ताज़ा खबर
 

बिहार में मोदी ने पूछा- मैं बाहरी हूं तो सोनिया गांधी कौन हैं?

प्रधानमंत्री मोदी ने ‘बाहरी’ होने के नीतीश कुमार के ताने का जवाब देते हुए आज उनसे पूछा कि क्या वह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी ‘बाहरी’ कहेंगे।

Author नई दिल्ली | October 30, 2015 6:39 PM

प्रधानमंत्री मोदी ने ‘बाहरी’ होने के नीतीश कुमार के ताने का जवाब देते हुए शुक्रवार को उनसे पूछा कि क्या वह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी ‘बाहरी’ कहेंगे। उन्होंने कहा कि वह किसी और देश के नहीं बल्कि भारत के पीएम हैं। लालू प्रसाद के गृह जिले गोपालगंज में महागठबंधन को निशाने पर लेते हुए उन्होंने नीतीश कुमार से सवाल किया कि क्या वह ‘जंगलराज’ के पुराने दिनों को वापस लाना चाहते हैं।

साथ ही दलितों, पिछड़ों और अति पिछड़ों के आरक्षण कोटा में से पांच प्रतिशत ‘एक समुदाय’ को देने की साजिश संबंधी अपने आरोप को दोहरा कर दावा किया कि खुद नीतीश कुमार ने 2005 में संसद में मुसलमानों के लिए ‘सब कोटा’ की व्यवस्था करने की कथित तौर पर वकालत की थी।

गोपालगंज के बाद मुजफ्फरपुर की चुनावी सभा में उन्होंने कहा, ‘‘नीतीश बाबू कहते हैं कि मैं बाहरी हूं। मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि बिहार में मैं बाहरी कैसे हो सकता हूं जो कि भारत का अभिन्न अंग है और जहां की जनता ने मुझे प्रधानमंत्री बनाने के पक्ष में मतदान किया हो। क्या मैं पाकिस्तान का प्रधानमंत्री हूं? क्या मैं बांग्लादेश या श्रीलंका का प्रधानमंत्री हूं,? ’’

मोदी ने कहा, ‘‘मैं उनसे पूछना चाहूंगा कि क्या वह मैडम सोनिया गांधी, जो कि दिल्ली में रहती हैं, उन्हें बाहरी कहेंगे? वह बाहरी हैं या बिहारी हैं? जो लोग अपने काम काज का ब्योरा नहीं दे सकते हैं वे लोगों को गुमराह करने के लिए इसी तरह के खेल खेलते हैं।’’

एक नवंबर को होने जा रहे बिहार विधानसभा के चौथे चरण के मतदान के लिए प्रचार करते हुए उन्होंने महागठबंधन को निशाने पर लेते हुए विकास का मुद्दा उठाया और कहा कि केवल राज्य और केन््रद का ‘‘जुड़वां इंजन’’ इस पिछड़े राज्य को उस गढ्ढे से बाहर निकाल सकते हैं जिसमें वह गिर गया है।

उन्होंने दलितों, पिछड़ों और अति पिछड़ों के आरक्षण कोटा में से पांच प्रतिशत ‘एक समुदाय’ को देने की साजिश संबंधी अपने आरोप को दोहराया और जदूय नेता नीतीश कुमार को निशाने पर लेते हुए कहा कि उन्होंने 24 अगस्त 2005 में संसद में दिए अपने भाषण में एक विशेष समुदाय को आरक्षण में कोटा देने की बात कही थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App