ताज़ा खबर
 

अमेरिकी Predator Drones खरीदने की कोशिश में भारत, पाकिस्‍तान और चीन से निपटने में मिलेगी मदद

सेना से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि अमेरिका भारत को इस क्षेत्र में चीन के तोड़ के रूप में देखता है।

Author नई दिल्ली | Published on: April 8, 2016 9:57 PM
शेरीन मैथ्यूज गत सात अक्टूबर को लापता हो गई थी।

भारत अमेरिका से 40 प्रिडेटर सर्विलांस ड्रोन्स खरीदने की तैयारी कर रहा है। इस डील के लिए अमेरिका और भारतीय अधिकारियों के बीच वार्तालाप जारी है। भारत अपनी सेना को मानव-रहित तकनीक से लैस करने में लगा हुआ है। इस तकनीक का सहारा पाकिस्तान और चीन से लगती सीमा पर निगरानी के लिए किया जाएगा। इसके साथ ही भारत हिंद महासागर पर भी इस तकनीक के जरिए नजर रखना चाहता है। भारत ने कश्मीर के पर्वतों पर निगरानी करने के लिए पहले ही इजराइल से सर्विलांस ड्रोन्स खरीदे थे।

सेना से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि अमेरिका भारत को इस क्षेत्र में चीन के तोड़ के रूप में देखता है। भारत-अमेरिकी रक्षा संबंधों में मजबूती आने के बाद भारत ने अमेरिका से जनरल ऑटोमिक्स द्वारा बनाए जाने वाले मानव-रहित प्लेन प्रिडेटर की सीरिज के लिए बात की है। जनरल ऑटोमिक्स के चीफ एग्जीक्यूटिव(यूएस) विवेक लाल ने बताया कि हम भारतीय नेवी की प्रिडेटर में दिलचस्पी के बारे में जानते थे। हालांकि, यह सरकारों के संबंधों पर निर्भर करता है।

गौरतलब है कि पिछले साल यूएस सरकार ने जनरल ऑटोमिक्स के उस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी थी, जिसमें भारत को प्रिडेटर एक्सपी बेचे जाने थें। हालांकि, अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ कि उन ड्रोन्स की डिलिवरी कब होगी। भारतीय नेवी ये ड्रोन्स हिंद महासागर पर निगरानी रखने के लिए चाहती है। उधर चीनी नौसेना इस क्षेत्र में अपनी जहाजों और पनडूब्बियों की क्षमता बढ़ा रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories