ताज़ा खबर
 

…तो क्‍या आईबी वाले कर रहे राहुल गांधी की जासूसी? जान‍िए, क्‍यों उठा यह सवाल

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की क्या केंद्र सरकार जासूसी करा रही है। कांग्रेस के खेमे में कुछ यही हलचल है।कहा जा रहा है कि दिल्ली से लेकर देश के किसी भी कोने में राहुल गांधी जा रहे हैं तो सुरक्षा के बहाने इंटेलीजेंस ब्यूरो के अफसर उनकी जासूसी कर रहे हैं।

Author नई दिल्ली | June 18, 2018 6:10 PM
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (फोटो सोर्स- पीटीआई फोटो)

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की क्या केंद्र सरकार जासूसी करा रही है। कांग्रेस के खेमे में कुछ यही हलचल है।कहा जा रहा है कि दिल्ली से लेकर देश के किसी भी कोने में राहुल गांधी जा रहे हैं तो सुरक्षा के बहाने इंटेलीजेंस ब्यूरो के अफसर उनकी जासूसी कर रहे हैं।दरअसल यह सवाल उछलना तब शुरू हुआ जब आरएसएस मानहानि मामले में राहुल गांधी भिवंडी कोर्ट में पेश होने पिछले सप्ताह नई दिल्ली से मुंबई एयरपोर्ट पहुंचे थे। जहां प्रदेश कांग्रेस अद्यक्ष अशोक चव्हाण सहित पार्टी के कई वरिष्ठ दिग्गज नेता राहुल गांधी की अगुवानी के लिए जमा थे।

इस दौरान सादे कपड़ों में एक व्यक्ति एयरपोर्ट पर उनके आस-पास मंडराता नजर आया। एक वरिष्ठ कांग्रेसी नेता को जब मामला संदिग्ध लगा तो उन्होंने व्यक्ति को रोककर पूछताछ शुरू कर दी। दैनिक भाष्कर के राजरंग कॉलम में रिपोर्ट छपने के बाद हलचल मच गई। रिपोर्ट के मुताबिक संदिग्ध व्यक्ति से पूछताछ करने वाले नेता कांग्रेस की पिछली सरकारों में अहम पदों पर रह चुके हैं, ऐसे में संबंधित व्यक्ति उन्हें पहचानता था तो उसने पूछताछ में स्वीकार किया कि वह मुंबई पुलिस नहीं बल्कि इंटेलीजेंस ब्यूरो(आइबी) से जुड़ा है। उसने बताया कि वह दिल्ली से मुंबई पहुंचा है।

कांग्रेसी नेताओं के मुताबिक अफसर दिल्ली से राहुल गांधी के पीछे लग गया था। पार्टी नेता आशंका जता रहे हैं कि केंद्र सरकार सुरक्षा के खतरे को भांपने के बहाने इंटेलीजेंस के अफसरों को पीछे लगाकर राहुल गाधी की जासूसी करा रही है। हालांकि इस उछलते सवाल पर अब तक केंद्र सरकार या आइबी से कोई जवाब नहीं आया है।बता दें कि राहुल गांधी की सुरक्षा को लेकर पार्टी नेता अतिरिक्त सतर्कता बरतते हैं। किसी कार्यक्रम में कोई संदिग्ध दिखता है तो उससे पूछताछ करने से गुरेज नहीं करते।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App