ताज़ा खबर
 

एसजीआरसी की सिफारिशें नहीं मानी तो कॉलेज की मान्यता होगी खत्म

मसौदे के संबंध में विभिन्न हितधारकों से 20 अगस्त से पहले फीडबैक और परामर्श मांगा गया है।

Author Published on: August 13, 2019 4:25 AM
सांकेतिक तस्वीर।

अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआइसीटीई) के नए नियम मसौदे में कहा गया है कि छात्र शिकायत निवारण समिति (एसजीआरसी) की सिफारिशों का पालन नहीं करने वाले इंजीनियरिंग कॉलेजों और अन्य तकनीकी संस्थानों की मान्यता और संबद्धता वापस ली जा सकती है। इसके अलावा उनको मिलने वाले अनुदान पर रोक लगाई जा सकती है।

तकनीकी शिक्षा नियामक ने ‘अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (छात्र शिकायत निवारण) नियम 2019’ का मसौदा तैयार किया है जो एआइसीटीई से मान्यता प्राप्त तकनीकी संस्थानों के विद्यार्थियों की शिकायतों के प्रभावी समाधान पर केंद्रित है। मसौदे के संबंध में विभिन्न हितधारकों से 20 अगस्त से पहले फीडबैक और परामर्श मांगा गया है। इसमें कहा गया है कि यदि कोई तकनीकी संस्थान प्रशासनिक शिकायत जांच अधिकारी या छात्र शिकायत निवारण समिति की सिफारिशों की जानबूझकर अवज्ञा करता है या ऐसी सिफारिशों का पालन करने में बार-बार विफल रहता है तो परिषद कार्रवाई करेगी।

मसौदे में यह भी कहा गया है कि कार्रवाई के तहत संबंधित संस्थान की मान्यता वापस लेने, संस्थान की उपयुक्तता या अनुदान लेने संबंधी पात्रता घोषणापत्र वापस लेने या परिषद से मिलने वाली वित्तीय सहायता और संस्थान को मिलने वाले किसी अनुदान को रोकने संबंधी कदम उठाए जा सकते हैं।

नियमों के मुताबिक एआइसीटीई से मान्यता प्राप्त किसी भी संस्थान को अपने यहां छात्र शिकायत निवारण समिति बनानी होगी और किसी असंतुष्ट छात्र से संस्थान के संबंध में मिली शिकायत को समिति के पास भेजनी पड़ेगी जिसे सिफारशों के साथ अपनी रिपोर्ट 15 दिन के भीतर देनी होगी। संस्थानों से कहा गया है कि वे एसजीआरसी के संबंध में सभी उपयोगी सूचना अपनी वेबसाइट और विवरण पत्रिका में प्रमुखता से दें तथा अपील के उद्देश्य से प्रशासनिक शिकायत जांच अधिकारी का विवरण भी दें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 IRCTC: रेलवे ने263 ट्रेन कर दीं रद्द, 100 के रूट भी बदले
2 MDMK प्रमुख वायको का विवादित बयान, बोले- 100वें स्वतंत्रता दिवस पर भारत का हिस्सा नहीं होगा
3 राहुल गांधी के बयान पर बिगड़े J&K के राज्यपाल, बोले- हवाई जहाज भेज दूंगा, आकर देखिए फिर बोलिए