ताज़ा खबर
 

जम्मू और कश्मीर: मुठभेड़ में किशोर के घायल होने पर भीड़ हुई हिंसक, सरकारी क्वार्टर में लगाई आग

अधिकारी ने बताया कि लड़के को विशेष उपचार के लिए श्रीनगर भेजा गया जहां उसे एसएमएचएस अस्पताल में भर्ती कराया गया। उन्होंने कहा कि युवकों का एक समूह गांव में एक कृषि फार्म में घुस गया और स्टाफ क्वार्टर में आग लगा दी।

Author श्रीनगर | March 7, 2016 10:10 PM
भीड़ ने यह प्रदर्शन हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकवादी दाउच्च्द अहमद शेख के कल रात सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारे के जाने के विरोध में किया। ( file photo)

मुठभेड़ में एक आतंकवादी के मारे जाने के एक दिन बाद उग्र भीड़ सोमवार को हिंसक हो गई और कश्मीर के कुलगाम जिले के कुछ हिस्सों में सुरक्षा बलों के साथ उनका संघर्ष हुआ, जहां एक आतंकवादी की मौत पर शोक मनाने के लिए स्वत: हड़ताल का आह्वान किया गया।
एक अधिकारी ने बताया कि संघर्ष में 16 वर्षीय एक लड़के के चेहरे और पेट में छर्रे की गंभीर चोट लगी जबकि उग्र भीड़ ने एक सरकारी क्वार्टर में आग लगा दी। भीड़ ने यह प्रदर्शन हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकवादी दाउच्च्द अहमद शेख के कल रात सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारे के जाने के विरोध में किया।

अधिकारी ने बताया कि संघर्ष मारे गए आतंकवादी के जनाजे की नमाज के बाद कोईमोह के निकट खुदवानी में हुआ।  उन्होंने कहा कि सुरक्षा बलों ने भीड़ के पथराव करने के बाद उन्हें तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले और छर्रे दागे। अधिकारी ने बताया कि लड़के को विशेष उपचार के लिए श्रीनगर भेजा गया जहां उसे एसएमएचएस अस्पताल में भर्ती कराया गया।  उन्होंने कहा कि युवकों का एक समूह गांव में एक कृषि फार्म में घुस गया और स्टाफ क्वार्टर में आग लगा दी।

हालांकि, आगजनी की घटना में कोई भी घायल नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि आग को बाद में बुझा दिया गया और प्रदर्शनकारियों को खदेड़ दिया गया। अधिकारी ने बताया कि स्थानीय प्रशासन ने जनाजे के जुलूस के दौरान कानून व्यवस्था की समस्या पैदा होने के डर से संवेदनशील क्षेत्रों में अच्छी खासी संख्या में पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों को तैनात किया। हालांकि, आतंकवादी के जनाजे की नमाज में हजारों लोगों ने हिस्सा लिया। उसे किमोह में उसके पैतृक गांव में सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया। अधिकारी ने कहा कि शहर में हालात तनावपूर्ण मगर नियंत्रण में है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App