ताज़ा खबर
 

मौसम की मार: तपती लू से महीने के अंत में मिलेगी राहत

आइएमडी के क्षेत्रीय मौसम विज्ञान विभाग के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि पश्चिमी विक्षोभ और पुरवाई हवाओं के कारण दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में 29-30 मई को धूल भरी आंधी चलने और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है।

Author नई दिल्ली | Published on: May 26, 2020 5:30 AM
भीषण गर्मी से बेहाल लोग स्नान करके खुद को राहत पहुंचा रहे हैं।

दिल्ली सहित समूचे पश्चिमोत्तर भारत में तेज लू का प्रकोप जारी है। पारा आने वाले दिनों में 47 डिग्री तक जा सकता है। दिन ही नहीं रातें भी लू की तपिश से बेहाल हैं। लू से होने वाले खतरे की आशंका को देखते हुए भारतीय मौसम विभाग ने दिल्ली सहित पांच राज्यों के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। लोगों का सलाह दी गई है कि बहुत जरूरी हो तभी घरों से निकलें।

दिन में एक से पांच बजे के बीच घरों में रहे और सिर को ढक कर बाहर निकलें। वहीं, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आइएमडी) ने सोमवार को कहा कि उत्तर भारत के अनेक हिस्सों में 29-30 मई को धूल भरी आंधी चलने और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है जिससे लू के प्रकोप से राहत मिल सकती है।

दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, चंडीगढ़, हरियाणा, मध्य प्रदेश व विदर्भ के कुछ इलाके भीषण गर्मी की चपेट में हैं। देश के इन अधिकांश हिस्सों में अधिकतम तापमान औसत से पांच से सात डिग्री ऊपर चल रहा है। आने वाले दो दिनों में इसमें और इजाफे की आशंका जताई गई है। भारतीय मौसम विभाग व स्काईमेट वेदर का अनुमान है कि दिल्ली में तापमान 26 व 27 मई को 47 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है।

सोमवार को भी दिल्ली में सबसे अधिक तापमान आयानगर का रहा जहां इस दिन पांच डिग्री की उछाल के साथ पारा 45.6 डिग्री दर्ज किया गया। इसने हवा की नमी को सोखकर इसका फीसद 14 कर दिया। इलाके का न्यूनतम तापमान भी सामान्य से एक डिग्री की बढ़त लिए हुए 27.6 डिग्री दर्ज किया गया। वही, पालम में पारा 45.4 तक पहुंचा व न्यूनतम तापमान 26.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सफदरजंग में यह क्रमश: 44.5 व 27.2 डिग्री सेल्सियस रहा। इलाके की हवा में नमी की मौजूदगी 18 फीसद रही।

पांच राज्यों में ज्यादातर इलाकों के लिए लू के खतरे को देखते हुए 25 से 27 मई तक के लिए लाल रंग की चेतावनी जारी की गई है। यानी मौसम के लिहाज से इस समय बाहर निकलना खतरनाक हो सकता है। लू की चपेट में आने से बीमार पड़ने व जान का जोखिम भी हो सकता है। मौसम विभाग ने लोगों को सलाह दी है कि दिन में एक बजे से पांच बजे तक घरों या दफ्तरों से बाहर न निकलें।

वहीं, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आइएमडी) ने सोमवार को कहा कि उत्तर भारत के अनेक हिस्सों में 29-30 मई को धूल भरी आंधी चलने और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है जिससे लू के प्रकोप से राहत मिल सकती है। दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में पिछले कुछ दिन से जबरदस्त गर्मी है और कहीं-कहीं तो तापमान 45 डिग्री सेल्सियस के ऊपर तक जा रहा है।

आइएमडी के क्षेत्रीय मौसम विज्ञान विभाग के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि पश्चिमी विक्षोभ और पुरवाई हवाओं के कारण दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में 29-30 मई को धूल भरी आंधी चलने और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है।

श्रीवास्तव ने कहा कि इस अवधि में हवा की रफ्तार करीब 50-60 किलोमीटर प्रति घंटे हो सकती है जिससे भीषण गर्मी से राहत मिलेगी। पश्चिमी विक्षोभ एक चक्रवाती तूफान है जो भूमध्यसागर से पैदा होकर मध्य एशिया में से गुजरता है। हिमालय के संपर्क में आने पर इससे पहाड़ों और मैदानों पर बारिश होती है। अगले दो-तीन दिन में पंजाब, छत्तीसगढ़, ओड़ीशा, गुजरात, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, बिहार और झारखंड में कुछ-कुछ स्थानों पर लू चलने की संभावना है।

आइएमडी ने अपने दैनिक बुलेटिन में कहा, ‘उत्तर पश्चिम भारत, मध्य भारत के मैदानी भागों और इससे लगे पूर्वी भारत के आंतरिक हिस्सों में शुष्क उत्तर-पश्चिमी हवाएं चलने से 28 मई तक इन क्षेत्रों में लू चलने की संभावना है जो 25 और 26 मई को अपने प्रचंड रूप में रह सकती है।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 उपचार: कोरोना से बचाएंगी रसोई में मौजूद औषधियां
2 चीन के साथ सीमा विवाद: वुहान के बाद नरमी अब क्यों है तनाव
3 भारत-नेपाल संबंध : कभी थे करीब, अब क्यों हो रहे दूर