ताज़ा खबर
 

बढ़ेगी ठंड, शराब से बचें- मौसम विभाग की सलाह

बताया गया है कि जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में पश्चिमी विक्षोभ के कारण रविवार और सोमवार तक बर्फबारी हो सकती है।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: December 27, 2020 7:48 AM
Cold Wave, North Indiaउत्तर भारत में अभी और कड़ाके की ठंड पड़ने का अनुमान। (फाइल फोटो- PTI)

भारत में आने वाले दिनों में ठंड का प्रकोप बढ़ने की संभावना है। खासकर दिल्ली और उत्तर भारत में, जहां अब तक सर्दी का कोई खास असर नहीं देखा गया है। मौसम विभाग (IMD) का कहना है कि सोमवार से उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड पड़ने की संभावना है। इसी के साथ विभाग ने सलाह दी है कि लोग ठंड में शराब पीने से बचें।

IMD ने शुक्रवार को मौसम का पूर्वानुमान जारी करते हुए कहा कि उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में रविवार तक न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी आएगी। यानी आज तक ठंड में कमी होगी। जिन जगहों पर न्यूनतम तापमान बढ़ेगा, उनमें पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और राजस्थान जैसे राज्य शामिल हैं। हालांकि, रविवार के बाद न्यूनतम तापमान अचानक घटेगा और यह गिरावट करीब 3 से 5 डिग्री सेल्सियस के बीच हो सकती है। बताया गया है कि अधिकतम तापमान भी 28 दिसंबर तक 3 से 5 डिग्री तक गिर जाएगा।

आईएमडी ने अपनी एडवायजरी करते हुए कहा, “लोगों को अपनी त्वचा की नमी का ख्याल रखते हुए इशे तेल या क्रीम से लगातार मॉश्चराइज करते रहना चाहिए। साथ ही विटामिन सी से भरपूर फल और सब्जियां खाना जरूरी है। इसके अलावा पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ, खासकर गर्म पेय प्रतिरोधक क्षमता संतुलित रखने के लिए अहम हैं। हालांकि, लोगों को शराब नहीं पीनी चाहिए, क्योंकि इससे शरीर का तापमान गिरता है।”

बताया गया है कि जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में पश्चिमी विक्षोभ के कारण रविवार और सोमवार तक बर्फबारी हो सकती है। इस पश्चिमी विक्षोभ के खत्म होने के बाद पश्चिमी हिमालय से बहने वाली ठंडी उत्तर-पश्चिमी हवाएं दिल्ली, पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ में भयानक ठंड का माहौल बनाएंगी।

गौरतलब है कि शीतलहर की स्थिति तब मानी जाती है, जब न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस या इससे नीचे आ जाए और सामान्य तापमान से कम से कम 4.5 डिग्री की गिरावट आए। भीषण शीतलहर में सामान्य तापमान में गिरावट 6.5 डिग्री सेल्सियस या इससे ज्यादा हो सकती है। दिल्ली में इस महीने अब तक पांच भीषण शीतलहर वाले दिन हो चुके हैं।

Next Stories
1 डीडीसी चुनावों ने दिखाया, देश में लोकतंत्र मजबूत: प्रधानमंत्री; जम्मू-कश्मीर में आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना सेहत की शुरुआत
2 जाड़े के मौसम में बच्चों की देखभाल न रूठे सेहत न भीगे बचपन
3 शख्सियत: उर्दू शायरी के सिरमौर मिर्जा गालिब
ये पढ़ा क्या?
X