ताज़ा खबर
 

अरनब गोस्वामी के चैनल पर डिबेट, पूर्व आर्मी अफ़सर ने कहा नीच, गुस्से में पैनलिस्ट को दे दी मां की गाली

बहस के दौरान पूर्व आर्मी अफ़सर और एक पैनलिस्ट भीड़ गए। इस दौरान आर्मी अफ़सर इतने गरम हो गए कि उन्होने लाइव टीवी पर पैनलिस्ट को माँ की गाली दे डाली।

हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के प्रवक्ता दानिश रिजवान और रिटायर्ड मेजर जनरल जीडी बख्‍शी।

पूर्वी लद्दाख में सीमा पर भारत और चीन सेना के बीच अब भी तनाव की स्थिति बनी हुई है। इसे लेकर टीवी न्यूज़ चैनलों में रोजाना प्राइम टाइम डिबेट हो रही हैं। ऐसी ही एक बहस अरनब गोस्वामी के चैनल ‘आर भारत’ में हो रही थी। इस बहस के दौरान पूर्व आर्मी अफ़सर और एक पैनलिस्ट भिड़ गए। इस दौरान आर्मी अफ़सर इतने गरम हो गए कि उन्होने लाइव टीवी पर पैनलिस्ट को माँ की गाली दे डाली। इस शो की क्लिप वरिष्ठ पत्रकार विनोद कापड़ी ने ट्वीट किया है।

कापड़ी ने इस वीडियो को ट्वीट कर लिखा “भारतीय टीवी के इतिहास का एक और गौरवशाली क्षण : अब माँ बहन की गालियाँ लाइव।” इस वीडियो में रिटायर्ड मेजर जनरल जीडी बख्‍शी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के प्रवक्ता दानिश रिजवान से भारत चीन विवाद को लेकर कुछ कह रहे थे। तभी रिजवान कहने लगे “वही तो हम कह रहे हैं युद्ध कम करो।” इसपर रिटायर्ड मेजर जनरल नाराज़ हो गए और उन्होंने रिजवान को गुस्से में “नीच आदमी” कहा। लेकिन बख्‍शी का गुस्सा इतना ज्यादा था कि वे भूल गए कि यह एक लाइव शो है और उन्होंने रिजवान को माँ की गाली दे दी।

कापड़ी द्वारा ट्वीट किए गए इस वीडियो में यूजर्स भी अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। एक यूजर ने लिखा “जीडी बख्‍शी ने गाली देकर रिपब्लिक चैनल का लेवेल दिखा दिया।” एक ने लिखा “विपक्षियों की आवाज़ दवाने के लिए, उसे कमजोर करने के लिए मां बहन की गाली तब तक दो जब तक कि सामने वाला शर्म से सर ना झुका ले ओर चुप ना हो जाए। आज के इस दौर में बस इसी पाखंड को राष्ट्रवाद का नाम दिया गया है।”

बता दें भारत और चीन के बीच लद्दाख में पिछले करीब दो महीने से तनाव जारी है। एक दिन पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अचानक लद्दाख पहुंचने से हर कोई चौंक गया। पीएम ने नीमू से ही बिना नाम लिए चीन को चेतावनी देते हुए कहा था कि विस्तारवादी ताकतों का अंत हो गया है। हालांकि, आज गुरु पूर्णिमा के मौके पर पीएम ने चुनौतियों से निपटने के लिए शांति की बात की। पीएम ने कहा कि आज हमारे पास कई चुनौतियां हैं। पूरी दुनिया इस वक्त चुनौतियों से जूझ रही है। इन चुनौतियों से निपटने का तरीका सिर्फ भगवान बुद्ध के तरीकों से ही मिल सकता है। वे पूर्व में भी कारगर थे और आज भी कारगर हैं। बुद्ध के शांति के तरीके आने वाले समय में भी उपयोगी रहेंगे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पीएम मोदी के लेह अस्पताल दौरे पर सेना ने दी सफाई, कहा- आर्म्ड फोर्सेज पर उंगली उठाना दुर्भाग्यपूर्ण
2 छह बार पूछ चुका हूं, चीन का नाम क्यों नहीं लेते? लेह में भी पीएम मोदी ने नहीं लिया चीन का नाम तो बीजेपी प्रवक्ता से उलझे गौरव वल्लभ
3 क्या बिहार चुनाव की वजह से सोनिया गांधी ने उठाया NEET में OBC आरक्षण का मामला? पीएम से कहा- 11000 सीट का हो रहा नुकसान
ये पढ़ा क्या...
X