ताज़ा खबर
 

गले लगाने से पहले पाकिस्‍तान के आर्मी चीफ ने नवजोत सिंह सिद्धू से कही यह बात

कांग्रेसी नेता के मुताबिक, "पहली पंक्ति में बैठे मेहमानों को पाकिस्तान की तीनों सेनाओं के प्रमुखों से मिलावाया जाना था। तभी सेना प्रमुख बाजवा मेरे पास आए। हम दोनों के बीच हल्की-फुल्की बाचतीत हुई।"

कांग्रेसी नेता नवजोत सिंह सिद्धू। (एक्सप्रेस फोटोः कमलेश्वर सिंह)

कांग्रेस नेता और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू सुर्खियों में हैं। कारण- पाकिस्तान के सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा से उनका गले मिलना है। दोस्त, पूर्व क्रिकेटर और पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह में सिद्धू-बाजवा की बात भी हुई थी। देश में कई जगह सिद्धू की इसे लेकर आलोचना हुई। कांग्रेसी नेता ने पाक जाने और वहां के सेना प्रमुख से गले मिलने को लेकर एक चैनल से बात की। उन्होंने बताया कि बाजवा ने शांति की बात पर बल दिया था।

शनिवार (18 अगस्त) को खान ने पीएम पद की शपथ ली। कार्यक्रम के लिए उन्होंने क्रिकेट के दिनों के अपने साथी (भारतीय) को निमंत्रण भेजा, जिसमें सुनील गावस्कर, कपिल देव और सिद्धू के नाम थे। इन तीनों में केवल सिद्धू ही इस्लामाबाद पहुंचे, जहां कार्यक्रम में बाजवा से उनकी मुलाकात हुई। दोनों एक दूसरे के गले मिले, उससे पहले बाजवा ने सिद्धू से कुछ कहा था।

कांग्रेसी नेता के मुताबिक, “पहली पंक्ति में बैठे मेहमानों को पाकिस्तान की तीनों सेनाओं के प्रमुखों से मिलावाया जाना था। तभी वहां के सेना प्रमुख बाजवा मेरे पास आए। हम दोनों के बीच हल्की-फुल्की बाचतीत हुई।” वह बोले थे, “मैं जनरल हूं, जो क्रिकेटर बनना चाहता था।” आगे गंभीर विषयों पर आते हुए सेना प्रमुख ने कहा कि हम (पाक) शांति चाहते हैं।

कार्यक्रम के दौरान सिद्धू को मेहमानों वाली पहली पंक्ति में बैठाया गया था। (फोटोः ANI)

बाजवा ने अपने स्तर पर यह भी कहा कि इस्लामाबाद अगले साल गुरु नानक देव की 500वीं जयंती पर करतारपुर में गुरुद्वारा दरबार साहिब के लिए कॉरिडोर खोल देगा। सिद्धू ने इस पर जवाब दिया, “यह सपना सच होने जैसा है।” चैनल से सिद्धू यह भी बोले, “मैं हमेशा सकारात्मक सोच रखता हूं। मैं उस नीले महासागर में तैरना चाहता हूं, जहां सबके लिए जगह हो। लेकिन ज्यातर मुझे लाल सागर ही दिखाई देता है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 डूब रहा था भारतीय जंगी बेड़ा फिर भी नहीं छोड़ी शिप, बेखौफ सिगरेट के कश लगाते रहे कैप्टन मुल्ला, पढ़ें वीरता की कहानी
2 बीजेपी टिकट पर दिल्‍ली से चुनाव लड़ सकते हैं गौतम गंभीर : रिपोर्ट्स
3 Atal Bihari Vajpayee: देश भर की 100 नदियों में विसर्जित होंगी वाजपेयी की अस्थियां, हरिद्वार के पुरोहितों में हुआ विवाद