सोनू सूद से जुड़े छह ठ‍िकानों पर इनकम टैक्‍स का छापा पड़ने की खबर

आयकर विभाग का यह एक्शन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ अभिनेता की बैठक के कुछ दिनों बाद आया है। हाल ही में सीएम केजरीवाल ने सोनू सूद को दिल्ली के स्कूली छात्रों के लिए मेंटरशिप कार्यक्रम का ब्रांड एंबेसडर घोषित किया था।

Sonu Sood, BMC, Sonu Sood Vs BMC, Sonu Sood habitually criminal BMC Tells, BMC High Court ON Sonu Sood,
एक्टर सोनू सूद (फोटोसोर्स- सोनू सूद ऑफीशियल इंस्टाग्राम)

सूत्रों ने आज बताया कि अभिनेता सोनू सूद के मुंबई और लखनऊ स्थित ठिकानों पर आयकर विभाग ने छापेमारी की। आयकर विभाग के सूत्रों ने कहा, “सोनू सूद की कंपनी और लखनऊ की एक रियल एस्टेट फर्म के बीच हालिया सौदा जांच के दायरे में है। इस सौदे पर कर चोरी के आरोपों पर सर्वे अभियान शुरू किया गया है।” आयकर विभाग का यह एक्शन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ अभिनेता की बैठक के कुछ दिनों बाद आया है। हाल ही में सीएम केजरीवाल ने सोनू सूद को दिल्ली के स्कूली छात्रों के लिए मेंटरशिप कार्यक्रम का ब्रांड एंबेसडर घोषित किया था।

बैठक के बाद, सोनू सूद ने राजनीति में शामिल होने की संभावना पर सवालों के जवाब देने से इनकार कर दिया था। साथ ही उन्होंने कहा था कि उनका केजरीवाल की सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) में शामिल होने का इरादा नहीं है। मालूम हो कि 48 वर्षीय अभिनेता ने महामारी के दौरान बहुत से लोगों की मदद की थी और तारीफ बंटोरी थी। खासकर पिछले साल के लॉकडाउन में फंसे प्रवासी मजदूरों की सोनू ने मदद की थी और कुछ मामलों में तो फ्लाइट का इंतजाम भी किया था। सोनू सूद ने अपने कामों से लाखों लोगों को अपना प्रशंसक बना दिया है।

वैसे तो सोनू सूद ने राजनीति में शामिल होने की ओर कभी कोई झुकाव नहीं दिखाया, लेकिन हाल ही में अरविंद केजरीवाल के साथ उनकी बैठक के बाद अटकलें तेज हो गईं और कयास लगाए जाने लगे कि अभिनेता अगले साल पंजाब चुनाव लड़ सकते हैं। कुछ लोग इनकम टैक्स विभाग की इस कार्रवाई को इसी के मद्देनजर भी देख रहे हैं।

हालांकि भाजपा प्रवक्ता आसिफ भामला ने कहा, ” रेड का इससे कोई संबंध नहीं है। आयकर एक स्वतंत्र विभाग है, जिसका अपना प्रोटोकॉल है। यह अपना काम कर रहा है।” भामला ने कहा कि अभिनेता के सभी दलों के लोगों के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध हैं। लेकिन बीजेपी के आलोचकों ने सोनू सूद के ठिकानों पर रेड पर नाराजगी और हैरानी जताई।

आम आदमी पार्टी नेता राघव चड्ढा ने कहा: “सोनू सूद जैसे ईमानदार व्यक्ति पर एक आईटी छापेमारी, जिसे लाखों लोगों द्वारा मसीहा कहा गया है, जिसने दलितों की मदद की है। अगर उनके जैसे अच्छी सोच वाले व्यक्ति को राजनीतिक रूप से निशाना बनाया जा सकता है तो इससे पता चलता है कि वर्तमान शासन असंवेदनशील और राजनीतिक रूप से असुरक्षित है।”

वहीं, शिवसेना नेता आनंद दुबे ने कहा, “मैं स्तब्ध हूं। सोनू सूद ने जिस तरह से लाखों लोगों की मदद की है, इनकम टैक्स ने उनकी संपत्ति की तलाशी ली है। मुझे नहीं लगता कि वह कुछ भी अवैध कर सकता है।”

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट