ताज़ा खबर
 

बौखलाए पाक पीएम ने हिटलर के नाजी से की RSS की तुलना, कहा- कश्मीर का डेमोग्राफी बदलना चाहती है मोदी सरकार

दुनिया भर से लताड़ खाने के बाद इमरान खान ने पीएम मोदी पर आरोप लगाया है कि वो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के एजेंडे पर चलते हुए कश्मीर में कदम उठा रहे हैं। खान ने RSS की तुलना हिटलर के नाजी से की है।

Author नई दिल्ली | August 11, 2019 6:55 PM
पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने RSS की तुलना हिटलर की नाजी से की है।

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 के प्रावधानों को खत्म करने और राज्य को केंद्र शासित प्रदेश बनाने के भारत सरकार के फैसले से पाकिस्तान में खलबली है। पाक प्रधानमंत्री इमरान खान ने रविवार (11 अगस्त) को कई ट्वीट कर आरोप लगाया कि मोदी सरकार कश्मीर का डेमोग्राफी बदलना चाहती है। खान ने लिखा है, “नैतिक सफाई के माध्यम से कश्मीर की जनसांख्यिकी को बदलने का प्रयास किया जा रहा है। सवाल यह है कि क्या दुनिया यही देखकर खुश होती रहेगी जैसा कि म्यूनिख में हिटलर के नरसंहार को देखकर किया था?”

दुनिया भर से लताड़ खाने के बाद इमरान खान ने पीएम मोदी पर आरोप लगाया है कि वो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के एजेंडे पर चलते हुए कश्मीर में कदम उठा रहे हैं। खान ने RSS की तुलना हिटलर के नाजी से की है। पाक पीएम ने लिखा है, “मुझे डर है कि आरएसएस की हिंदू विचारधारा की यह विचारधारा नाज़ी आर्यन वर्चस्व की तरह नहीं रुकेगी; इसके बजाय भारत में मुसलमानों का दमन होगा और अंततः पाकिस्तान को भी निशाना बनाया जाएगा। हिंदू वर्चस्ववाद हिटलर के लेबेन्सरम का ही संस्करण है।”

बता दें कि इमरान खान की बौखलाहट तब सामने आई है, जब भारत सरकार ने संविधान के अनुच्छेद 370 के उन प्रावधानों को एक बिल द्वारा खत्म कर दिया जो जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देता था। इतना ही नहीं सरकार ने जम्मू-कश्मीर को दो हिसस्सों में बांट दिया और दोनों हिस्सों (लद्दाख और जम्मू-कश्मीर) को केंद्र शासित प्रदेश बना दिया। कश्मीर के सभी प्रमुख नेताओं को ऐतिहातन नजरबंद कर दिया और वहां सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए।

इससे परेशान पाकिस्तान ने सबसे पहले भारत से व्यापारिक रिश्ता तोड़ दिया फिर राजनयिक संबंध भी घटा लिए। बाद में पाकिस्तान ने समझौता एक्सप्रेस, थार एक्सप्रेस और लाहौर-नई दिल्ली बस सेवा को भी रोक दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App