान के बीच के रिश्तों में तल्खी और तनाव के मध्य रविवार को मैच खेला जाना है। इससे पहले खेल मंत्री विजय गोयल की ओर से कहा गया था कि पाकिस्‍तान के साथ मौजूदा समय में खेल के संबंध नहीं बनाए जा सकते। सीमा पार से पाकिस्‍तान आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा दे रहा है, ऐसे में उसके साथ द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज संभव नहीं है। एलओसी पर सीजफायर उल्लंघन और पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम की ओर से दो भारतीय जवानों की हत्या करने और उनके शव के साथ बर्बरता करने को लेकर दोनों देशों के बीच बातचीत बंद है। भारत की ओर से पाकिस्तान की कार्रवाई के बाद सीमापार स्थित पाकिस्तानी कैंपों को निशाना बनाया गया था। यहीं से पाकिस्तान आतंकियों की भारत में घुसपैठ कराता है। पाकिस्तानी सेना ने दावा किया गया था कि उसने एलओसी पर भारतीय सेना के पांच जवानों को मार गिराया है। इसका भारतीय सेना ने खंडन किया था।

 

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 04-06-2017 at 08:42:38 am
अपडेट