scorecardresearch

Independence Day: ओवैसी ने अश्‍फाक उल्‍ला खान को लेकर जैसा कहा था, पीएम मोदी ने 15 अगस्‍त को लाल किले की प्राचीर से ठीक वैसा ही संदेश दे दिया

PM Modi Speech on Independence Day: पीएम मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आदिवासी समुदाय के क्रांतिकारियों का भी जिक्र किया।

Independence Day: ओवैसी ने अश्‍फाक उल्‍ला खान को लेकर जैसा कहा था, पीएम मोदी ने 15 अगस्‍त को लाल किले की प्राचीर से ठीक वैसा ही संदेश दे दिया
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (पीटीआई)

PM Modi Speech on Independence Day: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले पर तिरंगा फहराया। इस दौरान पीएम मोदी ने स्वतंत्रता सेनानियों का भी जिक्र किया। वहीं एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी का एक बयान वायरल हो रहा है, जिसमे उन्होंने पीएम मोदी से जो उम्मीद जताई थी, पीएम मोदी ने ठीक वैसा ही किया।

पीएम मोदी ने आज अपने भाषण के दौरान स्वतंत्रता सेनानियों का जिक्र करते हुए कहा, “देश के नागरिक महात्मा गांधी, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, बाबासाहेब अम्बेडकर और वीर सावरकर के आभारी हैं, जिन्होंने स्वतंत्रता प्राप्त करने के लिए अपने प्राणों की आहुति दी। यह देश मंगल पांडे, तात्या टोपे, भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु, चंद्रशेखर आजाद, अशफाकउल्ला खान, राम प्रसाद बिस्मिल और हमारे असंख्य क्रांतिकारियों का आभारी है, जिन्होंने ब्रिटिश शासन की नींव हिला दी थी।

दरअसल असदुद्दीन ओवैसी का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमे वह कह रहे हैं, “हमें उम्मीद है जब देश के पीएम मुल्क को संबोधित करेंगे, तब वह देश के मजलूमों का जिक्र करेंगे। हम उम्मीद करते हैं कि देश के पीएम 15 अगस्त को तिरंगा फहराएंगे, तब वह हुसैन अहमद मदनी, अशफाकउल्ला खान, मौलाना महमूद अहमद हसन, मौलाना काफी का जिक्र करेंगे। नहीं पता वह करेंगे या नहीं करेंगे, लेकिन हम तो करेंगे।”

पीएम नरेंद्र मोदी ने आज अपने भाषण के दौरान अशफाकउल्ला खान का जिक्र किया। इसी को लेकर कहा जा रहा है कि जैसा ओवैसी ने कहा, पीएम मोदी ने ठीक वैसा ही किया।

पीएम मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आदिवासी समुदाय के क्रांतिकारियों का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा, “जब हम स्वतंत्रता संग्राम की बात करते हैं, तो हम आदिवासी समुदाय को नहीं भूल सकते। भगवान बिरसा मुंडा, सिद्धू-कान्हू, अल्लूरी सीताराम राजू, गोविंद गुरु, ऐसे असंख्य नाम हैं जो स्वतंत्रता संग्राम की आवाज बने और आदिवासी समुदाय को देश के लिए जीने और मरने के लिए प्रेरित किया।”

पीएम मोदी ने लाल बहादुर शास्त्री का जिक्र करते हुए कहा, “शास्त्री जी का जय जवान, जय किसान का नारा हमें हमेशा याद रहता है। बाद में अटल बिहारी वाजपेयी ने इस नारे में जय विज्ञान जोड़ दिया। अब हमें जय अनुसंधान जोड़ने की जरूरत है। जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान और जय अनुसंधान।”

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट