ताज़ा खबर
 

मिलिट्री पर खर्च करने में चौथे नंबर पर भारत, रूस, सऊदी अरब को पीछे छोड़ा, तीसरे नंबर पर आना है तो…

रक्षा संबंधी समान या मिलिट्री पर खर्च करने में भारत चौथे नंबर पर है। उससे आगे अमेरिका, चीन और यूके हैं।

गणतंत्र दिवस के दौरान ली गई तस्वीर। Express photo by Ravi Kanojia

रक्षा संबंधी समान या मिलिट्री पर खर्च करने में भारत चौथे नंबर पर है। उससे आगे अमेरिका, चीन और यूके हैं। लेकिन जिस रफ्तार से भारत खर्च कर रहा है उससे वह आने वाले वक्त में तीसरे नंबर पर आ सकता है। वैश्विक रक्षा का व्यय इस साल 1.57 ट्रिलियन डॉलर रहा। जो कि 2015 में 1.55 ट्रिलियन डॉलर था। माना जा रहा है कि इसकी वजह साउथ एशिया सागर में विवाद का बढ़ना है। ब्लूमबर्ग की खबर के मुताबिक, चीन के डिफेंस का बजट 2020 तक 233 बिलियन डॉलर हो जाएगा जो कि उनके 2013 के बजट का दोगुना होगा। 2013 में उनका बजट 123 बिलियन डॉलर रहा। इसके अलावा यूके जो कि फिलहाल तीसरे नंबर पर है वह वेस्टर्न यूरोप के देशों से ज्यादा अकेले अपने रक्षा बजट पर खर्च करता है। वहीं चौथे नंबर पर आने के लिए भारत ने सऊदी अरब और रूस को पीछे छोड़ दिया है। अगर पाउंड की कीमत इसी ढंग से गिरती रही तो 2018 तक भारत यूके को पछाड़कर तीसरे नंबर पर आ जाएगा।

वहीं यूरोपियन मेंबर ने भी अपने रक्षा बजट में साल 2016 में इजाफा किया। अब उनका बजट 219 बिलियन डॉलर हो चुका है। रूस ने 1990 के बाद पहली बार अपने रक्षा बजट में कटौती की। इस साल उनका रक्षा बजट पर कुल खर्च 48 बिलियन डॉलर रहा। वहीं 622 बिलियन डॉलर के साथ अमेरिका इस लिस्ट में 2016 में भी सबसे टॉप पर है। पूरी दुनिया के रक्षा बजट का 40 प्रतिशत हिस्सा उसका होता है।

इस लिस्ट को IHS Jane’s latest annual Defense Budgets report ने जारी किया है। इस लिस्ट से यह साफ होता है कि अमेरिका में राष्ट्रपति पद का चुनाव जीते डोनाल्ड ट्रंप के अलावा बाकी देश भी आने वाले वक्त में रक्षा सौदों पर भारी कीमत खर्च करेंगे। इसमें चीन, यूरोप और भारत सभी शामिल हैं।

इस वक्त की ताजा खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

वीडियो: पूर्व RBI गवर्नर बिमल जालान ने नोटबंदी पर खड़े किए सवाल; कहा- “अब क्यों…फैसले को सीक्रेट रखने से क्या मदद मिली?”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App