ऑस्ट्रेलिया में छह महीने में लगे 2.38 लाख टीके, यहां नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर 2,50,10,390- गैर भाजपा सरकारों ने भी यह रिकॉर्ड बनाने में दिया भारी योगदान

कर्नाटक ने देश में सर्वाधिक 26.9 लाख खुराक दी, जबकि बिहार में 26.6 लाख से अधिक खुराक दी गई। वहीं, उत्तर प्रदेश में 24.8 लाख से अधिक खुराक, मध्य प्रदेश में 23.7 लाख से अधिक खुराक और गुजरात में 20.4 लाख से अधिक खुराक दी गई।

COVID-19 vaccination, Covid vaccination, Karnataka COVID-19 vaccination, Bihar COVID-19 vaccination, Uttar Pradesh COVID-19 vaccination, Madhya Pradesh COVID-19 vaccination, Gujarat COVID-19 vaccination, india COVID-19 vaccination, PM Modi birthday, india news,
भारत ने कोविड-19 टीके की 2.26 करोड़ से अधिक खुराक देकर एक रिकॉर्ड बनाया। (Photo: PTI)

भारत ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 71वे जन्मदिन के अवसर पर टीकाकरण अभियान को बड़ा प्रोत्साहन देते हुए कोविड-19 टीके की 2.26 करोड़ से अधिक खुराक देकर एक रिकॉर्ड बनाया। 16 जनवरी को भारत में टीकाकरण अभियान शुरू हुआ था। उसके बाद से एक दिन यह सबसे अधिक टीके लगाए गए हैं। वहीं ऑस्ट्रेलिया में छह महीने में अबतक 2.38 लाख टीके लगे हैं।

पीएम के जन्मदिन पर भाजपा शासित राज्यों में भारी संख्या में टीके लगाए गए। कर्नाटक, बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और गुजरात जैसे प्रत्येक राज्यों में 20 लाख से अधिक खुराक लगाई गई। वहीं इस रिकॉर्ड को बनाने में गैर भाजपा सरकारों का भी बड़ा हाथ रहा। को-विन पोर्टल पर उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक, मध्यरात्रि तक 2,50,10,390 टीके की खुराक दी गई, जिससे कुल टीकाकरण की संख्या 79.33 करोड़ हो गई। शुक्रवार के रिकॉर्ड टीकाकरण के साथ, अनुमानित वयस्क आबादी के 63% को इसकी पहली खुराक मिल गई है, जबकि 21% पूरी तरह से टीकाकरण कर चुके हैं।

इस उपलब्धि की सराहना करते हुए प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, ‘‘हर भारतीय आज रिकार्ड संख्या में किये गये टीकाकरण को लेकर गौरवान्वित होगा। मैं टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए हमारे चिकित्सकों, नवोन्मेषकों , प्रशासकों, नर्सों, स्वास्थ्य सेवा और अग्रिम मोर्चे के सभी कर्मियों की सराहना करता हूं। कोविड-19 को हराने के लिए टीकाकरण को बढ़ावा देते रहें।’’

कर्नाटक ने देश में सर्वाधिक 26.9 लाख खुराक दी, जबकि बिहार में 26.6 लाख से अधिक खुराक दी गई। वहीं, उत्तर प्रदेश में 24.8 लाख से अधिक खुराक, मध्य प्रदेश में 23.7 लाख से अधिक खुराक और गुजरात में 20.4 लाख से अधिक खुराक दी गई।

शुक्रवार तक, गुजरात, मध्य प्रदेश और कर्नाटक ने अपनी 75% आबादी को कम से कम एक खुराक लगा दी है। गुजरात (84%), मध्य प्रदेश (80%), कर्नाटक (78.5%) उत्तर प्रदेश (51.24%) और बिहार (55.53%) ने अबतक टीके लगाए हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने ट्वीट किया, ‘‘वैक्सीन सेवा को चरितार्थ करते हुए स्वास्थ्य कर्मियों एवं देशवासियों की तरफ़ से प्रधानमंत्री जी को उपहार। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के जन्मदिन पर आज भारत ने नया कीर्तिमान स्थापित करते हुए एक दिन में टीके की दो करोड़ खुराक लगाने का ऐतिहासिक आंकड़ा पार किया है।’’

चौथी बार एक दिन में एक करोड़ से ज्यादा खुराकें दी गईं। मांडविया ने कहा कि देश ने अब तक सबसे तेज एक करोड़ खुराकें देने का आंकड़ा पार कर लिया है। स्वास्थ्य मंत्री ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के जन्मदिवस पर देश ने दोपहर 1:30 बजे तक अब तक के सबसे तेज, एक करोड़ खुराकें देने का आंकड़ा पार कर लिया है और हम निरंतर आगे बढ़ रहे हैं। मुझे विश्वास है की आज हम सब टीकाकरण का नया कीर्तिमान बना कर प्रधानमंत्री जी को उपहार स्वरूप देंगे।’’

देश में छह सितंबर, 31 अगस्त, 27 अगस्त को एक करोड़ से अधिक खुराकें दी गई थीं। मांडविया ने बृहस्पतिवार को कहा था कि जिन्होंने टीके की खुराक नहीं ली है, ऐसे अपनों को, परिजनों को और समाज के सभी तबकों को शुक्रवार को प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर टीका लगवाकर, उनको जन्मदिन का उपहार दिया जाए।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने देश भर में अपनी इकाइयों से प्रधानमंत्री के जन्मदिन के अवसर पर बड़ी संख्या में लोगों का टीकाकरण कराने में मदद करने को कहा है। मंत्रालय के मुताबिक, भारत को टीकाकरण के 10 करोड़ आंकड़े तक पहुंचने में 85 दिन लगे। इसके बाद अगले 45 दिन में 20 करोड़ तथा इसके 29 दिन बाद 30 करोड़ के आंकड़े पर देश पहुंचा था।

वहीं, 30 करोड़ से 40 करोड़ के आंकड़े तक पहुंचने में 24 दिन लगे और इसके 20 दिन बाद छह अगस्त को 50 करोड़ के आंकड़े पर पहुंच गए। इसके 19 दिन बाद देश ने 60 करोड़ आंकड़े का तथा इसके महज 13 दिनों बाद 60 करोड़ आंकड़े का लक्ष्य हासिल किया। मंत्रालय के मुताबिक 13 सितंबर को 75 करोड़ लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य हासिल हुआ। देश में 16 जनवरी को पहले चरण में स्वास्थ्यकर्मियों को टीके दिए जाने के साथ टीकाकरण अभियान की शुरुआत की गई थी। अग्रिम मोर्चे के कर्मियों के लिए दो फरवरी से टीकाकरण शुरू हुआ।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट