ताज़ा खबर
 

भारत-पाक धर्मशाला T20: पूर्व सैनिक बोले- मसूद अजहर का सिर लाओ, फिर मैच की बात करो

धर्मशाला में इस मैच को लेकर मुख्‍यमंत्री वीरभद्र सिंह पहले ही विरोध जता चुके हैं। इस संबंध में उन्‍होंने बीसीसीआई और गृह मंत्रालय को भी पत्र लिखा था।

dharamshala t20, india pak t20, india pakistan dharamshala t20, world t20, t20, india pakistan T20 match, India-Pakistan World T20 match, india pakistan T20 match at dharamshala, CM virbhadra singh, ex servicemen, dharamshala t20 protest, masood azhar, dharamshala t20 row, धर्मशाला टी20, भारत पाकिस्‍तान टी20 मैच , भारत पाकिस्‍तान वर्ल्‍ड टी20, पूर्व सैनिक, धर्मशाला टी20 पूर्व सैनिक, मसूद अजहरभारत पाकिस्‍तान के बीच धर्मशाला में वर्ल्‍ड टी20 मैच प्रस्‍तावित है।

धर्मशाला में भारत और पाकिस्‍तान के बीच वर्ल्‍ड टी20 के दौरान मैच के आयोजन को लेकर चल रहा विवाद थमता नहीं दिख रहा है। एक्‍स सर्विसमैन लीग हिमाचल प्रदेश यूनिट के अध्‍यक्ष मेजर विजय सिंह मनकोटिया का कहना है कि पहले आतंकी मसूद अजहर का सिर लेकर आओ। इसके बाद मैच का आयोजन किया जा सकता है। उन्‍होंने चेतावनी दी कि मैच का विरोध करने के लिए हम ऑपरेशन बलिदान शुरु करेंगे। बता दें कि धर्मशाला में इस मैच को लेकर मुख्‍यमंत्री वीरभद्र सिंह पहले ही विरोध जता चुके हैं। इस संबंध में उन्‍होंने बीसीसीआई और गृह मंत्रालय को भी पत्र लिखा था। उनका कहना है कि मैच को कहीं और शिफ्ट कर दिया जाए।

मनकोटिया ने दावा किया कि धर्मशाला मैच के दौरान 7000 पाकिस्‍तानी दर्शक कश्‍मीर होते हुए यहां आएंगे। जब वे पाकिस्‍तानी झंडा उठाएंगे तो स्थिति बिगड़ सकती है। उन्‍होंने पूछा कि जब एनडीए सरकार के लिए आतंक और बातचीत साथ-साथ नहीं चल सकती तो आतंकी और टी20 कैसे साथ-साथ हो सकते हैं। यदि शहीदों के परिवार मैच के लिए राजी हो भी जाएं तो भी वे विरोध जारी रखेंगे। बता दें कि मनकोटिया पूर्व में कांग्रेस सरकार में मंत्री रह चुके हैं।

इससे पहले बुधवार को हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के अध्‍यक्ष अनुराग ठाकुर ने सीएम वीरभद्र सिंह से मुलाकात की। गुरुवार को उन्‍होंने बताया कि बीसीसीआई के अनुसार मैच तय समय के हिसाब से ही होगा। ठाकुर ने बताया कि मैच की तारीख और जगह एक साल पहले ही तय कर दी गई थी। उस समय इस संबंध में कोई विवाद नहीं था। वहीं वीरभद्र सिंह ने कहा कि उन्होंने ठाकुर से शहीदों के परिवारों और पूर्व सैनिकों से बात करने को कहा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories