ताज़ा खबर
 

जब अटल बिहारी वाजपेयी ने चीनी दूतावास में घुसा दी थीं 800 भेड़ें, हैरान रह गया था ड्रैगन

अटल बिहारी वाजपेयी करीब 800 भेड़ों के साथ दिल्ली स्थित चीनी दूतावास पहुंच गए थे। भेड़ों के गले में प्लेकार्ड टंगे हुए थे, जिनमें लिखा था कि "मुझे खा लें लेकिन दुनिया को बचा लें।"

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा 1965 में किए गए विरोध प्रदर्शन से चीन बौखला गया था। (एक्सप्रेस आर्काइव)

भारत चीन के बीच सीमा विवाद बरसों पुराना है। दोनों देश 1962 में एक युद्ध भी लड़ चुके हैं। जिसमें भारत को हार का सामना करना पड़ा था। इस युद्ध में जीत से उत्साहित चीन ने 1965 में एक बार फिर भारत के साथ सीमा पर तनाव पैदा करने की कोशिश की। लेकिन तब पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने चीन को ऐसा जवाब दिया था, जिससे चीन बुरी तरह से बौखला गया था। दरअसल अटल बिहारी वाजपेयी उस वक्त जनसंघ के सांसद थे। चीन ने भारतीय सैनिकों पर उसके भेड़ और याक चोरी करने का आरोप लगाया और सीमा पर तनाव बढ़ाना शुरू कर दिया।

चीन के इस आरोप पर अटल बिहारी वाजपेयी करीब 800 भेड़ों के साथ दिल्ली स्थित चीनी दूतावास पहुंच गए थे। भेड़ों के गले में प्लेकार्ड टंगे हुए थे, जिनमें लिखा था कि “मुझे खा लें लेकिन दुनिया को बचा लें।” अटल बिहारी वाजपेयी के इस कदम से चीन इस कदर बौखला गया था कि उसने तत्कालीन लाल बहादुर शास्त्री सरकार को चिट्ठी लिखकर इसके प्रति नाराजगी जाहिर की थी।

चीन ने चिट्ठी में लिखा था कि यह उसका अपमान है और आरोप लगाया था कि इस विरोध प्रदर्शन को लाल बहादुर शास्त्री सरकार का समर्थन प्राप्त है। इसके जवाब में तत्कालीन भारत सरकार ने भी कड़ा जवाब देते हुए लिखा था कि “कुछ नागरिकों ने दिल्ली में विरोध प्रदर्शन किया है लेकिन इसका सरकार से कोई लेना देना नहीं है। यह लोगों का चीन के खिलाफ त्वरित, शांतिपूर्ण और व्यंग्यात्मक प्रदर्शन था।”

चीन ने इस दौरान भारत पर तिब्बत के कुछ नागरिकों के अपहरण करने का भी आरोप लगाया था। इसके जवाब में भारत ने कहा था कि तिब्बती नागरिक अपनी मर्जी से भारत शरणार्थी के तौर पर आए हैं और इसमें हमारी मंजूरी नहीं ली गई है और वह किसी भी समय तिब्बत वापस जाने के लिए आजाद हैं।

Next Stories
1 मध्य प्रदेश: ”भैंस का दूध पीकर मैं पुलिस की भर्ती में पास हुआ, अब भैंस को मेरी जरूरत है”, लिखकर पुलिसकर्मी ने मांगी छुट्टी
2 अस्पताल में इलाज के दौरान महिला को पता चला वह पुरुष है, 30 साल तक जी सामान्य जिंदगी
3 Corona Virus: कोरोना पर पीएम मोदी ने की योगी की सराहना, कहा- यूरोप के ये 4 देश भी मिलकर पीछे
ये पढ़ा क्या?
X