ताज़ा खबर
 

भारत की 5 सर्जिकल स्ट्राइक: जब पाकिस्तानी सेना को मिले पर्चे पर लिखा था- अपना खून बहने पर कैसा लगता है?

कैप्टन सौरभ कालिया और पांच अन्य भारतीय जवानों का शव जून, 1999 में कारगिल में मिला था।

Indian Army, Cross LoC Surgical Strike, Pakistan Territory, Political Parties in India, Politicians Praises Surgical Strike by Indian Army, POK, Uri Attack, Terror Launching Padsपीओके में सीजफायर की जांच करेगा संयुक्त राष्ट्र (File Photo)

उरी हमले के बाद भारतीय सेना ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में सर्जिकल स्ट्राइक करके कई आतंकी ठिकानों को नष्ट कर दिया। भारत के डायरेक्टर जनरल ऑफ मिलिट्री ऑपरेशन लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने बताया कि इस सर्जिकल स्ट्राइक में कई आतंकी और उनके मददगार मारे गए। लेकिन ऐसा शायद पहली बार हुआ कि भारत सरकार ने किसी सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में सार्वजनिक रूप से सूचना दी। आम तौर पर ऐसी कार्रवाइयां सार्वजनिक नहीं की जातीं। भारत के पूर्व गृह मंत्री पी चिंदबरम  ने हाल ही में लिखे एक लेख में भी कहा था कि भारत “रणनीतिक संयम” के कारण ऐसी जानकारियां सार्वजनिक नहीं करता था। चिंदबरम ने बताया था कि भारत ने साल 2013 में भी एक बड़ी सर्जिकल स्ट्राइक की थी। वहीं कांग्रेसी नेता संदीप दीक्षित ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को लिखे एक खुल खत में पिछले कई दशकों में की गई कई सर्जिकल स्ट्राइकों की ओर संकेत किया था। आइए एक नजर डालते हैं पिछले 20 सालों में भारत द्वारा की गई पांच सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में। हालांकि सेना ने कभी आधिकारिक तौर पर इनकी पुष्टि नहीं की है।

वीडियो: राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने आईएसआईएस के संदिग्ध आतंकियों को पकड़ा-

1- मार्च 1998- एओसी के पार कार्रवाई

भारतीय स्पेशल फोर्सेज ने कथित तौर पर चंब सेक्टर के बंदाला गांव में 22 लोगों को मार गिराया। खबरों के अनुसार पाकिस्तानी सेना को हाथ से लिखा एक नोट मिला था जिसमें लिखा था, “अपना खून बहने पर कैसा लगता है?” माना जाता है कि भारतीय सेना ने ये कार्रवाई जम्मू-कश्मीर में 29 हिंदू ग्रामीणों की लश्कर-ए-तैयबा द्वारा हत्या का बदला लेने के लिए की थी।

स्वर्गीय कैप्टन सौरभ कालिया 23 वर्षीय कैप्टन सौरभ कालिया और पांच अन्य भारतीय सैनिकों के शव जून 1999 में मिले थे। उनके शवों पर टॉर्चर के निशान पाए गए थे।

2- नीलम नदी पार करके छह शहीदों का बदला

पाकिस्तानी सेना द्वारा कैप्टन सौरभ कालिया और सिपाही भंवर लाल बगारिया, अर्जुन राम, भीका राम, मूला राम और नरेश सिंह के अपहरण और हत्या के बाद स्पेशल फोर्सेज ने नदाला एनक्लेव में हमला करके सात पाकिस्तानी सैनिकों को मार गिराया था।

3- 24 फरवरी 2000, एलओसी के पार कार्रवाई

पाकिस्तानी सेना द्वारा पुंछ सेक्टर की एक चौकी पर हमला करने के बाद खबर आई कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में 16 शव मिले हैं। पाकिस्तानी सेना ने दावा किया है कि ये काम भारतीय स्पेशल फोर्सेज का है। खबरों के अनुसार इस बार भी हाथ से लिखा नोट मिला था, “अपना खून बहने पर कैसा लगता है?”

4- जून 2008, सिर काटना

भारत के पुंछ सेक्टर में क्रांति सीमा की एक चौकी पर पाकिस्तानी हमले में कई गोरखा जवान शहीद हो गए। उसके बाद पाकिस्तानी सेना ने दावा किया कि पुंछ सेक्टर में उनके एक सैनिक का सर कटा हुआ मिला।

5- 2013 में सिर काटने की घटना

पाकिस्तानी सेना ने दावा किया शारदा सेक्टर में नीलम नदी पार करके भारतीय जवानों ने उसके तीन सैनिकों का सिर काट दिया। माना गया कि दो भारतीय जवानों के सिर काटने का बदला लेने के लिए ये कार्रवाई की गई थी।

Read Also: पी चिदंबरम ने कहा- 2013 में भी सेना ने की थी सर्जिकल स्‍ट्राइक, लेकिन कांग्रेस सरकार ने नहीं किया था प्रचार

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Breaking: PDP के विधायक के घर पर ग्रेनेड से हमला
2 संदिग्ध ने IS चीफ बगदादी से संबंधों के बारे में कबूला, बताया- हमारे निशाने पर थे RSS के नेता और हाईकोर्ट के जज
3 पीएम नरेंद्र मोदी की कैबिनेट सुरक्षा समिति की बैठक खत्म
ये पढ़ा क्या...
X