ताज़ा खबर
 

NCP ने गलवान पर दिखाया कांग्रेस को आईना, पवार बोले- चीन ने 1962 बाद भारत के 45,000 वर्ग Km क्षेत्र कब्जाया

चीन की तरफ से सीमा पर स्थायी इंतजाम किए जाने के बाद अब भारत ने भी उससे लंबे टकराव की तैयारी कर ली है।

Edited By सूर्य प्रकाश नई दिल्ली | Updated: Jun 28, 2020 7:10:38 am
चीनी सेना ने पैंगोग त्सो के फिंगर4 इलाके में अपनी स्थिति मजबूत कर ली है।

चीन के साथ गतिरोध को लेकर कांग्रेस और भाजपा के बीच आरोप प्रत्यारोप के बीच पूर्व रक्षा मंत्री एवं राकांपा प्रमुख शरद पवार ने शनिवार को कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मामलों का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए। साथ ही, उन्होंने यह भी कहा कि यह कोई नहीं भूल सकता कि चीन ने 1962 के युद्ध के बाद भारत के लगभग 45,000 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र पर कब्जा कर लिया। पवार की टिप्पणी कांग्रेस नेता राहुल गांधी के उस आरोप पर आई है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन की आक्रामकता के चलते भारतीय क्षेत्र उसे सौंप दिया। राकांपा नेता ने कहा कि लद्दाख में गलवान घाटी की घटना को रक्षा मंत्री की नाकामी बताने में जल्दबाजी नहीं की जा सकती क्योंकि गश्त के दौरान भारतीय सैनिक चौकन्ने थे। पत्रकारों से बातचीत में पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह पूरा प्रकरण ‘‘संवेदनशील’’ प्रकृति का है। गलवान घाटी में चीन ने उकसावे वाला रुख अपनाया।

इससे पहले, भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने शनिवार को चीन और राजीव गांधी फाउंडेशन के कथित संबंधों को लेकर कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी से 10 सवाल पूछे। नड्डा ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘चीन और कोरोना वायरस संकट की आड़ में उन सवालों से नहीं बचना चाहिए जिनका जवाब देश जानना चाहता है।’’ पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन के साथ जारी गतिरोध के बीच नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश पूरी तरह सुरक्षित है। उन्होंने कहा ‘‘ सशस्त्र बल भारत की रक्षा करने, देश को सुरक्षित रखने में पूरी तरह सक्षम हैं।’’ नड्डा ने आरोप लगाया कि सोनिया गांधी की अध्यक्षता वाले राजीव गांधी फाउंडेशन को 2005 से 2006 के बीच लगातार अनुदान राशि मिली। इसके अलावा ‘‘टैक्स हैवेन’’ कहे जाने वाले देश लक्जेमबर्ग से 2006 से 2009 के बीच तथा व्यवसायिक हितों वाले गैर सरकारी संगठनों से भी इस फाउंडेशन को अनुदान राशि मिली है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय हितों को ‘‘तिलांजली’’ दे दी गई और एक परिवार द्वारा संचालित फाउंडेशन ने अनुदान राशि स्वीकार की।

वहीं, अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) रॉबर्ट ओ ब्रायन ने आरोप लगाया है कि चीन अपनी बातें मनवाने के लिए प्रोपेगंडा और प्रभाव संबंधी अभियानों के अलावा व्यापार का भी इस्तेमाल करता है। ट्रंप प्रशासन के इस शीर्ष अधिकारी ने एरिजोना के फीनिक्स में लोगों के एक समूह को संबोधित करते हुए कहा कि अपनी सीमा के पार बाहर रह रहे लोगों के दिमाग को काबू में लाने की चीन की कोशिश चल रही है। व्हाइट हाऊस द्वारा शुक्रवार को जारी किये गये इस संबोधन के मजमून के अनुसार ओ ब्रायन ने कहा, ‘‘प्रोपेगंडा और प्रभाव संबंधी अभियानों के अलावा चीन की कम्युनिस्ट पार्टी अपनी बातें मनवाने के लिए व्यापार का भी इस्तेमाल करती है।’’ उन्होंने आरोप लगाया कि जब आस्ट्रेलिया ने कोरोना वायरस के मूल स्थान और प्रसार की स्वतंत्र जांच की मांग की तो चीन की कम्युनिस्ट पार्टी ने आस्ट्रेलियाई कृषि उपजों की खरीद बंद करने और चीनी विद्यार्थियों और पर्यटकों को पर्यटन पर आस्ट्रेलिया जाने से रोकने की धमकी दी।

Live Blog

Highlights

    06:22 (IST)28 Jun 2020
    चीन पर आर्थिक हमले करेंगे: चौधरी

    स्वदेशी जागरण मंच के दिल्ली इकाई के सह संयोजक विकास चौधरी ने कहा, ‘‘ हम चीन पर आर्थिक हमले करके उसे एहसास दिलाना चाहते हैं कि हमारे जवानों की हत्या करने और साथ में सामान बेचकर यहां धन कमाने के लिए भारतीय उन्हें बख्शेंगे नहीं।’’ दुकानदार, व्यापार मंडल के सदस्य और युवा मोर्चा के अध्यक्ष सुंदर चौधरी समेत अन्य ने इस विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया। 15 जून को लद्दाख के गलवान घाटी में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीनी सैनिकों के साथ ंिहसक झड़प में एक अधिकारी समेत देश के 20 सैनिक शहीद हो गए।

    05:21 (IST)28 Jun 2020
    पूर्वी दिल्ली में स्वदेशी जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने जलाया चीनी सामान 

    पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों की शहादत को याद करते हुए चीन के विरोध में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) से संबद्ध स्वदेशी जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने शनिवार को पूर्वी दिल्ली के लक्ष्मी नगर में चीन में बने सामान की होली जलायी। मंच के दिल्ली इकाई के सह संयोजक विकास चौधरी ने कहा, ‘‘ यह विरोध प्रदर्शन शहीदों को सांकेतिक तौर पर सम्मान देना है और हम लोगों से अपील करते हैं कि वे चीन में निर्मित वस्तुओं का बहिष्कार करें।’’

    03:39 (IST)28 Jun 2020
    अन्य राज्यों के लोगों को जारी जम्मू-कश्मीर के निवास प्रमाणपत्र को पाक ने किया खारिज

    पाकिस्तान ने भारत द्वारा अन्य राज्यों के लोगों को दिए गए जम्मू-कश्मीर के निवास प्रमाणपत्र को शनिवार को ‘‘खारिज’’ कर दिया। नए निवास कानून के अनुसार, दूसरे राज्यों से आए ऐसे लोग निवास प्रमाणपत्र पाने के योग्य है, जिनके पास जम्मू-कश्मीर में रहने का कम से कम 15 साल का प्रमाण हो। नया कानून आने के बाद से करीब 30 हजार लोग केन्द्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर का निवास प्रमाणपत्र प्राप्त कर चुके हैं। पाकिस्तान के विदेश विभाग ने भारत द्वारा अन्य राज्यों के लोगों को दिए गए निवास प्रमाणपत्र को ‘‘खारिज’’ कर दिया।

    21:07 (IST)27 Jun 2020
    तेलंगाना पुलिस महाविद्यालय चीनी सामान पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय के प्रशिक्षुओं ने चीनी सामान और एप का किया बहिष्कार

    देश में चीनी सामान और विभिन्न एप पर प्रतिबंध लगाए जाने की मांग के बीच तेलंगाना के करीमनगर में एक पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय ने अपने प्रशिक्षुओं को चीनी उत्पादों और चीन द्वारा विकसित मोबाइल एप का इस्तेमाल न करने का सुझाव दिया है। यह महाविद्यालय सीधे भर्ती हुए कांस्टेबलों और हेड कांस्टेबलों तथा पदोन्नति के बाद सहायक उपनिरीक्षक बने पुलिसकर्मियों को प्रशिक्षण देता है। महाविद्याय के प्रभारी प्राचार्य जी चंद्रमोहन ने कहा कि चीनी वस्तुओं और एप को दूर रखने का कोई आधिकारिक आदेश तो नहीं है लेकिन प्रशिक्षु हाल ही में चीन के सैनिकों के साथ झड़प में कर्नल सतीश बाबू समेत कई भारतीय सैनिकों के शहीद होने के बाद इन वस्तुओं का बहिष्कार कर रहे हैं। इस महाविद्यालय के प्रवेश द्वार पर एक बैनर भी लगा दिया गया है जिसपर लिखा है, ‘‘इस महाविद्यालय में चीनी एप और उत्पाद निषिद्ध हैं।’’

    21:06 (IST)27 Jun 2020
    गांधी परिवार को फायदा पहुंचाने के लिए कमलनाथ ने छीन ली गरीब कारीगरों की रोजी-रोटी : विष्णुदत्त शर्मा

    मध्यप्रदेश भाजपा अध्यक्ष एवं सांसद विष्णुदत्त शर्मा ने शनिवार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर केंद्रीय वाणिज्य मंत्री रहते हुए गांधी परिवार और कांग्रेस को फायदा पहुंचाने के लिए चीन से सांठगांठ करने का आरोप लगाया। शर्मा ने यहां संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा, ''केंद्रीय वाणिज्य मंत्री रहते हुए कमलनाथ ने गांधी परिवार और कांग्रेस को फायदा पहुंचाने के लिए चीन से सांठगांठ की। कमलनाथ ने चीनी कंपनियों को फायदा पहुंचाने के लिए देश और प्रदेश के छोटे कारीगरों, कारोबारियों की रोजी-रोटी छीन ली।'' उन्होंने कहा, ''कमलनाथ का यह कृत्य राष्ट्र के प्रति अपराध और गद्दारी है।''

    20:28 (IST)27 Jun 2020
    उत्तराखंड में चीन-भारत सीमा के निकट यातायात के लिए खोला गया वैकल्पिक पुल

    उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में चीन-भारत सीमा से लगभग 50 किलोमीटर दूर एक पुल के ढहने के कुछ दिन बाद सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने शनिवार को यातायात के लिए एक वैकल्पिक पुल को खोल दिया। बीआरओ के एक अधिकारी ने बताया कि जिले के ऊंचाई वाले गांवों तक पहुंचने के लिए महत्वपूर्ण इस वैकल्पिक पुल को पांच दिन में बनाया गया है।

    अधिकारी पी के राय ने कहा, ‘‘इस पुल के निर्माण से 15 गांव मुनस्यारी में उप-प्रखंड मुख्यालय के साथ फिर से जुड़ गये है और सुरक्षाकर्मियों के लिए इस मार्ग से गुजरना अब सुगम हो गया है।’’ मुनस्यारी-मिलम रोड पर यह पुल सोमवार को उस समय ध्वस्त हो गया था जब एक ट्रक एक जेसीबी मशीन को लेकर इस पुल से गुजर रहा था।

    19:48 (IST)27 Jun 2020
    कांग्रेसी कपिल सिब्बल ने भी साधा निशाना, कही ये बात

    भारत और चीन के बीच सीमा पर विवाद लगातार जारी है। इस बीच कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने चीन मुद्दे पर चुप्पी के लिए केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। सिब्बल ने शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री सार्वजनिक तौर पर चीन की घुसपैठ, आक्रमण और हमारे क्षेत्र पर कब्जे की चीनी कार्रवाी की निंदा नहीं करते हैं। सिब्बल ने कहा कि मैं चाहता हूं कि पीएम सार्वजनिक रूप से चीन की निंदा करें। हम उनका समर्थन करेंगे। लेकिन इस वक्त हालात यह हैं कि पीएम के उस बयान कि 'किसी ने हमारे किसी इलाके में घुसपैठ नहीं की' का चीन वैश्विक स्तर पर इस्तेमाल कर रहा है।

    बता दें कि भारत ने डेपसांग प्लेन्स में चीन की सेना के कदमों को रोकने के लिए बड़ी संख्या में सैनिक तैनात कर दिए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, लद्दाख के इस क्षेत्र में करीब 12 हजार सैन्यकर्मी तैनात हैं। इसके अलावा हॉवित्जर तोपों को भी यहां लाया गया है, ताकि किसी भी चीनी उकसावे का ठीक से जवाब दिया जा सके।

    19:48 (IST)27 Jun 2020
    चीनी राजदूत ने भी कबूली सैनिकों के हताहत होने की बात

    भारत में चीन के राजदूत सुन वीदोंग ने कबूल लिया है कि 15 जून को गलवान में दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुई मुठभेड़ में चीन को भी नुकसान हुआ था। न्यूज एजेंसी पीटीआई को दिए इंटरव्यू में वीदोंग ने साफ किया था कि सैनिकों के बीच हाथापाई में दोनों तरफ लोग हताहत हुए थे। गौरतलब है कि इससे पहले चीन के कुछ अखबारों ने अपने सैनिकों के हताहत होने की बात कबूली थी। हालांकि, चीन सरकार के किसी अफसर ने इस बारे में अब तक बयान नहीं दिया था।

    इससे पहले चीन में भारत के राजदूत विक्रम मिस्री ने पीटीआई-भाषा से कहा है कि वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन के लिए सैन्य गतिरोध को समाप्त करने का एकमात्र तरीका है, वहां नए निर्माण बंद करना। गलवान घाटी पर चीन की सम्प्रभुता का दावा ‘टिकने योग्य’ नहीं है। ऐसे बढ़-चढ़ कर किए गए दावों से कोई मदद नहीं मिलने वाली।

    18:32 (IST)27 Jun 2020
    देश की आंतरिक व बाह्य सुरक्षा हमारी प्राथमिकता : गडकरी

    केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शनिवार को कहा कि देश की आंतरिक व बाह्य सुरक्षा केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की प्राथमिकता है और इस दिशा में इन छह साल में जो काम हुआ है वह बीते 50 -60 साल में भी नहीं हुआ। गडकरी भारतीय जनता पार्टी की 'राजस्थान जनसंवाद वर्चुअल रैली' को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, ‘'देश की आतंरिक व बाह्य सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। हम पहले दिन से कहते आ रहे हैं कि राष्ट्रवाद हमारा ध्येय है। यह राष्ट्र सुखी बने, समृद्ध बने, संपन्न बने और शक्तिशाली बने। गांव गरीब मजदूर किसान का कल्याण हो। भय, भूख, आतंक व भ्रष्टाचार से मुक्त हिंदुस्तान बने यही विचार लेकर हमने काम किया है। इसलिए आज हमारी सभी सीमाएं सुरक्षित हैं।'’ गडकरी ने कहा कहा, '‘छह साल के अपने कार्यकाल में हमारी सरकार ने आंतरिक व बाह्य सुरक्षा के लिए जो काम किया है .. मैं विश्वास के साथ कहूंगा कि 50—60 साल में जो नहीं हो सका वह छह साल के अपने कार्यकाल में हमारी सरकार ने कर दिखाया।'’

    18:23 (IST)27 Jun 2020
    चीन के समुद्री दावे को लेकर आसियान ने अपना रुख स्पष्ट किया

    दक्षिण-पूर्वी एशियाई देशों के नेताओं ने कहा कि 1982 में हुई संयुक्त राष्ट्र समुद्री कानून संधि के आधार पर दक्षिण चीन सागर में संप्रभुता का निर्धारण किया जाना चाहिए। चीन द्वारा ऐतिहासिक आधार पर दक्षिण चीन सागर के बड़े हिस्से पर दावा करने के खिलाफ दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों के नेताओं की यह अब तक की सबसे सख्त टिप्पणिण्यों में से एक है। दक्षिण पूर्वी एशियाई राष्ट्र संगठन (आसियान) के नेताओं ने अपना रुख साफ करते हुए शनिवार को वियतनाम में दस देशों के संगठनों की ओर से बयान जारी किया।

    17:38 (IST)27 Jun 2020
    चीन ने 1962 के युद्ध के बाद से 45,000 वर्ग किमी भारतीय भूमि पर कब्जा किया : पवार

    चीन के साथ तनातनी को लेकर कांग्रेस और भाजपा के बीच आरोप प्रत्यारोप के बीच राकांपा प्रमुख शरद पवार ने शनिवार को कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मामलों का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि यह कोई नहीं भूल सकता कि चीन ने 1962 के युद्ध के बाद भारत की 45,000 वर्ग किलोमीटर भूमि पर कब्जा कर लिया था। पवार की टिप्पणी कांग्रेस नेता राहुल गांधी के उस आरोप पर थी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन की आक्रामकता के चलते भारतीय क्षेत्र को सौंप दिया। उन्होंने यह भी कहा कि लद्दाख में गलवान घाटी की घटना को रक्षा मंत्री की नाकामी बताने में जल्दबाजी नहीं की जा सकती क्योंकि गश्त के दौरान भारतीय सैनिक चौकन्ने थे। यहां पत्रकारों से बातचीत में पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह पूरा प्रकरण ‘‘संवेदनशील’’ प्रकृति का है। गलवान घाटी में चीन ने उकसावे वाला रुख अपनाया।

    15:14 (IST)27 Jun 2020
    कंगना रनौत बोलीं- चीनी उत्पादों का करें बहिष्कार

    गलवान घाटी में 15-16 जून को 20 भारतीय जवानों की शहादत के बाद बॉलीवुड की कई बड़ी हस्तियां चीनी उत्पादों के बहिष्कार की मांग उठा चुकी हैं। इनमें सबसे ताजा नाम अभिनेत्री कंगना रनौत का है। कंगना ने शनिवार को ट्विटर पर एक वीडियो जारी कर कहा कि देशवासियों को चीन के खिलाफ सैनिकों और सरकार का समर्थन करना चाहिए। कंगना वीडियो में कहती हैं- "अगर कोई आपके हाथ से उंगली काट दे, या बाजू से हाथ ही काटने की कोशिश करे, तो कैसा दर्द होगा? चीन ने लद्दाख पर कब्जा करने की कोशिश कर हमें वैसा ही दर्द देने की कोशिश की है। कंगना कहती हैं कि हमें चीनी उत्पादों का बायकॉट कर के सरकार को इस युद्ध में सपोर्ट करना होगा।

    गौरतलब है कि इससे पहले अभिनेता अरशद वारसी और मॉडल-एक्टर मिलिंद सोमन भी चीनी उत्पादों के बहिष्कार की बात कह चुके हैं। अरशद वारसी ने कहा था कि इसमें शायद थोड़ा समय लगेगा। लेकिन मैं अब चीनी उत्पादों का प्रयोग बंद कर रहा हूं।

    14:48 (IST)27 Jun 2020
    चीन से तनाव पर सवाल करने वाले को चीनी एजेंट घोषित कर रही भाजपाः शिवसेना

    एक समय केंद्र और महाराष्ट्र में भाजपा की सहयोगी रही शिवसेना ने एनडीए से अलग होने के बाद से ही मोदी सरकार पर हमले तेज कर दिए हैं। अब पार्टी ने भाजपा पर लद्दाख में चीन से चल रहे तनाव को लेकर जानकारी छिपाने के लिए निशाना साधा है। शिवसेना ने कहा है कि जो भी सरकार से चीन तनाव पर सवाल पूछ रहा है, उसे चीनी एजेंट घोषित किया जा रहा है। शिवसेना ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा पर बेवजह राहुल गांधी को विवादों में घसीटने का भी आरोप लगाया और कहा कि राजीव गांधी फाउंडेशन को चीनी दूतावास से मिले चंदे का मौजूदा भारत-चीन के टकराव से कोई लेना-देना नहीं है।

    14:13 (IST)27 Jun 2020
    आईटीबीपी चीनी सेना का सामना करने के लिए पूरी तरह तैयार

    भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के प्रमुख एस एस देसवाल ने कहा है कि उनका बल और वर्तमान में लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ गतिरोध का सामना कर रही सेना, देश की अखंडता एवं संप्रभुता को बचाने के लिए “समर्पित” है। हरियाणा कैडर के 1984 बैच के भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) अधिकारी, देसवाल ने कहा कि बल सभी प्रकार की चुनौतियों से निपटने के लिए तैयार हैं।

    13:48 (IST)27 Jun 2020
    एक और अमेरिकी सांसद बोले- चीन के खिलाफ दुनिया को साथ आने की जरूरत

    अमेरिका के सांसद टेड योहो ने कहा है कि यह वो समय है, जबकि दुनिया के सभी देशों को चीन के खिलाफ साथ खड़े होने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि चीन को बताना होगा कि अब बस बहुत हो गया और अमेरिका इस तरह के उकसावे वाले सुनियोजित सैन्य कार्रवाई को बर्दाश्त नहीं कर सकता। भारत के साथ चीन की कार्रवाई कोरोना महामारी के दौरान उसकी सैन्य गतिविधियों को बढाने की कोशिश है। यही काम वह हॉन्गकॉन्ग, ताईवान और वियतनाम में भी कर रहा है।

    13:22 (IST)27 Jun 2020
    चीनी ऐप डिलीट करें, उत्पाद का भी बायकॉट करें, CRPF वर्दी पहने व्यक्ति की अपील

    भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव के साथ ही चीनी उत्पादों के बायकॉट की मांग भी जोर पकड़ रही है। इस बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें सीआरपीएफ की वर्दी पहने एक व्यक्ति को लोगों से चीनी ऐप और चीनी उत्पादों का बायकॉट करने के लिए कहते देखा जा सकता है। इस वीडियो की सत्यता अभी प्रमाणित नहीं है। हालांकि, इसमें वह व्यक्ति कहता है कि हम खतराक जगह पर तैात किए जाते हैं। आप सिर्फ घर पर बैठे-बैठे अपनी उंगलियों का इस्तेमाल कर चीनी ऐप डिलीट कर सकते हैं। हमें अच्छा लगेगा।

    12:57 (IST)27 Jun 2020
    लद्दाख पर मुश्किल है चीन की तरफ से युद्ध की शुरुआत

    भारतीय सेना का अब तक का विश्लेषण यह रहा है कि चीन लद्दाख में ऐसा कोई कदम नहीं उठाएगा, जिससे युद्ध की स्थिति शुरू हो। खासकर ऐसे समय में जब भारत ने उसकी सभी गतिविधियों पर नजर रखना शुरू कर दिया है। साथ ही सीमा पर अपनी तैयारियों को भी लगभग पूरा कर लिया है। गौरतलब है कि भारत ने सेना के जवानों के साथ एयरफोर्स के फाइटर जेट्स भी लगातार एलएसी पर नजर रख रहे हैं।

    12:27 (IST)27 Jun 2020
    भारत के खिलाफ चीन की आक्रामकता से अमेरिकी सांसद परेशान

    अमेरिका में भारतीय मूल के सांसद अमी बेरा ने एलएसी पर भारत के खिलाफ चीन की आक्रामकता पर चिंता जाहिर की है। उन्होंने कहा कि बीजिंग को पड़ोसी देश के साथ ताकत के दम पर सीमा विवाद न सुलझाकर राजनयिक स्तर पर बात करनी चाहिए। गौरतलब है कि भारत और चीन अब तक राजनयिक स्तर के साथ दो बार सैन्य स्तर की बातचीत में भी शामिल हो चुके हैं, लेकिन इन कोशिशों से भी चीन की सेना लद्दाख से पीछे नहीं हटी है।

    12:03 (IST)27 Jun 2020
    चीन के खतरे से यूरोप भी अलर्ट, अमेरिका के साथ करेगा बातचीत

    अमेरिका और यूरोपियन यूनियन अब चीन के बढ़ते खतरे को भांपते हुए इस पर चर्चा करेंगे। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने यह जानकारी दी है। उन्होंने ब्रसेल्स फोरम में जर्मन मार्शल फंड के कार्यक्रम में चर्चा के दौरान कहा कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी का खतरा हमारी परपराओं और जीने के तरीके पर भी खतरा है।

    11:35 (IST)27 Jun 2020
    आईटीबीपी सीमाओं की रक्षा के लिए समर्पित

    आईटीबीपी के महानिदेशक (डीजी) ने यहां संवाददाताओं से कहा, “सेना और आईटीबीपी देश की अखंडता एवं संप्रभुता के साथ ही सीमाओं की रक्षा के लिए राष्ट्र के प्रति समर्पित हैं।” छतरपुर में राधा स्वामी सत्संग ब्यास केंद्र में 1,000 से अधिक बेड वाले नवनिर्मित कोविड-19 देखभाल केंद्र का जायजा लेने के बाद उन्होंने ये बातें कहीं।

    11:11 (IST)27 Jun 2020
    चिदंबरम ने चीनी घुसपैठ पर सरकार पर दागे सवाल

    कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने केंद्र सरकार पर लद्दाख में चीनी घुसपैठ को लेकर तीखे सवाल दागे हैं। चिदंबरम ने शनिवार को ट्वीट कर कहा कि क्या पीएम मोदी देश को यह आश्वासन दे सकते हैं कि वे चीन के घुसपैठ वाले इलाके को खाली कराएंगे और पहले की स्थिति में लौटाएंगे। उन्होंने ट्वीट में ही भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से भी चीन की घुसपैठ पर सवाल पूछा। दरअसल, जेपी नड्डा ने हाल ही में कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि सोनिया गांधी के नेतृत्व वाले राजीव गांधी फाउंडेशन को 2005-06 में चीनी दूतावास की तरफ से 1.45 करोड़ रुपए की ग्रांट मिली थी।

    10:43 (IST)27 Jun 2020
    लद्दाख से लौटकर आर्मी चीफ ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और पीएम मोदी को दी हालात की जानकारी

    सूत्रों के मुताबिक, आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे ने लद्दाख सीमा के दौरे के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एलएसी पर मौजूदा हालात की जानकारी दी है। बताया गया है कि भारतीय सेना अब लद्दाख में पूरी तैयारी के साथ है और चीन के किसी भी उकसावे का पूरा तरह जवान देने के लिए तैयार है।

    10:14 (IST)27 Jun 2020
    चीन की गतिविधियां अब उन इलाकों में, जहां कभी विवाद नहीं थाः चीन में भारत के राजदूत

    चीन में भारत के राजदूत विक्रम मिसरी ने कहा है कि लद्दाख में गलवान वैली पर झूठे दावों से चीन को कोई फायदा नहीं होगा। बॉर्डर पर हमारी तरफ से जो भी गतिविधियां हो रही हैं, वे सब हमारी तरफ की एलएसी पर की जाती हैं। चीन को गैर-जरूरी निर्माण कार्य रोकने की जरूरत है। यह चौंकाने वाली बात है कि उन्होंने उस सेक्टर में भी हरकतें कीं जो कभी विवादों में नहीं था।

    09:50 (IST)27 Jun 2020
    भारतीय निर्यातकों की शिकायत, चीनी बंदरगाह में अटक रहे शिपमेंट

    भारत-चीन के बीच सीमा पर जारी विवाद का असर अब दोनों देशों के व्यापार पर भी पड़ता दिख रहा है। हाल ही में खबर आई थी कि भारत के मुंबई और चेन्नई बंदरगाहों पर चीन के आयातित सामान को क्लियरेंस मिलने में देर हो रही है। अब भारतीय निर्यातकों ने भी चीन के बंदरगाहों में अपने उत्पाद अटकने की बात कही है। हाल ही में फेडरेशन ऑफ इंडियन एक्सपोर्ट ऑर्गनाइजेशन ने वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय को पत्र लिखकर कहा है कि हॉन्गकॉन्ग और चीन भेजे गए उनके कंसाइनमेंट को कस्टम्स के पास रोक दिया जा रहा है।

    09:20 (IST)27 Jun 2020
    हिमाचल प्रदेशः चीनी मूल के भारतीय नागरिक ने तनाव पर जताई चिंता, कहा- मैं चीन से ज्यादा भारत का

    हिमाचल प्रदेश के शिमला में जूतों का स्टोर चलाने वाले एक चीनी मूल के भारतीय नागरिक ने सीमा पर दोनों देशों के बीच चल रहे तनाव पर चिंता जताई है। व्यक्ति का नाम जॉन है। उन्होंने कहा कि मुझे कभी भी भारत में भेदभाव का सामना नहीं करना पड़ा। मैं चीन से ज्याद खुद को भारत का नागरिक समझता हूं। दोनों देशों को सरकार के स्तर पर ही मामले को सुलझाना चाहिए।

    08:55 (IST)27 Jun 2020
    चीन ने विवादित इलाके पैंगोंग सो में बनाया हैलीपेड, भारतीय सेना के लिए बढ़ी चुनौती

    चीन ने लद्दाख के पैंगोंग सो इलाके में अपनी स्थिति मजबूत कर ली है। चीन ने विवादित इलाके फिंगर 4 पर एक हैलीपेड का निर्माण कर लिया है और साथ ही यहां अपने सैनिकों की तैनाती भी बढ़ा दी है। फिंगर 4 पर हैलीपेड का निर्माण कर चीन ने संदेश दे दिया है कि वह पीछे हटने को तैयार नहीं है। पढ़ें पूरी खबर...

    08:21 (IST)27 Jun 2020
    अमेरिकाः शिकागो में चीनी दूतावास के बाहर भारतीयों ने किया प्रदर्शन

    भारत में चीन के मुखर विरोध के बीच कई और देशों में भी भारतीयों ने चीन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। भारतीय समुदाय लगातार अलग-अलग देशों में चीनी दूतावास के बाहर प्रदर्शन कर रहा है। विदेश में रहने वाले भारतीयों का आरोप है कि चीन लगातार सीमा पर तनाव भड़काने में जुटा है। शुक्रवार को अमेरिका के शिकागो में भी भारतीय मूल के लोगों ने चीनी दूतावास के बाहर प्रदर्शन किया और अमेरिकी नौकरियों को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया।

    07:58 (IST)27 Jun 2020
    पुणे के गांव ने प्रस्ताव पास कर बैन की चीनी सामान की बिक्री-खरीद

    महाराष्ट्र के पुणे में स्थित कोंधवे-धावड़े गांव में चीनी सामान का बहिष्कार शुरू हो गया है। ग्राम पंचायत ने एक प्रस्ताव पास किया है, जिसमें आगे से चीनी सामान की बिक्री और खरीद पर रोक लगा दी है। इस गांव के सरपंच नितिन ध्वड़े ने कहा कि इसका फैसला ग्राम पंचायत की बैठक में हुआ। अब इसे लेकर गांव भर में पोस्टर लगाए जाएंगे, ताकि लोगों में चीनी सामान को लेकर जागरुकता लाई जा सके।

    07:35 (IST)27 Jun 2020
    मोदी के 'घुसपैठ नहीं' वाले बयान से घटा सशस्त्र बलों का मनोबलः पृथ्वीराज चव्हाण

    वहीं, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर प्रहार करते हुए कहा कि वह अपने इस बयान से चीन में लोकप्रिय हो गए हैं कि ‘किसी ने भी भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ नहीं की।’ महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री ने एक संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया कि मोदी के ‘घुसपैठ नहीं’ वाले बयान से भारत के सशस्त्र बलों का मनोबल गिर गया। पूर्वी लद्दाख में इस महीने चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए थे। प्रधानमंत्री ने पिछले हफ्ते सर्वदलीय बैठक के दौरान कहा था कि न तो कोई हमारे क्षेत्र के अंदर है, न ही भारत की किसी चौकी पर कब्जा हुआ है।

    06:17 (IST)27 Jun 2020
    अमेरिका ने चीन के सीसीपी अधिकारियों पर लगाया वीजा प्रतिबंध

    अमेरिका ने शुक्रवार को चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) के अधिकारियों पर वीजा प्रतिबंध लगाने की घोषणा की। अमेरिका ने इन अधिकारियों पर हांगकांग की स्वायत्तता, मानवाधिकारों और मौलिक स्वतंत्रता को कमतर करने लगाया है। विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने इस कदम की घोषणा करते हुए कहा कि वह राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आदेश को लागू कर रहे हैं। पोम्पिओ ने कहा, ‘’ आज मैं सीसीपी के मौजूदा और पूर्व अधिकारियों पर वीजा प्रतिबंधों की घोषणा करता हूं। इनके बारे में माना गया है कि इन्होंने 1984 चीन-ब्रिटेन संयुक्त घोषणा पत्र में गारंटी प्रदान की गयी हांगकांग की उच्च स्तर की स्वायत्तता को दबाया या मानवाधिकारों और बुनियादी स्वतंत्रता को कमतर किया या ऐसा करने में इनकी मिलीभगत है।‘’

    04:55 (IST)27 Jun 2020
    सरहद पर वायुसेना ने दिखाया दम

    सीमा पर भारत और चीन के बीच सैन्य तनाव के बीच भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने शुक्रवार को पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास युद्धाभ्यास किया। इस युद्धाभ्यास में थल सेना के जवानों, बख्तरबंद गाड़ियों और वायुसेना के हेलिकॉप्टरों एवं परिवहन विमानों ने भी हिस्सा लिया। भारत-चीन सीमा पर तनाव बढ़ने के बाद वायुसेना ने एलएसी पर लड़ाकू विमानों के जरिए निगरानी बढ़ा दी है। भारतीय वायुसेना ने इस युद्धाभ्यास को लेकर एक वीडियो जारी किया है, जिसमें वायुसेना के लड़ाकू विमान और थल सेना की सैन्य टुकड़ियां शामिल थीं।

    03:18 (IST)27 Jun 2020
    रक्षा मंत्री से मिले सेना प्रमुख, लद्दाख के हालात के बारे में दी जानकारी

    थल सेनाध्यक्ष जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने शुक्रवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ मुलाकात की और उन्हें लद्दाख क्षेत्र में जमीनी स्थिति के बारे में जानकारी दी। सेनाध्यक्ष लद्दाख के दो दिवसीय दौरे से वापस लौटे हैं। उन्होंने वास्तविक नियंत्रण रेखा पर अग्रिम मोर्चों पर जाकर सामरिक तैयारियों की समीक्षा की थी। लद्दाख के अपने दो दिवसीय दौरे में जनरल नरवणे ने पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर सभी 65 बिंदुओं पर गश्त मजबूत करने के सैनिकों को निर्देश दिए।

    01:51 (IST)27 Jun 2020
    प्रधानमंत्री जी बोलिए कि चीन ने हमारी जमीन हथियाई, पूरा देश आपके साथ है: राहुल गांधी

    कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने लद्दाख में चीनी सैनिकों की घुसपैठ को लेकर शुक्रवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस बारे में सच बोलें और अपनी जमीन वापस लेने के लिए कार्रवाई करें तो पूरा देश उनके साथ खड़ा होगा। उन्होंने यह दावा भी किया कि अगर प्रधानमंत्री कहेंगे कि हमारी जमीन नहीं छीनी गई और जमीन छीनी गई होगी, तो इससे चीन को फायदा होगा। गांधी ने गलवान घाटी में शहीद हुए 20 जवानों के सम्मान में कांग्रेस की ओर से ‘शहीदों को सलाम दिवस’ मनाए जाने के मौके पर एक वीडियो संदेश में कहा, ‘‘हिंदुस्तान के वीर शहीदों को मेरा नमन। पूरा देश एक होकर सेना और सरकार के साथ खड़ा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘एक जरूरी सवाल उठता है। कुछ दिन पहले हमारे प्रधानमंत्री ने कहा कि हिंदुस्तान की एक इंच जमीन किसी ने नहीं ली, कोई हिंदुस्तान के भीतर नहीं आया। उपग्रह से ली गई तस्वीरों से पता चल रहा है, लद्दाख के लोग कह रहे हैं और सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारी कह रहे हैं कि चीन ने तीन जगह हमारी जमीन छीनी है।’’

    00:53 (IST)27 Jun 2020
    ‘चाइना मुक्कू’ इलाके का नाम बदलना चाहते हैं केरल में ग्रामीण

    हाल ही में भारत-चीन के सैनिकों के बीच संघर्ष, जिसमें 20 भारतीय जवान शहीद हो गए ,के विरोध में केरल के लोग 'चाइना मुक्कू' क्षेत्र का नाम बदलने की मांग कर रहे हैं। पंचायत के प्रतिनिधियों ने कहा कि 'चाइना मुक्कू' :चाइना जंकशन: का नाम भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने तब दिया था, जब वे 1952 के लोकसभा चुनावों के लिए क्षेत्र का दौरा करने आए थे। चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस के झंडे के साथ नेहरू के दल का स्वागत किया गया था। उन्होंने पीटीआई-भाषा को बताया कि जब नेहरु इस स्थान पर पहुंचे तो बहुत सारे लाल झंडों को देखा तो पूछा कि क्या यह ‘चाइना जंक्शन’ है?

    23:16 (IST)26 Jun 2020
    सोनिया और राहुल गांधी ने कहा- चीनी घुसपैठ पर सच बताएं और देश को विश्वास में लें प्रधानमंत्री

    चीन में भारत के राजदूत मिस्री ने कहा कि द्विपक्षीय संबंधों का सतर्कता से ध्यान रखना, चीन की पूरी जिम्मेदारी है; और उसे यह तय करना है कि किस देशा में आगे बढ़ा जाए। उधर, कांग्रेस ने गलवान घाटी में शहीद हुए 20 भारतीय जवानों के सम्मान में शुक्रवार को ‘शहीदों को सलाम दिवस’ मनाया और इस मौके पर पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि सीमा पर संकट के समय सरकार अपनी जिम्मेदारी से पीछे नहीं हट सकती तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बताना चाहिए कि क्या वह इस विषय पर देश को विश्वास में लेंगे?

    21:57 (IST)26 Jun 2020
    सीमा सुरक्षा के जिम्मे से नहीं बच सकती है मोदी सरकार- सोनिया का वार

    कांग्रेस चीफ सोनिया गांधी ने कहा है कि आज जब भारत-चीन सीमा पर तनाव है, केंद्र सरकार हमारी सीमाओं की सुरक्षा की अपनी जिम्मेदारी से नहीं बच सकती। देश जानना चाहता है कि अगर चीन ने लद्दाख में हमारी भूमि पर कब्जा नहीं किया है, जैसा कि प्रधानमंत्री ने दावा किया है, तो हमारे 20 जवान कैसे शहीद हो गए। क्या लद्दाख में चीन हमारी क्षेत्रीय अखंडता का उल्लंघन कर रहा है, क्या प्रधानमंत्री सीमा पर स्थिति को लेकर राष्ट्र को विश्वास में लेंगे।

    21:21 (IST)26 Jun 2020
    चीनी नागरिकों को नहीं मिलेंगे मथुरा-वृन्दावन के होटलों में कमरे, नहीं परोसे जाएंगे चाइनीज फूड

    चीन की कायराना हरकत के बाद देशभर में उबाल है औेर लोग चीनी उत्पादों का बहिष्कार कर विरोध जता रहे हैं। इस बीच तीर्थनगरी मथुरा-वृंदावन के होटल संचालकों ने बड़ा फैसला लिया है जिसके मुताबिक अब वे चीनी नागरिकों को अपने होटलों में नहीं ठहराएंगे और न ही किसी ग्राहक को चाइनीज फूड परोसेंगे। होटल मालिक संघ ने अखिल भारतीय व्यापारी संघ (सीएआईटी) के अभियान का समर्थन करते हुए चीनी उत्पादों का बहिष्कार किया है। साथ ही होटलों में चीनी नागरिकों को नहीं ठहराने और मेन्यू कार्ड से चाइनीज फूड हटाने का फैसला लिया है। बृहस्पतिवार को होटल मालिक संघ की बैठक में वर्तमान परिस्थिति पर चर्चा हुई। संगठन के महामंत्री अमित जैन ने बताया कि मथुरा-वृन्दावन होटल ओनर्स एसोसिएशन सीएआईटी के उस अभियान के साथ है, जिसमें चीनी वस्तुओं के बहिष्कार किया जा रहा है।

    20:26 (IST)26 Jun 2020
    तनाव के बीच भारतीय वायुसेना के एयरक्राफ्ट लगातार भर रहे उड़ान

    लद्दाख में सीमा पर तनाव के बीच भारतीय वायुसेना के एयरक्राफ्ट लगातार उड़ान भर रहे हैं। चीन से जारी तनाव के बीच इसे वायुसेना की ओर से शक्ति प्रदर्शन माना जा रहा है। एक तरफ चीन के साथ सरकार कूटनीतिक ढंग से तनाव को दूर करने की कोशिश कर रही है तो दूसरी तरफ सैन्य बलों को भी अलर्ट पर रखा गया है। भारतीय सेना प्रमुख एम.एम नरवणे ने लद्दाख से दौरे के बाद डिफेंस मिनिस्टर राजनाथ सिंह से मुलाकात की है और जमीनी हालात की पूरी जानकारी दी है।

    20:21 (IST)26 Jun 2020
    FM ने चीन के साथ व्यापारिक अंसतुलन को भारतीय कारोबारियों को भी एक तरह से जिम्मेदार ठहराया

    चीन से गलवान घाटी समेत कई मोर्चों पर जारी तनाव के बीच वह तीन दिनों के लिए लद्दाख दौरे पर थे और कई अग्रिम चौकियों का निरीक्षण किया था। सूत्रों के मुताबिक रूस में विक्ट्री डे मिलिट्री परेड से लौटे डिफेंस मिनिस्टर आर्मी चीफ से मिलने के बाद पीएम नरेंद्र मोदी को पूरी रिपोर्ट सौंप सकते हैं। शुक्रवार शाम ही डिफेंस मिनिस्टर पीएम नरेंद्र मोदी से मिलने पहुंच सकते हैं।

    इस बीच वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने चीन के साथ व्यापारिक अंसतुलन के लिए भारतीय कारोबारियों को भी एक तरह से जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि आखिर हमें गणेश जी की प्रतिमा को भी चीन से मंगाने की क्या जरूरत है। वित्त मंत्री ने कहा कि ग्रोथ के लिए चीन से आयात करने में कोई बुराई नहीं है, लेकिन गणेश जी की मूर्तियों का भी चीन से आयात करना चिंताजनक है।

    19:56 (IST)26 Jun 2020
    कांग्रेस ने शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि दी

    कांग्रेस ने भारत-चीन सीमा पर शहीद हुए देश के वीर जवानों को 'शहीदों को सलाम' कार्यक्रम के तहत शुक्रवार को श्रद्धांजलि अर्पित की। जयपुर शहर में शहीद स्मारक पर आयोजित श्रद्धांजलि कार्यक्रम में उपमुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट मौजूद रहे। कांग्रेस की ओर से सभी जिला व ब्लॉक मुख्यालयों पर ऐसे कार्यक्रम आयोजित किए गए। पायलट ने कहा कि हम यहां अपने शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करने को एकत्रित हुए हैं। हम अपनी सीमाओं की रक्षा करते हुए अपने प्राणों को न्योछावर करने वाले बहादुर सैनिकों को सलाम करते है। आज पूरा देश उनके परिवारों के साथ खड़ा है।

    18:31 (IST)26 Jun 2020
    सीमा पर शांति, लेकिन माहौल तनावपूर्ण

    सीमा पर भले ही फिलहाल शांति है, लेकिन माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है। चीन ने एक तरफ LAC पर सेना की बड़े पैमाने पर तैनाती कर रखी है तो दूसरी तरफ भारत ने भी आर्मी को अलर्ट पर रखा है। सूत्रों के मुताबिक एलएसी पर कुल 15 जगहों पर चीनी सैनिकों का जमावड़ा देखा जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक एलएसी पर घूम रहे चीनी सैनिक अपने बैग में लोहे की रॉड लेकर चल रहे हैं। बता दें कि गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई झड़प में लाठी-डंडों और धारदार हथियारों से ही विवाद हुआ था।

    सूत्रों के मुताबिक अरुणाचल प्रदेश के कामेंग सेक्टर में चीनी सैनिक अपने बैग में लोहे की रॉड रखकर घूम रहे हैं। एक सूत्र ने कहा, 'चीनी सैनिक पूरी तैयारी के साथ घूम रहे हैं और लगातार प्रोटोकॉल तोड़ रहे हैं। लेकिन जब कोई झड़प हो जाती है तो फिर भारतीय सैनिकों पर ही प्रोटोकॉल तोड़ने का आरोप लगाते हैं।' बता दें कि 15 जून को गलवान घाटी में हुई झड़प में कर्नल संतोष बाबू समेत देश के 20 सैनिक शहीद हो गए थे। चीनी सैनिकों ने यह हमला भी बहस के दौरान ही अचानक किया था, जिसका मुंहतोड़ जवाब भारतीय जवानों ने दिया था।

    18:27 (IST)26 Jun 2020
    भारत-चीन विवाद पर मुखरता से बोला US, जानें क्या कहा विदेश मंत्री ने?

    भारत और चीन के बीच सीमा पर जारी तनाव को लेकर अमेरिका ने मुखरता से बयान देते हुए कहा है कि इसी के चलते उसने यूरोप में अपने सैनिकों की संख्या कम की है और उन्हें दक्षिण पूर्व एशियाई क्षेत्र में भेजा है। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने गुरुवार को कहा की चीन की ओर से भारत और दक्षिण पूर्व एशिया के समक्ष पैदा खतरे को देखते हुए अमेरिका ने यूरोप में अपने सैनिकों की संख्या को कम किया है। उन्होंने कहा कि जर्मनी में सैनिकों की संख्या को कम करना एक सोची समझी रणनीति था ताकि उन्हें अन्य स्थानों पर तैनात किया जा सके।

    15:58 (IST)26 Jun 2020
    पूर्व मंत्री ने बताया कहां है खतरा, सुनें क्या बोले वह
    15:12 (IST)26 Jun 2020
    जब अटल बिहारी वाजपेयी ने चीन के दूतावास में घुसा दी थीं 800 भेड़ें

    चीन से सीमा पर पैदा हुए तनाव के बीच पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी जुड़ा एक किस्सा इन दिनों याद किया जा रहा है। 1965 में चीन ने भारतीय सैनिकों पर 800 भेड़ें और 59 याक चुराने का आरोप लगाया था। इसे लेकर चीन ने भारत सरकार को खत भी लिखा था। यह मामला जब बहुत गरमाया तो उस दौर के युवा नेता अटल बिहारी वाजपेयी ने दिल्ली स्थित चीन दूतावास में 800 भेड़ें और घुसा दी थीं। इन भेड़ों के गले में एक तख्ती भी लटकी थी, जिनमें लिखा, 'मुझे खा लो, लेकिन दुनिया बचा लो।'

    13:53 (IST)26 Jun 2020
    आर्मी चीफ से मुलाकात के बाद पीएम मोदी को रिपोर्ट देंगे रक्षा मंत्री

    सूत्रों के मुताबिक रूस में विक्ट्री डे मिलिट्री परेड से लौटे डिफेंस मिनिस्टर आर्मी चीफ से मिलने के बाद पीएम नरेंद्र मोदी को पूरी रिपोर्ट सौंप सकते हैं। शुक्रवार शाम ही डिफेंस मिनिस्टर पीएम नरेंद्र मोदी से मिलने पहुंच सकते हैं।

    13:52 (IST)26 Jun 2020
    सेना प्रमुख ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को दी लद्दाख के जमीनी हालात की जानकारी

    भारतीय सेना प्रमुख एम.एम नरवणे ने लद्दाख से दौरे के बाद डिफेंस मिनिस्टर राजनाथ सिंह से मुलाकात की है और जमीनी हालात की पूरी जानकारी दी है। चीन से गलवान घाटी समेत कई मोर्चों पर जारी तनाव के बीच वह तीन दिनों के लिए लद्दाख दौरे पर थे और कई अग्रिम चौकियों का निरीक्षण किया था।

    13:52 (IST)26 Jun 2020
    विदेश मंत्रालय की चीन को हिदायत, ऐसे ही रहे हालात तो बिगड़ेगी बात

    विदेश मंत्रालय ने इस बीच चीन को हिदायत देते हुए कहा है कि यदि सीमा पर इसी तरह से तनाव बना रहा तो दोनों देशों के बीच संबंध खराब हो सकते हैं। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि लद्दाख में सीमा पर दोनों ओर से सीमा की बड़े पैमाने पर तैनाती की गई है। हालांकि इस बीच सैन्य और कूटनीतिक स्तर पर शांति बहाली के लिए प्रयास भी जारी हैं।

    11:24 (IST)26 Jun 2020
    सरकार की चीन को चेतावनी, न माने तो बिगड़ेंगे हालात

    चीन से बातचीत के दौरान भारत सरकार ने चेताया है कि यदि लद्दाख में शांति कायम करने के वादे पर सही ढंग से अमल नहीं हुआ तो स्थिति बिगड़ सकती है। इससे दोनों देशों के संबंधों पर लंबे वक्त के लिए नकारात्मक असर पड़ेगा।

    11:22 (IST)26 Jun 2020
    किसी घटना के डर से चीनी कंपनियों ने ढके अपने साइनबोर्ड्स

    इस बीच भारत और चीन में सीमा पर तनाव के चलते देश में कारोबार कर रहीं चीनी कंपनियां चिंतित हैं। कई कंपनियों ने किसी भी घटना की आशंका के चलते अपने साइनबोर्ड्स को ही ढक दिया है। चीन की बड़ी स्मार्टफोन मेकर कंपनी शाओमी ने देश में अपने स्टोर्स पर साइनबोर्ड्स को ढक दिया है।

    11:10 (IST)26 Jun 2020
    गणेश प्रतिमा भी चीन से आयात करने की क्या जरूरत, यह चिंता की बात: निर्मला

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने चीन के साथ व्यापारिक अंसतुलन के लिए भारतीय कारोबारियों को भी एक तरह से जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि आखिर हमें गणेश जी की प्रतिमा को भी चीन से मंगाने की क्या जरूरत है। वित्त मंत्री ने कहा कि ग्रोथ के लिए चीन से आयात करने में कोई बुराई नहीं है, लेकिन गणेश जी की मूर्तियों का भी चीन से आयात करना चिंताजनक है।

    Next Stories
    1 अप्रैल के बाद चीनी सेना ने हमारे करीब 40 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र पर कर रखा है कब्‍जा- पूर्व ले. जनरल का दावा
    2 दिल्ली में 24 घंटे के भीतर कोरोना के 2,948 ताजा मामले, 66 की मौत; गौतमबुद्ध नगर में केस 2000 के पार
    3 कोरोनिल विवाद: रामदेव की पतंजलि ने योगी-मोदी राज में लगातार भुनाए हैं कमाई के अवसर, मिड-डे-मील तक का ठेका लेने की कर चुके हैं कोशिश
    आज का राशिफल
    X