ताज़ा खबर
 

राजीव प्रताप रूढ़ी के सवाल पर संबित पात्रा करने लगे इधर-उधर की बात, बोली एंकर- प्लीज…तर्क गले से नीचे नहीं उतर रहे

एंकर ने सवाल किया कि किसी भी बड़े नेता का ड्राइवर अगर चला जाता है तो क्या उनका काम बंद हो जाता है? राजीव प्रताप रूढ़ी का ड्राइवर अगर चला जाए तो क्या वो 15 दिन इंतजार करेंगे?

संबित पात्रा डिबेट के दौरान भड़क गए (फाइल फोटो)

बिहार के सारण से सांसद पूर्व केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूढ़ी के गांव में रखे गए एंबुलेंस को लेकर बीजेपी पर हमले तेज होते जा रहे हैं। विपक्षी दल और मीडिया की तरफ से बीजेपी से सवाल किए जा रहे हैं। आजतक के एक शो में जब संबित पात्रा राजीव प्रताप रूढ़ी के सवाल पर इधर-उधर की बात करने लगे तो एंकर ने उनसे कहा कि प्लीज…तर्क गले से नीचे नहीं उतर रहे आपके।

एंकर चित्रा त्रिपाठी ने संबित पात्रा से कहा कि हमें कुछ बताने की जरूरत नहीं है तस्वीरें काफी कुछ कह रही है। कोरोना के समय में भी अगर ऐसी बातें सामने आएगी तो बिहार की जनता नेताओं को लेकर क्या सोचेगी? जवाब देते हुए संबित पात्रा ने कहा कि जिलाधिकारी के पास सभी रिकॉर्ड में था साथ ही उन्होंने कहा कि यह बात गलत है कि डेढ़ साल से एंबुलेंस रखी हुई है। उनके जवाब पर एंकर ने कहा कि आपकी बात गले नहीं उतर रही है।

उन्होंने सवाल किया कि किसी भी बड़े नेता का ड्राइवर अगर चला जाता है तो क्या उनका काम बंद हो जाता है? राजीव प्रताप रूढ़ी का ड्राइवर अगर चला जाए तो क्या वो 15 दिन इंतजार करेंगे? आपको पता है कि लोग वहां पर मर रहे हैं।

संबित पात्रा ने कहा कि वहां पर 65 एंबुलेंस राजीव प्रताप जी के द्वारा संचालित किए जा रहे हैं। एंकर ने कहा वही बात मैं पूछ रही हूं अगर 65 चल रही है तो 25 को सजा कर क्यों रखा गया था? संबित पात्रा ने कहा कि 25 नहीं 18 है वो। पहले संख्या ठीक कर लें।

संबित पात्रा ने कहा कि पप्पू यादव ने सात वेंटिलेटर अपने घर में रखा है। एंकर ने पलटवार करते हुए कहा कि पकड़ कर ले जाइए सरकार आपकी है। अगर आपको लगता है कि पप्पू यादव गलत कर रहे हैं तो उन्हें गिरफ्तार कर के जेल में डाल दीजिए।

Next Stories
1 गाजीपुर प्रदर्शन स्थल पर बोले किसान- यहां कोरोना नहीं, जहां बीजेपी वहीं बीमारी
2 चुनावी समर में बगैर मास्क के घूमते थे सरमा, कहा था- बेकार में पैनिक क्यों कर रहे हो? जब होगा, तब बता दूंगा
3 ‘गौशाला’ में कोविड केंद्र, दूध, घी-गोमूत्र से बनीं दवा से इलाज, गुजरात के गांव में संक्रमण से ऐसे लड़ी जा रही जंग
ये  पढ़ा क्या?
X