ताज़ा खबर
 

RPI में आ जाएं मायावती तो BSP सुप्रीमो को अध्‍यक्ष बना खुद उपाध्‍यक्ष बन जाऊंगा- बोले रामदास अठावले

रामदास आठवले ने अति विशिष्‍ट अतिथि गृह में संवाददाताओं से कहा '' भीम आर्मी के संस्‍थापक चंद्रशेखर आजाद अगर मेरी पार्टी में आएं तो मैं उन्हें महत्‍वपूर्ण पद दूंगा और अगर मायावती आरपीआई में आ जाएं तो उन्‍हें अध्‍यक्ष का पद देकर खुद उपाध्‍यक्ष बन जाऊंगा, क्‍योंकि यह बाबा साहेब (डाक्‍टर भीम राव आंबेडकर) की पार्टी है।''

Author नई दिल्ली | Updated: February 27, 2021 4:58 PM
mayawati, ramdas athawle, BSP, RPI, politics, jansattaरिपब्लिकन पार्टी आफ इंडिया के अध्‍यक्ष और केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले। (indian express file photo)

रिपब्लिकन पार्टी आफ इंडिया (आरपीआई) के अध्‍यक्ष और केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने शनिवार को कहा कि अगर बहुजन समाज पार्टी की अध्‍यक्ष मायावती उनकी पार्टी में शामिल हो जाएं तो वह अपनी पार्टी के अध्‍यक्ष का पद मायावती को दे देंगे और खुद उपाध्‍यक्ष बन जाएंगे।

शनिवार को यहां दौरे पर आये रामदास आठवले ने अति विशिष्‍ट अतिथि गृह में संवाददाताओं से कहा ” भीम आर्मी के संस्‍थापक चंद्रशेखर आजाद अगर मेरी पार्टी में आएं तो मैं उन्हें महत्‍वपूर्ण पद दूंगा और अगर मायावती आरपीआई में आ जाएं तो उन्‍हें अध्‍यक्ष का पद देकर खुद उपाध्‍यक्ष बन जाऊंगा, क्‍योंकि यह बाबा साहेब (डाक्‍टर भीम राव आंबेडकर) की पार्टी है।” संवाददाताओं ने भीम आर्मी के संस्‍थापक चंद्रशेखर आजाद के साथ तालमेल को लेकर आठवले से सवाल पूछा था। इस पर उन्होंने आजाद के साथ ही मायावती को भी पार्टी में शामिल होने का न्योता दिया।

आठवले ने कहा ” उत्‍तर प्रदेश में लोगों की बसपा से नाराज़गी बढ़ रही है और लोग आरपीआई की तरफ आ रहे हैं। अगर भाजपा यहां हमारी पार्टी के लिए आठ-दस सीटें छोड़ दे तो आरपीआई बसपा को झटका दे सकती है।” उन्‍होंने कहा कि ”उत्‍तर प्रदेश में 2022 के विधानसभा चुनाव के लिए हम भाजपा के साथ समझौता करना चाहते हैं और आज शाम को इस बारे में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ से हमारी बातचीत होगी। इसके बाद भाजपा अध्‍यक्ष जेपी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी बातचीत होगी।”

यह पूछे जाने पर कि पांच वर्ष से आप बातचीत कर रहे हैं लेकिन भाजपा आपको एक भी सीट नहीं दे रही है, केंद्रीय मंत्री ने कहा ”अभी हमारा संगठन बहुत मजबूत नहीं है लेकिन अब जिलों में भी ह‍म संगठन को मजबूत कर रहे हैं।” उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यों की सराहना की।

आरपीआई अध्‍यक्ष ने कहा कि ”देश के पांच राज्‍यों में होने वाले विधानसभा चुनाव हम भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ मिलकर लड़ना चाहते हैं और अगर भाजपा ने समझौते में सीटें नहीं दी तो भी कुछ सीटों पर अपने उम्‍मीदवार उतारेंगे और बाकी जगह भाजपा का समर्थन करेंगे।’ उन्‍होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में 36 प्रतिशत दलित हैं और अगर आरपीआई भाजपा के साथ रहेगी तो उसका फायदा मिलेगा।

पश्चिम बंगाल में भाजपा को दो सौ से अधिक सीटें मिलने का दावा करते हुए आठवले ने कहा कि वहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व में भाजपा को बड़ी सफलता मिलने जा रही है। केंद्रीय मंत्री ने दावा किया कि चार राज्‍यों में राजग की सरकार आएगी और केरल में भी सफलता मिल सकती है क्‍योंकि वहां के लोग भी भाजपा को सत्‍ता सौंपने का मन बना रहे हैं।

किसान आंदोलन के बारे में पूछे जाने पर आठवले ने कहा ” हमारी सरकार किसानों के खिलाफ नहीं है बल्कि किसानों को समर्थन देने वाली सरकार है लेकिन एक भी कानून वापस लिया जाएगा तो संसद में हर कानून को वापस लेने का दबाव बढ़ेगा। ” उन्‍होंने कहा कि कृषि कानूनों में संशोधन के लिए सरकार तैयार है।

Next Stories
1 कृषि कानूनः ‘राजद्रोह का मतलब देशद्रोह नहीं’, बोले BKU के टिकैत- किसान जिंदा रहेगा आंदोलन से…
2 2 लोग कर रहे PM का इस्तेमाल, काम निकलने पर फेंक देंगे उन्हें- अंबानी-अडानी का नाम लिए बगैर बोले राहुल
3 J&K: गुलाम नबी आजाद के कार्यक्रम के पोस्टर में ‘G-23’ वाले चेहरे, पर सोनिया-राहुल गायब; कपिल सिब्बल बोले- हम कांग्रेस को कमजोर होता देख रहे
ये पढ़ा क्या?
X