ताज़ा खबर
 

परामर्श: खुद पर भरोसा रखिए, जीत आपकी होगी

किसी कार्य में विफल हो गए हैं तो इसका यह बिलकुल मतलब नहीं है कि आप अपने जीवन में भी सफल नहीं होंगे। किसी भी कार्य में सफलता प्राप्त करने के लिए इन बिंदुओं पर ध्यान दें।

Author Published on: July 16, 2020 2:55 AM
student, preparation for college, mother-daughter relationन्यू जर्सी के मिलबर्न हाई स्कूल के दीक्षांत समारोह के लिए एक मां अपनी बेटी को तैयार करती हुई।

कभी आपने खुद से सवाल किया है कि मैं हमेशा हर चीज में विफल क्यों होता हूं? अगर ऐसा है तो चिंता करने की कोई बात नहीं क्योंकि खुद से ये सवाल पूछने वाले आप अकेले नहीं हैं। दुनिया में अधिकतर लोग अपने जीवन में कभी न कभी खुद से ये सवाल पूछते ही हैं।

समस्या सिर्फ इस बात की है कि यह दुनिया सफलता पाने वाले को सिर आंखों पर बिठाती है और विफल होने वाले के बारे में सोचती है कि उनमें कोई कमी है। हालांकि अगर आप किसी कार्य में विफल हो गए हैं तो इसका यह बिलकुल मतलब नहीं है कि आप अपने जीवन में भी सफल नहीं होंगे। किसी भी कार्य में सफलता प्राप्त करने के लिए इन बिंदुओं पर ध्यान दें।

खुद पर भरोसा रखें : यकीन जिंदगी की नींव की तरह है। दुनिया में सबसे बड़े कार्य ‘भरोसे’ के दम पर ही पूरे किए गए। अगर आप खुद पर भरोसा नहीं करते हो तो आप अपने सफल होने के मौकों को खुद की कम कर रहे हो। जब तक आप यह यकीन नहीं करोगे कि आप किसी काम को कर सकते हो, तब तक सफलता आपसे दूर ही रहेगी।

अंतिम मौके तक कोशिश करें : हमारे विफल होने की एक और बड़ी वजह है, हम जल्द ही हार मान लेते हैं। अंतिम अवसर तक कोशिश नहीं करते हैं। जीवन में कुछ भी आसानी से नहीं मिलता है लेकिन फिर भी दुनिया हर दिन ऐसे कारनामे होते हैं जो पहले कभी नहीं हुए थे। यानी कुछ लोग हैं जो अंतिम समय तक कोशिश जारी रखते हैं और ऐसे कारनामे कर जाते हैं।

कुछ लोग कठिन परिस्थितियों को देखते हुए एक काम को छोड़कर दूसरे काम को करने लगते हैं लेकिन परिस्थितियों वहां भी नहीं बदलती हैं। इसलिए जो काम शुरू किया है, उसमें अंतिम मौके तक कोशिश करें।

अपनी जिम्मेदारियों को समझें : आपके जीवन में जो भी हो रहा है, उसके लिए आप खुद जिम्मेदार हैं। यह एक सत्य है और जब तक आप इसे नहीं मानेंगे, सफलता आपसे दूर ही रहेगी। बहानेबाजी छोड़, अपने हर कार्य और हर सोच की जिम्मेदारी लेना सीखिए, आप अपने लक्ष्य की ओर बढ़ने लगेंगे। जब आप अपने कार्यों की जिम्मेदारी लेने लगते हैं तो आपका दिमाग आपको बताता है कि कौन सी राह सही और कौन सी गलत है। इससे पहले तक वही दिमाग आपको बहाने बताता था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 साक्षात्कार: कोरोना मरीजों को प्लाज्मा उपलब्ध कराने के लिए बनाई वेबसाइट
2 युवा शक्ति: स्वतंत्र रूप से काम कर सपने पूरे करिए
3 16 जुलाई का इतिहास: 1856 में आज ही के दिन ऊंची जाति की हिंदू विधवाओं के पुनर्विवाह को कानूनी मान्यता मिली
ये पढ़ा क्या...
X