ताज़ा खबर
 

ICJ Verdict on Kulbhushan Jadhav: 15-1 से भारत के पक्ष में फैसला, कुलभूषण जाधव की फांसी पर रोक; कोर्ट बोला- PAK ने किया विएना कन्वेंशन का उल्लंघन

ICJ Verdict on Kulbhushan Jadhav: पाकिस्तानी सैन्य अदालत ने अप्रैल 2017 में बंद कमरे में सुनवाई के बाद ‘‘जासूसी और आतंकवाद’’ के आरोपों में भारतीय नौसेना के सेवानिवृत्त अधिकारी जाधव (49) को मौत की सजा सुनाई थी।

Author नई दिल्ली | Jul 17, 2019 22:10 pm
द हेग स्थित आईसीजे में बुधवार को कुलभूषण मामले पर फैसला पढ़ते हुए जज अब्दुलकावी अहमद यूसुफ। (फोटोः पीटीआई)

ICJ Verdict on Kulbhushan Jadhav: अंतर्राष्ट्रीय न्याय अदालत (आईसीजे) में कुलभूषण जाधव के मामले पर भारत को बड़ी जीत हासिल हुई है। बुधवार (17 जुलाई, 2019) को नीदरलैंड्स के द हेग स्थित कोर्ट में साढ़े छह बजे फैसला सुनाया गया, जिसमें कोर्ट ने 15-1 से भारत के पक्ष में फैसला दिया। कोर्ट ने पाकिस्तान के फैसले (कुलभूषण को मौत की सजा) पर पुनःविचार की बात कही। यानी उनकी फांसी पर फिलहाल रोक लग गई है। फैसला सुनाते हुए कोर्ट ने कहा कि पाकिस्तान ने न केवल विएना कन्वेंशन का उल्लंघन किया है, बल्कि जाधव के अधिकारों का हनन भी किया है।

कोर्ट के अध्यक्ष जज अब्दुलकावी अहमद यूसुफ की अगुवाई वाली 16 सदस्यीय बेंच ने जाधव को दोषी ठहराए जाने और उन्हें सुनाई सजा की ‘प्रभावी समीक्षा करने और उस पर पुनःविचार करने’ का आदेश दिया। बेंच आगे बोली- उसने पाकिस्तान को यह सुनिश्चित करने के लिए हरसंभव कदम उठाने का निर्देश दिया था कि मामले में अंतिम फैसला तब तक नहीं आता, तब तक जाधव को सजा नहीं दी जाए।

हालांकि, बेंच ने भारत की अधिकतर मांगों को खारिज कर दिया, जिनमें जाधव को दोषी ठहराने के सैन्य अदालत के फैसले को रद्द करने, उन्हें रिहा करने और भारत तक सुरक्षित तरीके से पहुंचाना शामिल है। पीठ ने एक के मुकाबले 15 वोटों से यह व्यवस्था भी दी कि पाकिस्तान ने जाधव की गिरफ्तारी के बाद राजनयिक संपर्क के भारत के अधिकार का उल्लंघन किया।

कुलभूषण जाधव मामले में आईसीजे के फैसले पर बुधवार शाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रतिक्रिया भी आई। उन्होंने कहा- हम आईसीजे के फैसले का स्वागत करते हैं। सत्य और न्याय की जीत हुई है। तथ्यों के आधार पर विस्तृत शोध के बाद फैसला देने पर आईसीजे को बधाई। मुझे यकीन है कि जाधव को न्याय मिलेगा। हमारी सरकार हमेशा हर भारतीय की सुरक्षा और कल्याण के लिए काम करेगी।

पूर्व विदेश मंत्री और शीर्ष बीजेपी नेता सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर इसे देश की बड़ी जीत बताया है। साथ ही इसके लिए पीएम मोदी और हरीश साल्वे को बधाई दी है। वहीं, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी कहा है कि यह पाकिस्तान के लिए बड़ा झटका है। ये हैं ICJ के फैसले की बड़ी बातेंः

– भारत की जीत, पाक को झटका
– 15-1 के पक्ष से देश के पक्ष में निर्णय
– कुलभूषण की सजा पर फिर विचार हो
– देश को काउंसलर का एक्सेस मिलेगा
– कुलभूषण की फांसी पर फिलहाल रोक

यहां देखें, कुलभूषण पर ICJ का फैसला: 

Live Blog

Highlights

    21:46 (IST)17 Jul 2019
    ICJ के फैसले पर मुंबई में जश्न

    कुलभूषण जाधव केस में आईसीजे का फैसला आने के बाद बुधवार को मुंबई में गुब्बारों के साथ यूं खुशी का इजहार करते जाधव के समर्थक। (फोटोः पीटीआई

    21:18 (IST)17 Jul 2019
    कुलभूषण केसः लंदन में साल्वे ने मीडिया को किया संबोधित
    20:43 (IST)17 Jul 2019
    पूरा फैसला आने से पहले ही ICJ अधिकारी ने ट्वीट कर दी थी भारत की जीत की जानकारी

    आधिकारिक फैसला आने से पहले आईसीजे में दक्षिण एशियाई मामलों की अंतर्राष्ट्रीय कानूनी सलाहकार रीमा उमर ने इस बारे में ट्वीट कर कहा था कि इस मामले में भारत के पक्ष में फैसला गया है। उनके ट्वीट के अनुसार, कुलभूषण की सजा के फैसले पर पुर्नविचार होगा। भारत को कॉन्सुलर का एक्सेस मिलेगा। ऐसे में आईसीजे में यह पाकिस्तान के लिए तगड़ा झटका माना जा रहा है। आईसीजे के फैसले के बाद कोर्ट परिसर के बाहर जीत के जश्न में नारे भी लगे।

    20:37 (IST)17 Jul 2019
    प्रियंका गांधी ने भी जताई फैसले पर खुशी
    20:34 (IST)17 Jul 2019
    कुलभूषण: ICJ के फैसले को अरविंद केजरीवाल ने बताया- सच और न्याय की जीत

    दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरंिवद केजरीवाल ने बुधवार को अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत द्वारा भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव मामले में मौत की सजा पर रोक लगाए जाने का स्वागत किया। केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘‘कुलभूषण जाधव की मृत्युदंड की सजा पर रोक लगाने और राजनयिक पहुंच मुहैया कराने के अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत के फैसले का गर्मजोशी से स्वागत करता हूं। सच और न्याय की जीत हुई। हमारे देश के इस बेटे को जल्द अपने देश भेजा जाना चाहिए ताकि वह अपने परिवार से मिल सके।’’

    अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत (आईसीजे) ने बुधवार को फैसला सुनाया कि पाकिस्तान को भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को सुनाई गयी फांसी की सजा पर फिर से विचार करना चाहिए। यह भारत के लिए बड़ी जीत है। पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत ने कुलभूषण जाधव को मौत की सजा सुनाई थी। जाधव भारतीय नौसेना के एक सेवानिवृत्त अधिकारी हैं और पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत ने उन्हें अप्रैल 2017 में बंद कमरे में हुई सुनवाई में ‘जासूसी एवं आतंकवाद’ के आरोप में मौत की सजा सुनाई थी। इस पर भारत ने कड़ी प्रतिक्रिया जताई थी।

    19:21 (IST)17 Jul 2019
    ICJ के फैसले पर रक्षा मंत्री ने कहा...

    कुलभूषण केस में आईसीजे के फैसले पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है, "आईसीजे ने पाकिस्तान को निर्देश दिया है कि वह कुलभूषण जाधव के लिए काउंसलर का एक्सेस दे। ऐसे में इसमें कोई दोराय नहीं है कि यह भारत की बड़ी जीत है।"

    19:05 (IST)17 Jul 2019
    कुलभूषण को किस आधार पर सुनाई थी मौत की सजा? जानिए

    पाकिस्तान की सैन्य अदालत द्वारा जाधव को ‘‘दबाव वाले कबूलनामे’’ के आधार पर मौत की सजा सुनायी गई थी। उनकी सजा पर भारत ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी। आईसीजे की दस सदस्यीय पीठ ने 18 मई 2017 को पाकिस्तान को जाधव की मौत की सजा पर अमल से रोक दिया था। भारत की तरफ से वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे ने पक्ष रखा।

    19:05 (IST)17 Jul 2019
    21 फरवरी को सुरक्षित रख लिया था फैसला

    मामले में फैसले से लगभग पांच महीने पहले न्यायाधीश यूसुफ की अध्यक्षता वाली आईसीजे की 15 सदस्यीय बेंच ने भारत और पाकिस्तान की मौखिक दलीलें सुनने के बाद 21 फरवरी को फैसला सुरक्षित रख लिया था। अब उसी फैसले पर दोनों मुल्कों की निगाहें टिकी हैं। दरअसल, आईसीजे के निर्णय का असर दोनों देशों के रिश्तों पर पड़ सकता है, जो कि पहले से ही कुछ ठीक नहीं हैं। बता दें कि पाकिस्तानी सैन्य अदालत ने अप्रैल 2017 में बंद कमरे में सुनवाई के बाद ‘‘जासूसी और आतंकवाद’’ के आरोपों में भारतीय नौसेना के सेवानिवृत्त अधिकारी जाधव (49) को मौत की सजा सुनाई थी।

    19:02 (IST)17 Jul 2019
    ICJ के फैसले पर मुंबई में जश्न
    19:00 (IST)17 Jul 2019
    सुषमा स्वराज ने भी किया ट्वीट- यह भारत की बड़ी जीत

    पूर्व विदेश मंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता सुषमा स्वराज ने कुलभूषण पर फैसला पढ़े जाने के बीच ट्वीट कर कहा- हम आईसीजे के निर्णय का स्वागत करते हैं। यह भारत के लिए बड़ी जीत है। मैं जाधव का मामला आईसीजे में ले जाने के लिए पीएम मोदी को धन्यवाद देती हूं। साथ ही हरीश साल्वे को भी इस मामले में देश का प्रतिनिधित्व करने के लिए बधाई देती हूं। मुझे लगता है कि इस फैसले से कुलभूषण के परिजन को सांत्वना मिलेगी।

    18:42 (IST)17 Jul 2019
    फैसले के बीच ICJ अधिकारी का ट्वीट- भारत को मिलेगा कॉन्सुलर एक्सेस

    18:36 (IST)17 Jul 2019
    ICJ में भारत की बड़ी जीत- रीमा उमर

    आईसीजे की अधिकारी रीमा उमर के मुताबिक, भारत की इस मामले में बड़ी जीत हुई है। फैसले पर पुर्नविचार होगा। भारत को कॉन्सुलर का एक्सेस मिलेगा, जबकि 15-1 के पक्ष से भारत के पक्ष में फैसला हुआ है। हालांकि, आधिकारिक तौर पर अभी आईसीजे ने फैसला नहीं सुनाया है। इसी बीच, मुंबई में कुलभूषण के दोस्त और परिवार वालों ने फैसले से पहले भारत की जीत के लिए प्रार्थना की।

    18:17 (IST)17 Jul 2019
    देखें, कौन-कौन पहुंचा ICJ
    17:54 (IST)17 Jul 2019
    एक से डेढ़ घंटे तक पढ़ा जाएगा फैसला

    कुलभूषण मामले में शाम साढ़े बजे फैसला पढ़ा जाना शुरू होगा। यह करीब एक से डेढ़ घंटे तक पढ़ा जाएगा। माना जा रहा है कि यह फैसला बहुमत से प्रभावी होगा। जानकारी के मुताबिक, अधिकारी अंतर्राष्ट्रीय कोर्ट पहुंच चुके हैं।

    17:36 (IST)17 Jul 2019
    PAK करेगा फैसले को स्वीकार?

    मुकदमे की सुनवाई पूरी होने में दो साल और दो महीने का वक्त लगा। पाकिस्तान विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मुहम्मद फैजल ने कहा कि पाकिस्तान ने आईसीजे के समक्ष मुकदमा पूरी तरह से लड़ा। सरकारी समाचार एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस ऑफ पाकिस्तान ने उनके हवाले से कहा, ‘‘पाकिस्तान अच्छे फैसले की उम्मीद कर रहा है और वह आईसीजे के फैसले को स्वीकार करेगा।’’

    17:14 (IST)17 Jul 2019
    इतने बजे आएगा फैसला

    ‘प्रेसीडेंट ऑफ द कोर्ट’ न्यायाधीश अब्दुलकावी अहमद यूसुफ सार्वजनिक सुनवाई के दौरान फैसला पढ़ेंगे। सुनवाई नीदरलैंड, द हेग में पीस पैलेस में बुधवार को भारतीय समयानुसार शाम साढ़े छह बजे होगी। इस हाई प्रोफाइल मामले में फैसला आने के करीब पांच महीने पहले न्यायाधीश यूसुफ के नेतृत्व में आईसीजे की 15 सदस्यीय पीठ ने भारत और पाकिस्तान की मौखिक दलीलें सुनने के बाद 21 फरवरी को आदेश सुरक्षित रख लिया था।

    16:45 (IST)17 Jul 2019
    किस चीज का है जाधव पर आरोप?

    अंतर्राष्ट्रीय अदालत भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव से जुड़े मामले में अपना फैसला बुधवार को सुनाएगी। पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत ने ‘‘जबरन अपराध कबूल करने’’ के आधार पर उसे मौत की सजा सुनाई थी जिसे भारत ने चुनौती दी। सेवानिवृत्त भारतीय नौसेना अधिकारी जाधव (49) को ‘‘जासूसी और आतंकवाद’’ के आरोपों पर पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने मौत की सजा सुनाई थी। उसे सजा सुनाए जाने का भारत में कड़ा विरोध हुआ था।

    16:04 (IST)17 Jul 2019
    कार्यवाही पूरी होने में लगा 2 साल दो माह का समय

    नीदरलैंड में द हेग के ‘पीस पैलेस’ में कुलभूषण जाधव मामले पर सुनवाई चल रही है, जिसमें अदालत के प्रमुख न्यायाधीश अब्दुलकावी अहमद यूसुफ ने फैसला पढ़कर सुनाएंगे। इस मामले की कार्यवाही पूरी होने में दो साल और दो महीने का वक्त लगा।

    15:47 (IST)17 Jul 2019
    अप्रैल, 2017 में पाकिस्तानी सेना ने सुनायी थी फांसी की सजा

    पाकिस्तानी सेना की सैन्य अदालत ने कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा सुनायी। 10 अप्रैल, 2017 को पाकिस्तानी सेना की इंटर सर्विस पब्लिक रिलेशंस विंग ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसकी जानकारी दी।

    15:22 (IST)17 Jul 2019
    पाकिस्तान ने माना था- कुलभूषण जाधव के खिलाफ नहीं मिले पुख्ता सबूत

    कुलभूषण जाधव की गिरफ्तारी के बाद 7 दिसंबर, 2016 में पाकिस्तान के तत्कालीन विदेश मंत्री सरताज अजीज ने स्वीकार किया था कि कुलभूषण जाधव के खिलाफ उनकी सरकार को पुख्ता सबूत नहीं मिले हैं। हालांकि बाद में पाकिस्तान ने सरताज अजीज के इस बयान का खंडन किया था।

    14:45 (IST)17 Jul 2019
    पाकिस्तान ने काफी समय तक नहीं दी गिरफ्तारी की सूचना

    भारत का आरोप है कि पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव की गिरफ्तारी के बाद काफी समय तक इस बारे में कोई सूचना नहीं दी। इसके साथ ही पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव को विएना संधि के तहत मिलने वाले अधिकारों से भी उन्हें वंचित रखा।

    14:37 (IST)17 Jul 2019
    मुंबई में दोस्तों और समर्थकों ने की प्रार्थना

    दोस्तों और समर्थकों ने की प्रार्थना

    14:17 (IST)17 Jul 2019
    2017 में आईसीजे ने लगायी थी कुलभूषण की फांसी पर रोक

    आईसीजे की 10 सदस्यीय बेंच ने 18 मई, 2017 को कुलभूषण जाधव की फांसी पर रोक लगा दी थी। इस साल फरवरी में आईसीजे ने इस मामले से जुड़ी पाकिस्तान की पांच याचिकाएं खारिज कर दी थीं।

    13:56 (IST)17 Jul 2019
    कुलभूषण जाधव को भारतीय जासूस मानता है पाकिस्तान

    पाकिस्तान, कुलभूषण जाधव को भारतीय जासूस मानता है और दावा करता है कि उसने कुलभूषण जाधव को ब्लूचिस्तान से गिरफ्तार किया है। भारतीय नौसेना के पूर्व कर्मी 48 वर्षीय कुलभूषण जाधव के मामले में पाकिस्तान ने विएना संधि का उल्लंघन किया है।

    13:44 (IST)17 Jul 2019
    पाकिस्तान की लीगल टीम मंगलवार को ही हेग पहुंची

    पाकिस्तान की लीगल टीम फैसले से एक दिन पहले मंगलवार को ही हेग पहुंच चुकी है। पाकिस्तान की लीगल टीम में पाकिस्तान के अटॉर्नी जनरल अनवर मंसूर खान और विदेश विभाग के प्रवक्ता मुहम्मद फैसल भी शामिल हैं।

    Next Stories
    1 बरखा दत्त ने साधा कपिल सिब्बल और उनकी पत्नी पर निशाना, पत्नी पर गाली देने का आरोप, महिला आयोग से की शिकायत
    2 Karnataka Crisis: सुप्रीम कोर्ट का फैसला- बागी विधायक विश्वासमत में शामिल होने के लिए बाध्य नहीं
    3 नए अध्यक्षों की तैनाती: यूपी में स्वतंत्र देव सिंह के जरिए बीजेपी ने खेला ‘कुर्मी कार्ड’! महाराष्ट्र में मराठों को लुभाने की कोशिश