ताज़ा खबर
 

हाईकोर्ट ने कहा, अगर पुरूषों को पूजास्थल पर जाने की अनुमति तो महिलाओं को भी जाने दो

अदालत ने कहा कि अगर कोई मंदिर या व्यक्ति इस तरह का प्रतिबंध लगाता है तो उसे महाराष्ट्र के एक कानून के अंतर्गत छह महीने की जेल की सजा हो सकती है।

Author मुंबई | Published on: March 30, 2016 6:21 PM
offence and Penalty, Mumbai High Court, Live in Relationship, Rape case High Courtबंबई उच्च न्यायालय

बंबई उच्च न्यायालय ने बुधवार को कहा कि कोई भी कानून महिलाओं को पूजास्थल पर प्रवेश से नहीं रोकता और अगर पुरूषों को अनुमति है तो महिलाओं को भी अनुमति मिलनी चाहिए। अदालत ने कहा कि अगर कोई मंदिर या व्यक्ति इस तरह का प्रतिबंध लगाता है तो उसे महाराष्ट्र के एक कानून के अंतर्गत छह महीने की जेल की सजा हो सकती है। मुख्य न्यायाधीश डीएच वाघेला और न्यायमूर्ति एमएस सोनक की खंडपीठ ने वरिष्ठ अधिवक्ता नीलिमा वर्तक और सामाजिक कार्यकर्ता विद्या बल द्वारा दायर जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान ये टिप्पणियां कीं। इस याचिका में महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में शनि शिग्नापुर मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर पाबंदी को चुनौती दी गई थी।

मुख्य न्यायाधीश वाघेला ने कहा, ‘ऐसा कोई कानून नहीं है जो महिलाओं को किसी स्थान पर जाने से रोके। अगर आप पुरूषों को अनुमति देते हैं तो आपको महिलाओं को भी अनुमति देनी चाहिए। अगर एक पुरूष जा सकता है और मूर्ति के सामने पूजा कर सकता है तो महिलाएं क्यों नहीं? महिलाओं के अधिकारों का संरक्षण करना राज्य सरकार का कर्तव्य है।’

अदालत ने कहा कि अगर आप भगवान की शुद्धता को लेकर चिंतित हैं तो सरकार को ऐसा कोई बयान देने दीजिए। महाराष्ट्र हिन्दू पूजास्थल (प्रवेश अधिकार) कानून 1956 के तहत अगर कोई मंदिर या व्यक्ति किसी व्यक्ति को मंदिर में प्रवेश से रोकता है तो उसे छह महीने की सजा हो सकती है। अदालत ने सरकारी वकील अभिनंदन वग्यानी को निर्देश लेने और शुक्रवार को इस बात पर बयान देने का निर्देश दिया कि क्या वह सुनिश्चित करेगी कि महिलाओं को मंदिर में प्रवेश की अनुमति दी जाए। याचिका में महिलाओं को केवल मंदिर नहीं बल्कि गर्भगृह के अंदर प्रवेश की मांग की गई है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 उत्तराखंड संकट पर शिवसेना ने कहा, भाजपा ने लोकतंत्र का गला घोंटा
2 ICC World T20: वेस्टइंडीज vs भारत के सेमीफाइनल में मुकाबला कोहली और गेल के तूफान का
3 अफरीदी ने टीम के शर्मनाक प्रदर्शन पर मांगी माफी, कहा- पाकिस्तान की अवाम के प्रति जवाबदेह
ये पढ़ा क्या?
X