संबित पात्रा ने राहुल गांधी को बताया बच्चा, कहा- इंक फैल गया, सुप्रिया श्रीनेत ने दिया जवाब

सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि मैं एक नागरिक होने के नाते ये पूछ रही हूं कि वो दिन कब आएगा जब प्रधानमंत्री एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे? बिना स्क्रिप्ट के इंटरव्यू करेंगे?

sambit patra, supriya shrinate, news 18, sambit patra in tv debate show, rahul gandhi, rahul gandhi on democracy, rahul gandhi on indian democracy, v dem, freedom house democracy report, narendra modi,
कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा।

न्यूज 18 इंडिया के एक शो में भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को बच्चा बता दिया। एंकर अमिश देवगन ने संबित पात्रा से पूछा था कि राहुल गांधी ने एक इंटरव्यू में कहा है कि गद्दाफी और सद्दाम हुसैन भी चुनाव करवाते थे भारत में भी ऐसे ही चुनाव होते हैं? जवाब में संबित पात्रा ने राहुल गांधी की तुलना परीक्षा में असफल होने वाले बच्चे से कर दी।

संबित पात्रा ने कहा कि पहली बात है कि राहुल गांधी को पूरा देश गंभीरता से लेता नहीं है। साथ ही उन्होंने कहा कि एक बच्चा होता है जो एग्जाम में अच्छे रिजल्ट नहीं आने पर कहता है कि इंक फैल गया जी। प्रश्न पत्र कठिन था, टीचर ने सब को अधिक समय दिया, घंटी मेरे लिए पहले बज गयी। राहुल गांधी भी उसी तरह से अपने आप को बचाने में लगे रहते हैं। उनके नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी को बार-बार हार का सामना करना पड़ रहा है। इस कारण वो बहाना बनाने में लगे हैं।

एंकर अमिश देवगन ने कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत से भी वही सवाल पूछा जवाब देते हुए सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि मैं एक नागरिक होने के नाते ये पूछ रही हूं कि वो दिन कब आएगा जब प्रधानमंत्री एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। बिना स्क्रिप्ट के इंटरव्यू करेंगे। कुछ ऐसे सवालों के जवाब देंगे जो संभवत: लोगों को कठिन लगते हैं। मुझे नहीं लगता है कि वो दिन कभी आएगा। मोदी जी तो सवालों का जवाब ही नहीं देते हैं। वैसे उम्मीद करना तो प्रधानमंत्री से हमारा भी हक है।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने कहा है कि इस देश में चुनाव हो रहा है इस बात में हमें दिक्कत नहीं है। हमें दिक्कत है कि किस तरह से चुनाव हो रहे हैं। आज इस देश में पत्रकारों को छात्रों को सरकार से सवार पूछने के लिए जेल जाना पड़ता है।

सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि क्या निर्वाचित सरकार को हटाना लोकतंत्र है? इसे एक नया शब्द चाण्क्य नीति बतायी जा रही है। यह अनैतिक है, हर तरह से पाप है और गलत है। तमाम सरकार है जिसे बीजेपी ने ई़डी, सीबीआई और पैसों के बल पर बनाया है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट