ताज़ा खबर
 

नेहरू ने 17, इंदिरा ने 16 बार फहराया था लाल किले पर तिरंगा, नरेंद्र मोदी ने वाजपेयी को फिर पीछे छोड़ बनाया नया रिकॉर्ड!

दरअसल, अटल बिहारी वाजपेयी पहले गैर- कांग्रेसी प्रधानमंत्री थे जिन्होंने लाल किले से 6 बार तिरंगा फहराया था। अब पीएम मोदी इस मामले में अटल बिहारी वाजपेयी से आगे निकल गए हैं और अपने नाम यह रिकॉर्ड कर लिया है।

PM Modi, Independence Dayप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को 74वें स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर पर सातवीं बार तिरंगा फहराया। (फोटो- PTI)

देश के 74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पीएम मोदी ने लाल किले की प्राचीर से सातवीं बार तिरंगा फहराया। पीएम मोदी ऐसा करने के साथ ही देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को पीछे छोड़ दिया।

दरअसल, अटल बिहारी वाजपेयी पहले गैर- कांग्रेसी प्रधानमंत्री थे जिन्होंने लाल किले से 6 बार तिरंगा फहराया था। अब पीएम मोदी इस मामले में अटल बिहारी वाजपेयी से आगे निकल गए हैं और अपने नाम यह रिकॉर्ड कर लिया है। वहीं ,सबसे ज्यादा बार लाल किले से तिरंगा फहराने की बात करें तो यह रिकॉर्ड पूर्व प्रधानमंत्री जवाहलाल नेहरू के नाम है।

उन्होंने सबसे ज्यादा 17 बार ऐसा किया था। वहीं दूसरे नंबर पर इदिंरा गांधी हैं जिन्होंने 16 बार ऐसा किया था। तीसरे नंबर पर मनमोहन सिंह का नाम आता है उन्होंने 10 बार ऐसा किया है। चौथे नंबर पर इस सूची में नरेंद्र मोदी हैं जिन्होंने सात बार ऐसा किया था। इसके अलावा राजीव गांधी ने पांच बार लाल किले से तिरंगा फहराया था।

दो प्रधानमंत्री ऐसे भी जिन्हें झंडा फहराने का मौका नहीं मिला: भारतीय इतिहास के पन्ने पलटने पर दो ऐसे प्रधानमंत्रियों का भी नाम सामने आता है जो प्रधानमंत्री की कुर्सी पर तो बैठे लेकिन लाल किले से झंडा फहराने का मौका नहीं मिला।  इसमें पहला नाम गुलजारीलाल नंदा का है। वह दो बार 13-13 दिन के लिए प्रधानमंत्री बने।

पहली बार वह 27 मई से 9 जून 1964 तक प्रधानमंत्री रहे, दूसरी बार 11 जनवरी से 24 जनवरी 1966 तक वह पीएम की कुर्सी पर बैठे , इस दौरान वह कार्यवाहक प्रधानमंत्री रहे। वहीं, इस लिस्ट में दूसरा नाम चंद्रशेखर का है। वह 10 नवंबर 1990 से 21 जून 1991 तक करीब 8 महीनों तक प्रधानमंत्री पद पर काबिज रहे। लेकिन इस दौरान उन्हें भी तिरंगा फहराने का अवसर नहीं प्राप्त हुआ।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘बहुमत ओढ़े अत्याचारी अल्पसंख्यक है मोदी सरकार’, अरुंधति रॉय बोली- संविधान को ताक पर रख आजादी का जश्न मना रही सरकार
2 ऐसी आजादी से क्या लाभ? SC के पूर्व जज ने गरीबी, बेरोजगारी, भुखमरी, अल्पसंख्यकों पर जुल्म का मुद्दा उठाकर पूछा
3 प्रशांत भूषण ने की थी यूपीए-2 सरकार की आलोचना, कोल ब्लॉक आवंटन में कराई थी फजीहत, क्या इसीलिए कांग्रेस ने अवमानना केस में साध रखी है चुप्पी? चर्चा तेज
ये पढ़ा क्या?
X