ताज़ा खबर
 

विपक्षी नेता के खिलाफ छापे से पक्की हुई CBDT चेयरमैन की कुर्सी!!! बड़े टैक्स अधिकारी पर महिला IT अफसर के गंभीर आरोप

अलका त्यागी की शिकायत में कई तरह की अनियमितताओं का जिक्र है। इसमें यह भी प्रमुख आरोप है कि कैसे सीबीडीटी चेयरमैन ने लगातार त्यागी को 'गंभीर आरोपों' से जुड़े 'एक संवेदनशील केस' में जारी 'प्रक्रियाओं' को रोकने के लिए कहा।

Central board of texas, chairman, Pramod Chandra Mody, opposition leader, Alka Tyagi, Chief Commissioner of Income Tax, Union Finance Minister Nirmala Sitharaman, PMO, CVC, Cabinet secretary, Principal Chief Commissioner S K Gupta, india news, Hindi news, news in Hindi, latest news, today news in Hindiसेंट्रल बोर्ड ऑफ टैक्सेज के चेयरमैन प्रमोद चंद्र मोदी। (फाइल फोटो)

देश के बड़े टैक्स अधिकारी और सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज (CBDT) के चेयरमैन प्रमोद चंद्र मोदी पर एक महिला टैक्स अधिकारी ने सनसनीखेज आरोप लगाए हैं। उनके मुताबिक, मोदी ने एक ‘संवदेनशील’ मामले को दबाने के लिए ‘हैरान कर देने वाला’ निर्देश दिया। महिला अफसर के मुताबिक, मोदी ने उनके सामने यहां तक दावा किया कि उनका इस शीर्ष पर पद काबिज रहना विपक्ष के एक नेता के खिलाफ एक ‘कामयाब जांच अभियान’ चलाने की वजह से मुमकिन हो पाया।

मोदी पर ये आरोप अल्का त्यागी ने लगाए हैं। त्यागी ने 21 जून को अपनी शिकायत केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के पास भेजी थी। उस वक्त वह मुंबई में चीफ कमिश्नर ऑफ इनकम टैक्स (यूनिट 2) के तौर पर कार्यरत थीं। इससे एक महीने पहले ही देश में नई सरकार बनी थी। त्यागी की ओर से भेजी गई 9 पेज की शिकायत के बारे में द इंडियन एक्सप्रेस को जानकारी मिली है। इसके मुताबिक, त्यागी ने आरोप लगाया कि मोदी की तरफ से उन पर ‘काफी ज्यादा दबाव’ बनाया गया था। सूत्रों ने इस बात की पुष्टि की है कि त्यागी ने ऐसी ही शिकायत पीएमओ, सेंट्रल विजिलेंस कमिशन और कैबिनेट सेक्रेटरी को भी भेजी है।

इस महीने की शुरुआत में द इंडियन एक्सप्रेस ने त्यागी के दफ्तर में सेंध लगने की खबर दी थी। महिला अधिकारी ने इस बारे में लिखित में अपनी शिकायत प्रिंसिपल चीफ कमिश्नर एसके गुप्ता से की थी। 1984 बैच की आईआरएस अधिकारी त्यागी ने आरोप लगाया है कि एक पुराने विजिलेंस केस के जरिए उन पर दबाव बनाया जा रहा है। उनके मुताबिक, मोदी ने खुद इस केस का निस्तारण कर दिया और उन्हें क्लीनचिट दे दी गई थी लेकिन बाद में इसे फिर खोला गया और इसे ‘ब्लैकमेलिंग के हथियार’ के तौर पर उनके खिलाफ इस्तेमाल किया गया।

इस शिकायत के दो महीने बाद सरकार ने मोदी का कार्यकाल एक साल के लिए बढ़ा दिया था। वहीं, प्रिंसिपल चीफ कमिश्नर ऑफ इनकम टैक्स के पद पर प्रमोट किए जाने का इंतजार कर रहीं त्यागी को गुरुवार को नागपुर स्थित नैशनल अकादमी ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज का प्रिंसिपल डायरेक्टर जनरल ऑफ इनकम टैक्स (ट्रेनिंग) बना दिया गया।

त्यागी की शिकायत में कई तरह की अनियमितताओं का जिक्र है। इसमें यह भी प्रमुख आरोप है कि कैसे सीबीडीटी चेयरमैन ने लगातार त्यागी को ‘गंभीर आरोपों’ से जुड़े ‘एक संवेदनशील केस’ में जारी ‘प्रक्रियाओं’ को रोकने के लिए कहा। इस शिकायत में त्यागी ने आरोप लगाया कि मोदी ने उनके सामने ‘कबूला’ है कि ‘विपक्षी पार्टी के एक नेता के खिलाफ उनकी अगुवाई में चलाए गए एक कामयाब छापे की वजह से उनकी सीबीडीटी चेयरमैन की कुर्सी सुनिश्चित हुई। त्यागी के मुताबिक, मोदी ने यह भी दावा किया कि वह कुछ अफसरों के खिलाफ निरंकुश ढंग से ऐक्शन ले सकते हैं।

पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 National Hindi News, 5 October Top Breaking 2019: बांग्लादेश के साथ भारत के रिश्तों में नई मजबूती आई है – पीएम मोदी
2 Weather Forecast: भोपाल में बारिश से मौसम सुहाना, इन इलाकों में बारिश की संभावना
3 रेलवे ने रद्द कर दीं 258 ट्रेन, 78 के बदले रूट
IPL 2020 LIVE
X