ताज़ा खबर
 

BJP महासचिव राम माधव के ‘अखंड भारत’ वाले बयान से पार्टी ने किया किनारा, कहा- ये उनके निजी विचार

राम माधव ने कहा, ''आरएसएस अब भी यह मानता है कि ऐतिहासिक कारणों से ये हिस्‍से, जो 6 0 साल पहले अलग हो गए थे, एक दिन आपसी सद्भावना के साथ एक साथ आएंगे और अखंड भारत का निर्माण होगा।''

Author नई दिल्‍ली | December 27, 2015 8:41 PM

बीजेपी महासचिव राम माधव के बयान से पार्टी ने खुद को अलग कर लिया है। एक इंटरव्यू में माधव ने कहा था कि भारत, पाकिस्‍तान और बांग्‍लादेश, ये तीनों देश मिलकर एक दिन अखंड भारत का निर्माण करेंगे। माधव के बयान पर पार्टी ने रविवार को कहा कि वह उनके निजी विचार हैं और मोदी सरकार इस बारे में स्पष्ट है कि भारत और पाकिस्तान दो संप्रभु राष्ट्र हैं। यह पूछे जाने पर कि जब पार्टी और सरकार का मत स्पष्ट है तो भाजपा के एक महत्वपूर्ण महासचिव ने ऐसा बयान क्यों दिया, अकबर ने कहा, ‘‘माधव एक खास सवाल का जवाब दे रहे थे, उन्हें अपने विचार रखने का अधिकार है। लेकिन सरकार के रूख में किसी तरह के स्पष्टीकरण की जरूरत नहीं है।’’

क्‍या कहा था माधव ने 

इंटरनेशनल न्‍यूज नेटवर्क अल जजीरा को दिए इंटरव्यू में राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ के पूर्व प्रवक्‍ता और नेशनल एग्‍जीक्‍यूटिव मेंबर राम माधव ने कहा था, ”आरएसएस अब भी यह मानता है कि ऐतिहासिक कारणों से ये हिस्‍से, जो 6 0 साल पहले अलग हो गए थे, एक दिन आपसी सद्भावना के साथ एक साथ आएंगे और अखंड भारत का निर्माण होगा।” माधव ने बाद में यह भी कहा कि वे आरएसएस के सदस्‍य के तौर पर ऐसा सोचते हैं।

माधव ने आगे कहा, ”इसका कत्‍तई यह मतलब नहीं है कि हम किसी देश के खिलाफ जंग छेड़ेंगे या घुसपैठ करेंगे। बिना किसी जंग के आपसी रजामंदी से ऐसा होगा। ऐसा हो सकता है।” भारत को हिंदू देश बताने से जुड़े अपने एक बयान पर माधव ने कहा कि यह एक ऐसी धरती है, जहां जीवन जीने का खास नजरिया और विशेष संस्‍कृति है। हम इसे हिंदू कहते हैं। क्‍या आपको इस पर कोई आपत्‍त‍ि है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X