ताज़ा खबर
 

IIT MADRAS के छात्रा की हॉस्टल में मिली लाश, पुलिस ने सुसाइड का जताया शक

IIT मद्रास की छात्रा का शव उसके हॉस्टर के कमरे से बरामद हुआ है। पुलिस ने इस घटना आत्महत्या माना है, लेकिन अभी तक कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है।

Author Published on: November 10, 2019 11:06 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IIT) मद्रास की एक छात्रा का शव उसके हॉस्टल रूम से बरामद हुआ। शव मिलते ही पूरे संस्थान में सनसनी फैल गई। शुक्रवार को हुई इस घटना को पुलिस आत्महत्या का मामला मान रही है। हालांकि, अभी तक कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस का कहना है कि वह मामले की छानबीन कर रही है। लेकिन, अभी तक आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चल पाया है।

पीड़ित छात्रा की पहचान 19 वर्षीय फातिमा लतीफ के रूप में हुई है। फातिमा ह्यूमैनिटीज मास्टर डिग्री में प्रथम वर्ष की पढ़ाई कर रही थी। मीडिया रिपोर्ट में पुलिस के हवाले से बताया गया है कि कम अंक आना भी आत्महत्या की वजह हो सकती है। गौरतलब है कि दिसंबर 2018 के बाद से अब तक आईआईटी मद्रास में आत्महत्या की यह पांचवीं वारदात है।

आईआईटी मद्रास की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है, “बेहद पीड़ा और दुख के साथ IIT मद्रास को यह सूचित करना पड़ रहा है कि पिछली रात (8 नवंबर) मानविकी और सामाजिक विज्ञान के प्रथम वर्ष की छात्रा का निधन हो गया। IIT मद्रास की फैकल्टी, स्टाफ और स्टूडेंट्स मृतक छात्रा के परिजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदना प्रकट करते हैं। यह वास्तव में संस्थान और परिवार के लिए एक कभी पूरी नहीं होने वाली क्षति है। भगवान उसकी आत्मा को शांति दे।”

गौरतलब है कि फातिमा आईआईटी कैंपस के सरयू हॉस्टल में रह रही थी। फातिमा जब काफी वक्त से अपने हॉस्टल से बाहर नहीं निकली तब उसके दोस्त कमरे का दरवाजा तोड़कर अंदर गए। वहां उन्होंने देखा कि उसका शव पंखे से लटका हुआ था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Ayodhya Verdict में सुप्रीम कोर्ट ने 24 बार लिखा ‘सेक्युलर’ शब्द, जानें क्या है इसका मतलब
2 आज गोडसे को भी देशभक्त बता सकता है सुप्रीम कोर्ट- अयोध्या पर फैसले के बाद तुषार गांधी ने किया ट्वीट, हुए ट्रोल
3 ‘कुर्सी से उठते ही अदालती बातें भूल जाता हूं’, जानें AYODHYA VERDICT के बाद क्या बोले CJI बनने जा रहे जस्टिस बोबडे
ये पढ़ा क्या?
X