ताज़ा खबर
 

World Bank की रैंकिंग में 3 साल में 158 पायदान की तरक्की, कारोबारियों के लिए सहज देशों में 27वें नंबर पर भारत

पीसी के दौरान सरकार की ओर से State Business Reform Action Plan 2019 Ranking भी जारी की गई। इसमें आंध्र प्रदेश राज्यों और संघ शासित प्रदेशों की कारोबार सुगमता रैंकिंग में पहले स्थान पर कायम है।

Author Edited By अभिषेक गुप्ता नई दिल्ली | Updated: September 5, 2020 5:34 PM
World Bank's Doing Business Report, World Bank, Doing Business Reportप्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (स्क्रीन में), केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी व अन्य। (फोटोः पीटीआई)

World Bank की Doing Business Report में तीन साल में भारत ने 158 पायदान की तरक्की की है। देश इसी के साथ कारोबारियों के लिए सहज देशों में 27वें नंबर पर आ गया है। यह जानकारी शनिवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने दी।

पुरी ने कहा- कोरोना वायरस ने सभी देशों को प्रभावित किया है। पीएम मोदी ने आत्मनिर्भर भारत के लिए #AatmaNirbharBharat का आह्वान किया, जिससे कि देश मजबूत होता और वैश्विक स्तर पर अहम भूमिका निभा सकेगा।

उनके मुताबिक, कंस्ट्रक्शन परमिट्स और ऑनलाइन बिजनेस परमिशन सिस्टम में Ease of Doing Business करीब 2,057 शहरों में लागू किया गया। इसमें 444 AMRUT(Atal Mission for Rejuvenation & Urban Transformation) टाउन भी हैं। इससे हमें World Bank’s Doing Business Report में 158 स्पॉट्स का उछाल मिला। हम 2017 में 185वें पायदान पर थे, जबकि 2020 में हम 27वीं रैंक पर हैं।”

इसी बीच, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पिछले पांच सालों में भारत ने महत्वपूर्ण विकास किया है। पीएम के दूरदर्शी और गतिशील नेतृत्व की वजह से हमारी ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंक में सुधार आया है।

गोयल ने आगे कहा- वाणिज्य और उद्योग मंत्री #OneProductOneDistrict कार्यक्रम में राज्यों के साथ काम कर रहे हैं। हम जल्द ही एक ऐसे कार्यक्रम का अनावरण करेंगे, जहां देश का प्रत्येक जिला उत्कृष्टता के अपने स्वयं के उत्पादों के दम पर अपनी ऊर्जाओं को केंद्रित कर रहा होगा।

पीसी के दौरान सरकार की ओर से State Business Reform Action Plan 2019 Ranking भी जारी की गई। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इसे रिलीज किया, इसमें आंध्र प्रदेश राज्यों और संघ शासित प्रदेशों की कारोबार सुगमता रैंकिंग में पहले स्थान पर कायम है, जबकि उत्तर प्रदेश दूसरे और तेलंगाना तीसरे स्थान पर हैं।

यह रैंकिंग कारोबार सुधार कार्रवाई योजना के आधार पर दी गई है, जिसे उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्द्धन विभाग (डीपीआईआईटी) ने तैयार किया है। रिपोर्ट जारी करते हुए सीतारमण ने कहा कि यह रैंकिंग राज्यों और संघ शासित प्रदेशों कारोबार करने की दृष्टि से बेहतर स्थान बनाती है।

राज्यों को रैंकिंग कई मानकों मसलन निर्माण परमिट, श्रम नियमन, पर्यावरण पंजीकरण, सूचना तक पहुंच, जमीन की उपलब्धता तथा एकल खिड़की प्रणाली के आधार पर दी जाती है।

कारोबार सुधार कार्रवाई योजना के तहत उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्द्धन विभाग सभी राज्यों और संघ शासित प्रदेशों के लिए इस प्रकिया को पूरा करता है। पिछली रैंकिंग जुलाई, 2018 में जारी हुई थी। उस समय आंध्र प्रदेश पहले स्थान पर रहा था। उसके बाद क्रमश: तेलंगाना और हरियाणा का स्थान रहा था। (भाषा इनपुट्स के साथ)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 भारत-चीन रिश्तों में तल्खी के बीच भारतीय जवानों ने की चीनी नागरिकों की मदद, सिक्किम में भटके लोगों को दवा, ऑक्सीजन दिए; राह भी दिखाई
2 बिना डॉक्टरी पर्चे के भी होगा COVID-19 Test, हेल्थ मिनिस्ट्री ने एडवाजरी में किया बदलाव, जानें- नई गाइलडाइंस
3 ‘खुलासा करने से क्यों रोकते हो, बोलने दो, पुलिस सुरक्षा भी दो’, कंगना रनौत के बचाव में उतरे हरियाणा के मंत्री अनिल विज
यह पढ़ा क्या?
X