scorecardresearch

यूपीः ओवैसी की AIMIM के पोस्टर पर नरसिंहानंद सरस्वती और वसीम रिजवी के सिर कलम करते दिखाया गया, लिखा- एक ही सजा, सिर तन से जुदा; FIR दर्ज

उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी की तरफ से याचिका दायर की गयी थी कि कुरान की 26 आयते आतंक को बढ़ावा देती है, उन्हें हटा दिया जाना चाहिए।

AIMIM,Narasimhanand Saraswati,Wasim Rizvi
शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी (फोटो – इंडियन एक्सप्रेस)
उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी और डासना देवी मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती के खिलाफ AIMIM की तरफ से पोस्टर लगाए गए हैं। पोस्टर में दोनों के ही सिर कलम करते दिखाया गया है। पोस्टर पर लिखा गया है- एक ही सजा, सिर तन से जुदा। पुलिस ने विवादित पोस्टर को लेकर मामला दर्ज कर लिया है।

बताते चलें कि नरसिंहानंद सरस्वती और वसीम रिजवी को लेकर जारी पोस्टर को सोशल मीडिया में काफी शेयर किया जा रहा है।  गौरतलब है कि इससे पहले मध्य प्रदेश की बालाघाट में भी उनके खिलाफ पोस्टर लगाए गए थे। जिसके बाद पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया था। महंत के पोस्टर लगाए जाने पर विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल की तरफ से शिकायत की गयी थी। सभी गिरफ्तार आरोपियों के विरुद्ध धारा 153-ए, 295-ए और 34 के आधार पर केस दर्ज कर लिया गया है।

AIMIM की तरफ से लगाया गया पोस्टर (फोटो- ट्विटर -@Asthakaushik05)

इससे पहले बरेली के इस्लामिया ग्राउंड में जुमे की नमाज के बाद बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा हुए थे और सभी ने यति नरसिंहानंद के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की थी।

वसीम रिजवी से भी हैं लोग नाराज: उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी की तरफ से याचिका दायर की गयी थी कि कुरान की 26 आयते आतंक को बढ़ावा देती है, उन्हें हटा दिया जाना चाहिए। जिससे कि आतंकी गतिविधियों में मुस्लिम समुदाय का नाम न जुड़ सके।

हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने कुरान की आयतों के खिलाफ याचिका को खारिज कर दिया है। इसके साथ ही अदालत ने उनके ऊपर पचास हजार रुपये जुर्माना भी लगाया है।याचिका के बाद से वसीम रिजवी का कई मुस्लिम संगठनों ने विरोध किया है। खुद रिजवी के परिवार के लोगों ने भी उनका विरोध किया है। रिजवी की मां और भाई ने उनसे अपना नाता तोड़ लिया है।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.