ताज़ा खबर
 

2000 करोड़ रुपये के टैक्स की चोरी! शक के घेरे में भारत का सबसे बड़ा मीट एक्सपोर्टर

आयकर विभाग को भारत के सबसे बड़े मीट कारोबारी पर कथित रूप से 2000 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी का संदेह है। आयकर विभाग की तरफ से यह संदेह करीब तीन महीने पहले एलाना ग्रुप की यहां छापा मारने के बाद जाहिर किया गया है।

Author Updated: April 13, 2019 3:14 PM
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

आयकर विभाग ने देश के सबसे बड़े भैंस मीट कारोबारी पर कथित रूप से 2000 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी का संदेह जताया है। आयकर विभाग की तरफ से यह संदेह करीब तीन महीने पहले एलाना समूह की यहां मारे गए छापे के बाद व्यक्त किया गया है। इस बात की जानकारी मामले से जुड़े लोगों ने ईटी की दी।

खबर के अनुसार आयकर विभाग के अधिकारियों ने यह पाया कि यह कथित चोरी एक्सपोर्ट इनवॉइस और खर्च को बढ़ाकर दिखा की गई। विभाग की तरफ से सामने आई इस जानकारी को विभाग के ही असेसमेंट विंग से साझा किया जाएगा। इसके बाद कंपनी को नोटिस भेजा जाएगा। इससे पहले आयकर विभाग की मुंबई शाखा ने ग्रुप की कंपनियों के करीब 50 परिसरों की जांच की थी।

जांच की यह कार्रवाई आयकर विभाग की धारा 133 (ए) के अंतर्गत की गई थी। इसके अंतर्गत विभाग को यह अधिकार मिल जाता है कि वह कंपनी के खातों व अन्य दस्तावेजों की जांच कर सकती है। इस मामले में एलाना समूह से संपर्क करने पर कोई जवाब नहीं दिया गया। कंपनी से इस संबंध में ई-मेल भेजकर भी उसका पक्ष जानने की बात कही गई लेकिन खबर लिखे जाने तक उनका कोई जवाब नहीं आया था। खास सूचना के बाद आयकर विभाग ने कंपनी के विभिन्न स्थानों पर जांच की थी।

इस मामले में जांच पूरी हो चुकी है। जांच में तीन मौकों पर एक्सपोर्ट इनवॉइस और खर्च बढ़ाकर दिखा कर टैक्स चोरी के मामले सामने आए हैं। एक अधिकारी ने बताया जांच के अनुसार एक रिपोर्ट तैयार कर ली गई है और इससे मिले तथ्यों को असेसमेंट विभाग से साझा किया जाएगा। जांच में पाए गए तथ्यों के आधार पर असेसमेंट विंग की तरफ से नोटिस भेजा जाएगा।

इसके साथ ही असेसमेंट अधिकारी मामले की जांच करेगा और आदेश जारी करेगा। कंपनी को इस आदेश के खिलाफ अपील करने का अधिकार होगा। कंपनी की वेबसाइट के अनुसार एलाना ग्रुप की स्थापना 1865 में की गई थी। कंपनी ब्रांडेड प्रोसेस्ड फूड प्रोडक्ट्स और एग्री कॉमोडिटिज की देश में सबसे बड़ी निर्यातक है। कंपनी की मथुरा बाईपास रोड पर बफैलो मीट एक्सपोर्ट यूनिट भी है। कंपनी फिश एक्सपोर्ट के कारोबार से भी जुड़ी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 फ्रेंच अखबार का दावा- राफेल डील के बाद फ्रांस के अधिकारियों ने माफ किया अनिल अंबानी का 1100 करोड़ रुपये का टैक्स
2 Kerala Karunya Lottery KR-391 Today Results 04.13.2019 : यहां देखिए सभी विजेताओं के लॉटरी नंबर
3 सर्जिकल स्ट्राइक की अगुआई करने वाले अफसर बोले- मोदी सरकार से पहले भी जवाबी कार्रवाई के लिए खुले थे सेना के हाथ
जस्‍ट नाउ
X