ताज़ा खबर
 

मायावती के पूर्व सेक्रेटरी के यहां छापे में मिले 50 लाख रुपये के पेन, 300 करोड़ रुपये की बेनामी संपत्ति के दस्तावेज जब्त

आयकर विभाग ने मायावती सरकार में महत्वपूर्ण पदों पर रहे रिटायर्ड आईएसए अधिकारी नेतराम के दर्जन भर से अधिक परिसरों पर छापा मारकर करोड़ों रुपये की संपत्ति जब्त की है। विभाग को सूचना मिली थी कि नेतराम ने शेल कंपनियों करोड़ों रुपये लगा रखे हैं। विभाग ने 225 करोड़ रुपये की अवैध लेनदेन के दस्तावेज भी जब्त किए है। माना जा रहा पूर्व आईएसएस नेतराम राजनीति में उतरने के लिए टिकट हासिल करने की जुगत में लगे थे।

income tax department, raid, mayawati, ex secretary, properties, assets, mont blanc pen, IT, shell company, demontisationमायावती सरकार में पूर्व अधिकारी के यहां आयकर विभाग ने मारा छापा। फोटोः इंडियन एक्सप्रेस

मायावती के मुख्यमंत्री काल में महत्वपूर्ण पदों पर रहे उत्तर प्रदेश के सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी नेतराम के परिसरों पर आयकर विभाग ने छापा मारा। छापों में करोड़ों रुपये की संपत्ति, 1.64 करोड़ रुपये नकद और 300 करोड़ से अधिक की बेनामी संपत्तियों के दस्तावेज जब्त किए गए। ये छापे उप्र कैडर के 1979 बैच के पूर्व आईएएस अधिकारी से जुड़े लखनऊ, दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में दर्जन भर से अधिक स्थानों पर मारे गए। छापे में 50 लाख रुपये के मॉन्ट ब्लैंक पैन, 2.2 करोड़ रुपये नकद, मर्सडीज समेत चार लग्जरी वाहन भी जब्त किए गए। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी।

विभाग को विश्वसनीय जानकारी मिली थी कि पूर्व शीर्ष नौकरशाह और उनके सहयोगियों ने नोटबंदी के बाद और उससे पहले कोलकाता की शेल कंपनियों के नाम पर 95 करोड़ रुपये की फर्जी प्रविष्टियां दिखाईं। उन्होंने कहा कि अब भी जारी तलाशी में विभाग ने लखनऊ और दिल्ली के तीन घरों से 1.64 करोड़ रुपये की नकदी बरामद की। जबकि माना जा रहा है कि 50 लाख रुपये एक बैंक लॉकर में रखे हैं जिसे जल्द खोला जाएगा। अधिकारियों ने कहा कि नकदी में दो दो हजार रुपये के नये नोटों की गड्डियां बरामद की गईं। अधिकारियों ने कहा कि पूर्व नौकरशाह उत्तर प्रदेश की एक पार्टी से लोकसभा चुनाव की टिकट पाने की बातचीत में लगे थे और इसीलिए वह आयकर विभाग की जांच के दायरे में आए।

अधिकारियों ने 50 लाख रुपये मूल्य के मोंट ब्लैंक पेन, एक मर्सिडीज एवं दो फॉरच्यूनर सहित चार ‘बेनामी’ आलीशान कारें और करीब 225 करोड़ रुपये की अवैध संपत्ति के दस्तावेज भी बरामद किये। अधिकारियों ने 30 शेल  कंपनियों से संबंधित दस्तावेज भी बरामद किए।  इनकी जांच की जा रही है। इन कंपनियों में नेतराम के परिजनों और ससुराल के लोगों की हिस्सेदारी है। छापेमारी में दिल्ली (केजी मार्ग और ग्रेटर कैलाश 1) और मुंबई (चरनी रोड और हुगेस रोड) के पॉश इलाकों की छह संपत्तियों तथा कोलकाता के तीन घरों का पता चला है। इन संपत्तियों को 95 करोड़ रुपये के अवैध धन से खरीदा गया था। नेतराम 2003-05 के दौरान उत्तर प्रदेश की तत्कालीन मुख्यमंत्री के सचिव थे। यह अधिकारी उत्तर प्रदेश में आबकारी, गन्ना उद्योग विभाग, डाक एवं पंजीकरण, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभागों के प्रमुख रह चुके हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चीन ने यूएन में फिर चली चाल, मसूद अजहर को नहीं घोषित होने दिया “ग्लोबल टेररिस्ट”
2 LoC के पास उड़े दो पाकिस्तानी सुपरसोनिक जेट, हाई अलर्ट पर भारत
3 राफेल विवाद: रक्षा मंत्रालय का सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा- संवेदनशील कागजातों से खिलवाड़ करने वालों को दें दंड
IPL 2020 LIVE
X