ताज़ा खबर
 

UP Panchayat Chunav के आ गए नतीजे?- पूछने लगे BJP सांसद; लोग बोले- बेहतर होता आप TMC की हिंसा पर बात करते

बनवारी लाल शर्मा ने लिखा- मीडिया में भी चर्चा होगी जब अंतिम परिणाम आएंगे। यह चर्चा शाह साहब की अनुमति से होगी। अभी तक योगीजी के डर के मारे नहीं हो रही।

Subramanian Swamy, BJP MP, UP Panchayat election, TMC violence, PM Modiभाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी। (फोटो- पीटीआई)

मोदी सरकार पर खासे हमलावर हो रहे बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्विटर पर पोस्ट कर पूछा- UP Panchayat Chunav के नतीजे आ गए क्या? उनका कहना था कि मीडिया की खामोशी अजीब लग रही है। दरअसल, बंगाल में बीजेपी की हार पर वो तंज कस रहे थे। उधर, सोशल मीडिया पर लोग बोले- बेहतर होता आप TMC की हिंसा पर बात करते।

शोमिल मोहेंद्रु ने लिखा- ममता बंगाल में अपने टीएमसी के हत्यारे कार्यकर्ताओं से बीजेपी कार्यकर्ताओं की निर्मम तरीके से हत्या ,करवा रही है। लूट व आगजनी उस पर अभी भी खामोश हो क्यों??
या राज्यसभा में फिर जाना है इसलिए किसी को नाराज नहीं करना है, इसलिए मौन सहमति है आप की। संगु हैंडल से ट्वीट किया गया-चुनाव होना चाहिए या नहीं यह एक अलग विषय है किन्तु ऐसा नहीं है कि Corona काल में सिर्फ हमारे देश में ही चुनाव हुए है। दुनिया के बहुत देशों में ऐसा हुआ है। यहां तक कि अमरीका के राष्ट्रपति चुनाव भी तब हुए थे जब वहां Corona पूरे जोरों पे था।

बनवारी लाल शर्मा ने लिखा- मीडिया में भी चर्चा होगी जब अंतिम परिणाम आएंगे। यह चर्चा शाह साहब की अनुमति से होगी। अभी तक योगीजी के डर के मारे नहीं हो रही। यशपाल ले लिखा- बंगाल में आतंकियों द्वारा हिंदुओं को मारा जा रहा है उधर भी देखिए। ममता बनर्जी हुई तो क्या हुआ, बंगाल में हिंदुओं को सुरक्षा नहीं दे सकती तो मुख्यमंत्री पद पर रहने लायक नहीं है।

संतोष तिवारी ने पोस्ट किया- भारत सरकार की नई नवेली वैज्ञानिक सलाहकार…अब आपकी औकात कंगना से भी कम है। बीजेपी में कब तक अपमान मे रहोगे? श्रीराम कंबोज हैंडल से ट्वीट किया गया- क्या BJP नेतृत्व शक्तिहीन है। अपने कार्यकर्ताओं को सुरक्षा नही दे सकते तो कौन वोट देगा? दिल्ली के दंगों में चुप। अब बंगाल में भी विरोधी दलों के कार्यकर्ताओं विशेषकर मुसलमानों पर नकेल डालने का काम कौन करेगा? क्या हिंदुओ को हथियार उठाने के लिए मजबूर किया जा रहा है, कानून त्यागकर।

बाबाजी हैंडल से ट्वीट किया गया-समय के साथ गिरगिट बन जाना ये एक अच्छी बात है। लेकिन ऐसा गिरगिट बन जाना कि एक राज्यसभा सीट के लिए कुछ भी लिखना ये सही नही है। कितनी बार लिखा है चीन के जैविक हथियार के बारे में। जो चीन ने उपयोग किया है दुनिया को एक वायरस से मारने के लिए। अनिल राघव ने लिखा- बंगाल मैं ममता के जिहादी हिंसा कर रहे हैं और आप कुछ नही कर रहे सर विश्वासघात है ये।

निशांत शाह ने लिखा- भाइयो और बहनों सफेद दाढ़ीवाले असुर के” विकास” की राजनीति का मतलब जानबूझकर जनता में महाबीमारी फैलाना चिकित्सा का पूरी मात्रा में उपलब्ध न करवाकर लाखो लोगों की आहूति देना। अस्पताल से लेकर शमशानों तक कतार ही कतार। हर इंसान में जान बचाने का भय उत्पन्न करना “शमशान भारत” है उसका सपना।

Next Stories
1 पश्चिम बंगाल में अच्छे प्रदर्शन के बावजूद राज्यसभा में BJP को होगा सिर्फ एक सीट का फायदा
2 कोरोनाः नहीं जानता कि कौन चला रहा देश- ऑक्सीजन की कमी से होने वाली मौतों पर बोले बत्रा अस्पताल के चीफ
3 UP Pachayat Elections: जिस पर था दंगा भड़काने और पुलिसकर्मी की हत्या आरोप, वही जीत गया चुनाव
यह पढ़ा क्या?
X