ताज़ा खबर
 

शांति वार्ता के बीच चीनी सेना सीमा पर कर रही युद्धाभ्यास! हजारों की तादाद में सैनिक, हथियार भारतीय बॉर्डर पहुंचाए गए

सिविल एयरलाइंस, लॉजिस्टिक ट्रांसपोर्ट, रेलवे आदि की मदद से हजारों की संख्या में चीनी सैनिकों को हुबेई प्रांत से सीमा पर भेजा गया है। हुबेई प्रांत चीन के मध्य में स्थित है और वहां से हजारों किलोमीटर की दूरी तय कर सैनिकों को सीमा पर भेजा गया है।

india china tensionचीनी सेना द्वारा बड़ी संख्या में अपने सैनिकों को बॉर्डर पर भेजा जा रहा है। (इमेज सोर्स ट्विटर)

भारत चीन सीमा पर जारी तनाव को लेकर शनिवार को दोनों देशों के बीच कमांडर स्तर की मीटिंग हुई। इसके बाद भारतीय विदेश मंत्रालय ने अपने एक बयान में कहा था कि दोनों देश शांतिपूर्वक विवाद सुलझाने पर सहमत है। हालांकि शांति वार्ता के बीच खबर आ रही हैं कि चीनी सेना बॉर्डर पर एक बहुत बड़ा युद्धाभ्यास कर रही है, जिसमें हजारों की तादाद में सैनिक भाग ले रहे हैं। बताया जा रहा है कि भारत के साथ तनाव को देखते हुए चीनी सेना युद्धाभ्यास के जरिए अपनी तैयारियां परख रही है।

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स और चाइना सेंट्रल टीवी ने यह जानकारी दी है। हालांकि चीनी न्यूज चैनल्स की तरफ से इस बात की जानकारी नहीं दी गई है कि सैनिकों और बड़ी संख्या में हथियारों को सीमा पर किस जगह ले जाया गया है लेकिन कहा गया है कि यह युद्धाभ्यास भारत को संकेत देने के लिए काफी है।

बता दें कि सिविल एयरलाइंस, लॉजिस्टिक ट्रांसपोर्ट, रेलवे आदि की मदद से हजारों की संख्या में सैनिकों को हुबेई प्रांत से सीमा पर भेजा गया है। हुबेई प्रांत चीन के मध्य में स्थित है और वहां से हजारों किलोमीटर की दूरी तय कर सैनिकों को सीमा पर भेजा गया है।

चीनी न्यूज चैनल्स की रिपोर्ट के अनुसार, सैनिकों के साथ ही भारी संख्या में हथियार, तोप और सप्लाई का सामान भेजा गया है। बता दें कि शनिवार को भारत और चीन के बीच लद्दाख के चुसुल-मोल्डो बॉर्डर पर मीटिंग हुई थी। इस मीटिंग में दोनों देशों के बीच सीमा पर जारी तनाव को बातचीत के जरिए सुलझाने पर सहमति बनी थी। भारत की तरफ से इस मीटिंग में सेना की 14 कॉर्प्स के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह शामिल हुए। वहीं चीन की तरफ से उसकी वेस्टर्न थिएटर कमांड के मेजर जनरल लिउ लिन शामिल हुए थे।

इस मीटिग के अगले दिन यानि कि रविवार को भारतीय विदेश मंत्रालय ने बयान जारी किया था कि दोनों देश सीमा विवाद के हल के लिए मिलिट्री और डिप्लोमैटिक तरीके से बातचीत पर सहमत हुए हैं। भारत की मांग है कि सीमा पर यथास्थिति बहाल की जाए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कोरोना, अनलॉक के बीच पेट्रोल, डीजल की कीमतों में लगातार दूसरे दिन इजाफा, जानिए अपने शहर में तेल के दाम
2 कोरोना काल में ढाल हैं आशा कार्यकर्ता! साढ़े 4 हजार पगार में रोजोना 14 घंटे का काम, घर-घर जा लेती हैं अपडेट, पर खुद के लिए नहीं है वक्त
3 कोरोना, लॉकडाउन की मार के बाद MGNREGS की 181% बढ़ी डिमांड! युवा भी जमकर मांग रहे काम; 31.1% लोग 31-40 आयुवर्ग के
ये पढ़ा क्या?
X