ताज़ा खबर
 

लद्दाख में LAC पर फिर आमने-सामने भारत-चीन की सेना

भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पास हाल ही में टकराव की स्थिति पैदा हो गई थी। टकराव की यह स्थिति उसी इलाके..

लेह/नई दिल्ली | Updated: September 13, 2015 2:58 PM
लद्दाख (गूगल मैप)

भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पास हाल ही में टकराव की स्थिति पैदा हो गई थी। टकराव की यह स्थिति उसी इलाके में पैदा हुई थी जहां पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने अप्रैल 2013 में कैंप लगाए थे और जिसकी वजह से तीन हफ्ते तक गतिरोध की स्थिति बनी हुई थी।

इस घटना से वाकिफ अधिकारियों के मुताबिक, चीनी सेना ने लद्दाख के उत्तर में स्थित बुर्त्से में अस्थायी कुटिया बनाई थी जिसे शुक्रवार को भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) और थलसेना के जवानों ने तोड़ दिया।

बताया जाता है कि चीन की नजर इस इलाके पर है। यह इलाका काराकोरम राजमार्ग की निगरानी में भारत को लाभ पहुंचाता है। काराकोरम राजमार्ग चीन द्वारा अवैध कब्जे में लिए गए क्षेत्र को पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से जोड़ता है।

इसके अलावा, दौलत बेग ओल्डी में एक अडवांस्ड ग्राउंड लैंडिंग (एजीएल) सुविधा है जिसे अगस्त 2013 में चालू किया गया था। भारतीय वायुसेना ने समुद्र तट से 16614 फुट की ऊंचाई पर स्थित इस हवाई पट्टी पर एक सी-130जे सुपर हरक्यूलीज परिवहन विमान को उतारने में सफलता पाई थी।

कुटिया बनाए जाने की सूचना आईटीबीपी के जवानों को मिलते ही इस अर्धसैनिक बल और थलसेना का एक संयुक्त गश्ती दल इलाके में भेजा गया और कुटिया को तोड़ डाला गया।

सूत्रों ने बताया कि फ्लैग मीटिंग की कोशिशें सफल नहीं हो सकीं क्योंकि चीनी पक्ष फ्लैग मीटिंग के लिए तय की गई तारीख पर नहीं आया। उन्होंने बताया कि पीएलए के सैनिकों ने भारतीय सैनिकों को पीछे धकेलने की कोशिश की थी जिसे नाकाम कर दिया गया।

अधिकारियों ने बताया कि भारतीय सैनिकों ने चीनी भाषा में लिखे बैनर दिखाकर पीएलए को अपनी सीमा में वापस जाने को कहा। भारत और चीन 4,000 किलोमीटर से ज्यादा लंबी एलएसी साझा करते हैं। चीन अरुणाचल प्रदेश के करीब 90,000 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र पर अपना दावा जताता है। वह जम्मू-कश्मीर के 38,000 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र पर भी अपना दावा जताता है। दिल्ली में रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों ने इस वाकये पर टिप्पणी से इनकार कर दिया।

Next Stories
1 भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा पर मोर्टार गोलाबारी रोकने पर सहमत
2 ट्वॉय ट्रेन हादसे में दो ब्रितानी पर्यटकों की मौत
3 मुसलिम वोटों के भरोसे बिहार में जोर आजमाएंगे असदुद्दीन ओवैसी
ये पढ़ा क्या?
X