ताज़ा खबर
 

पं.जवाहर लाल नेहरू ने 17, इंदिरा गांधी ने 16 बार फहराया था लाल किला पर तिरंगा, नरेंद्र मोदी ने बनाया यह रिकॉर्ड

वहीं, यूपीए काल में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह इस मामले में तीसरे पायदान पर हैं, जिन्होंने 10 बार तिरंगा लहराया था।

Independence Day 2019, Narendra Modi, BJP, NDA, Prime Minister, Hosting, Tirnaga, Tricolor, National Flag, Red Fort, Pandit Jawahar Lal Nehru, Indira Gandhi, Manmohan Singh, Atal Bihari Vajpayee, National News, Hindi News, Latest News, Jansatta Newsपीएम नरेंद्र मोदी ने गुरुवार (15 अगस्त, 2019) को लाल किले की प्राचीर से तिरंगा लहराने के मामले में एक खास रिकॉर्ड बनाया है। (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार (15 अगस्त, 2019) को 73वें स्वतंत्रता दिवस पर नई दिल्ली स्थित लाल किले की प्राचीर से तिरंगा लहराया। मोदी के लिए इस बार यह इसलिए भी खास था, क्योंकि यह लाल किले से तिरंगा लहराने का उनका लगातार छठा मौका था। वहीं, दोबारा सत्ता में आने के बाद यह पहला अवसर था, जब उन्होंने इस प्राचीर ने न सिर्फ राष्ट्रीय झंडा लगराया, बल्कि देश के नाम संबोधन भी दिया।

पीएम मोदी झंडा फहराने के मामले में इस बार भाजपा के दिवंगत पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के समकक्ष बन गए। बता दें कि लाल किले सबसे अधिक बार झंडा फहराने वालों की सूची में अटल जी और मोदी का नाम चौथे नंबर पर आता है। लाल किला से सबसे ज्यादा बार तिरंगा लहराने वालों की सूची में सबसे पहला नाम पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का नाम है, जिन्होंने अपने दौर में कुल 17 बार वहां की प्राचीर से राष्ट्रीय ध्वज लहराया था।

दूसरे स्थान पर उनकी सुपुत्री और पूर्व पीएम इंदिरा गांधी आती हैं, जिनके नाम 16 बार तिरंगा लहराने का रिकॉर्ड है। वहीं, यूपीए काल में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह इस मामले में तीसरे पायदान पर हैं, जिन्होंने 10 बार तिरंगा लहराया था।

आगे चौथे नंबर पर छह बार तिरंगा लहराने वालों में अटल जी और मोदी का नाम है, जबकि पांचवीं रैंक पर पीवी नरसिम्हा राव और राजीव गांधी हैं, जिन्होंने पांच-पांच बार लाल किले से 15 अगस्त को भाषण देने के साथ झंडा फहराया था।

लाल किले से किया यह अहम ऐलानः लाल किले से भाषण में मोदी ने घोषणा की कि सेना के तीनों अंगों के प्रमुख के तौर पर ‘चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ’ (सीडीएस) का पद बनाया जाएगा। बता दें कि साल 1999 में करगिल युद्ध के वक्त आया यह प्रस्ताव अब तक लंबित था। पीएम ने कहा कि सीडीएस थल सेना, नौसेना और वायु सेना के बीच तालमेल सुनिश्चित करेगा और उन्हें प्रभावी नेतृत्व देगा।

2019 से 2014 के बीच में 15 अगस्त को लाल किले पर कुछ ऐसा दिखा था PM मोदी का अंदाज। (फोटोः पीटीआई)

वैश्विक नेताओं ने 15 अगस्त पर दी मोदी को बधाईः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत को 73वें स्वतंत्रता दिवस पर विश्व के कई नेताओं ने बधाई देते हुए भारत को अपना घनिष्ठ मित्र बताया। मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहीम मोहम्मद सोलिह, नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली, भूटान के प्रधानमंत्री लोटाय त्शेरिंग पीएम मोदी को बधाई देने वाले पहले नेताओं में थे। जवाब में मोदी ने भी उन्हें धन्यवाद दिया और बोले कि भारत दोनों देशों के बीच मजबूत मित्रता को महत्व देता है। (पीटीआई-भाषा इनपुट्स के साथ)

Independence Day 2019: रंगीन साफे में मोदी, छठी बार लाल किले पर दिखाया ‘जादू’, इस मामले में कर ली अटल जी की बराबरी

Next Stories
1 दिल्लीः रक्षाबंधन पर CM अरविंद केजरीवाल की महिलाओं को बड़ी सौगात, DTC बस में दिवाली बाद से Free सफर
2 स्वतंत्रता दिवस पर भी कश्मीर में छाया रहा सन्नाटा, गश्त करते रहे जवान, जानें- राज्य के ताजा हालात
3 15 अगस्त के दिन भारत के अलावा दक्षिण कोरिया समेत इन देशों को मिली थी आजादी
ये पढ़ा क्या?
X