ताज़ा खबर
 

बैंकाक और रूस में मिल चुके हैं भारत-पाकिस्‍तान के एनएसए, फोन पर लगातार हो रही बातचीत

भारत के राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और पाकिस्‍तान के एनएसए नासिर जंजुआ तीन बार बैंकाक और एक बार रूस में मिल चुके हैं। डावोस में भी दोनों देशों के शीर्ष अधिकारियों के मिलने की संभावना है।
Author नई दिल्‍ली | January 14, 2018 11:33 am
भारत के एनएसए अजीत डोभाल और पाकिस्‍तान के राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नासिर जंजुआ। (फाइल फोटो)

भारत और पाकिस्‍तान संबंधों को दुरुस्‍त करने के लिए लगातार प्रयासरत हैं। दोनों देशों के राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) कई बार आमने-सामने बैठ कर वार्ता करने के अलावा फोन पर भी लगातार बातचीत कर रहे हैं। भारत और पाकिस्‍तान के एनएसए अजीत डोभाल और जनरल (रिटायर्ड) नासिर जंजुआ के बीच हाल में ही थाईलैंड की राजधानी बैंकाक में मुलाकात होने की पुष्टि की गई थी। लेकिन, यह कोई पहली मुलाकात नहीं थी। दोनों कई बार मिल चुके हैं। डोभाल और जंजुआ के बीच फोन पर नियमित तौर पर बात होती है। दोनों देशों के इस कदम को संबंध बहाली की दिशा में महत्‍वपूर्ण कदम माना जा रहा है।’द हिंदू’ की रिपोर्ट के अनुसार, भारत और पाकिस्‍तान के एनएसए कम से कम तीन बार बैंकाक और एक बार रूस में मिल चुके हैं।

सूत्रों ने बताया कि दोनों देशों के प्रतिनिधि अंतरराष्‍ट्रीय सुरक्षा शिखर सम्‍मेलन के मौके पर भी मिले थे। इस सम्‍मेलन का आयोजन 25-26 मई, 2017 को रूसी शहर जविडोवो में किया गया था। वर्ष 2018 में इस पहल को आगे बढ़ाने के तौर-तरीकों पर विचार किया जा रहा है। 22-23 जनवरी को डावोस में विश्‍व आर्थिक मंच (डब्‍ल्‍यूईएफ) का सम्‍मेलन होना है। इसमें भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्‍तान के पीएम शाहिद खाकन अब्‍बासी भी शामिल हो रहे हैं। इस मौके पर दोनों देशों के एनएसए या विदेश मंत्रालय के अधिकारियों के बीच मुलाकात होने की संभावना है। डोभाल और जंजुआ के बीच रूस में हुई मुलाकात बेहद अहम है। उसी वक्‍त भारत कुलभूषण जाधव के मसले को अंतरराष्‍ट्रीय अदालत में ले गया था। जानकारी के मुताबिक, दोनों एनएसए के बीच आखिरी मुलाकात 26 दिसंबर, 2017 को हुई थी। मुलाकात से एक दिन पहले ही पाकिस्‍तान ने कुलभूषण जाधव की मां और पत्‍नी को मिलने की इजाजत देने की घोषणा की थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्‍तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ ने नवंबर, 2015 में बातचीत के लिए एनएसए का दरवाजा खोला था। दोनों एनएसए के बीच पहली मुलाकात पठानकोट जांच पर केंद्रित था। बाद की बैठकों में घुसपैठ, संघर्ष विराम उल्‍लंघन और सीमा पार आतंकवाद जैसे मुद्दों पर बातचीत हुई थी। कुलभूषण जाधव को लेकर भी बातचीत हुई थी। मालूम हो कि भारतीय विदेश मंत्रालय ने 11 जनवरी को दोनों देशों के एनएसए के बीच बैंकाक में पिछले साल 26 दिसंबर को हुई बैठक की पुष्टि की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.