ताज़ा खबर
 

डोकलाम विवाद: भारत के दावे को चीन ने नकारा, कहा- हम करते रहेंगे डोकलाम में पेट्रोलिंग

India China Doklam Standoff Issue: भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा था कि डोकलाम से चीन भी अपने सैनिक हटाने को तैयार हो गया है।

चीन ने सोमवार को कहा कि भारत ने डोकलाम से अपनी सेनाएं हटा दी हैं लेकिन चीन की सेनाएं क्षेत्र में बनी रहेंगी और क्षेत्र में अपनी संप्रभुता कायम रखेंगी। चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा कि चीन के सीमाबल ‘डोंगलोंग में गश्त जारी रखेंगे।’ डोंगलोंग को भारत डोकलाम कहता है। चीन के विदेश मंत्रालय की प्रक्ता हु चुनयिंग ने कहा, “28 अगस्त की दोपहर भारत ने डोकलाम की सीमा से अपनी सेनाएं और उपकरण हटा दिए। चीन के सुरक्षाकर्मियों ने इसकी पुष्टि की है।” चुनयिंग ने कहा, “चीन ऐतिहासिक समझौते के आधार पर अपनी संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता को बनाए रखेगा।” यह पूछे जाने पर कि क्या दोनों ओर से सेनाओं को हटाया गया है, हुआ ने समान बयान को दोहराया। चीन के विदेश मंत्रालय का यह बयान भारत द्वारा सोमवार को जारी उस बयान से बिल्कुल अलग है, जिसमें कहा गया था कि दोनों देशों के बीच डोकलाम से सेनाएं हटाने पर सहमति बनी है। डोकलाम में भारत और चीन के बीच बीते जून से ही गतिरोध बना हुआ है। भारत के विदेश मंत्रालय ने जारी बयान में कहा था, “हम अपने विचारों को व्यक्त कर सके एवं अपनी चिंताओं और हितों को साझा कर पाए ।” भारतीय बयान के मुताबिक, “इस आधार पर डोकलाम पर सेनाओं को हटाने पर सहमति बनी है, जो जारी है।”

 

आपको बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने 21 अगस्‍त को कहा था कि भारत और चीन के बीच डोकलाम सीमा विवाद को ‘बेहद जल्द’ सुलझा लिया जाएगा। सिंह ने कहा, “भारत अपने सभी पड़ोसी देशों के साथ अच्छे रिश्ते कायम रखना चाहता है। डोकलाम विवाद का जल्द ही समाधान निकल जाएगा और चीन भी अपनी ओर से सकारात्मक कदम उठाएगा।” चीनी जवानों द्वारा वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) को पार करने की कोशिश पर भारतीय व चीनी सैनिकों के बीच 15 अगस्त को झड़प हुई थी।यह अपनी तरह की पहली झड़प थी। इसमें चीनी सैनिकों ने पत्थरबाजी की और भारतीय जवानों ने भी इसका जवाब दिया। इसमें दोनों तरफ के जवान घायल हुए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App