ताज़ा खबर
 

IANS Cvoter Snap Poll: 37 फीसदी लोगों को योगी आदित्यनाथ के लौटने की उम्मीद नहीं- यूपी चुनाव से पहले सर्वे का नतीजा

पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी को बहुमत मिला था जिसके बाद तत्कालीन गोरखपुर से सांसद योगी आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया गया था।

सीएम योगी के लिए विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज करना इतना आसान नहीं होगा। (एक्सप्रेस फोटो)।

IANS Cvoter द्वारा किए गए एक सर्वे में ये बात सामने आई है कि अगले साल होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव में सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में फिर से सूबे में बीजेपी की सरकार बन रही है। सर्वे में हिस्सा लेने वाले 52 फीसदी यानी बहुमत से ऊपर लोगों ने कहा कि अगले साल योगी फिर से मुख्यमंत्री बनेंगे वहीं इस सर्वे में 37 फीसदी लोगों ने कहा कि योगी दोबारा मुख्यमंत्री नहीं बन पाएंगे।

पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी को बहुमत मिला था जिसके बाद तत्कालीन गोरखपुर से सांसद योगी आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया गया था। बीजेपी को जहां चुनाव नतीजों में 312 सीटें मिली थीं वहीं समाजवादी पार्टी 47 और बहुजन समाज पार्टी 19 सीटों पर सिमट गए थे। कांग्रेस को सबसे कम सिर्फ 7 सीटों पर कामयाबी मिली थी। अगले साल फरवरी में यूपी विधासभा चुनाव हो सकते हैं क्यों कि अगले साल मार्च में विधानसभा अपना कार्यकाल पूरा कर रही है।

पॉलिटिकल पंडितों का कहना है कि सीएम योगी के लिए अगले साल का चुनाव इतना आसान नहीं रहेगा क्योंकि कुछ समय पहले कोरोना की दूसरी लहर से यूपी में जिस तरह की तस्वीरें सामने आई थीं उससे राज्य सरकार की छवि को नुकसान पहुंचा है। यूपी में गंगा में तैरती लाशों को न सिर्फ राष्ट्रीय बल्कि अंतरराष्ट्रीय मीडिया द्वारा रिपोर्ट किया गया था।

कुछ समय पहले खबरें भी सामने आई थीं कि बीजेपी केंद्रीय नेतृत्व राजनीतिक रूप से अहमियत रखने वाले इस सूबे में बड़ा बदलाव चाहता है लेकिन बाद में सीएम योगी के दिल्ली दौरे के बाद इन अटकलों को खारिज कर दिया गया।

यही नहीं कोरोना महामारी के दौरान पंचायत चुनाव कराने और इस चलते बड़ी संख्या में लोगों की जान जाने के लिए राज्य सरकार को दोषी ठहराया गया था। फिलहाल बीजेपी हर वह कोशिश कर रही है कि जिससे उसे अगले साल चुनाव में कम नुकसान झेलना पड़े। हाल ही में हुआ केंद्रीय कैबिनेट विस्तार इस बात का उदाहरण है।

खास बात ये है कि सर्वे में ये जानकारी भी सामने आई कि 46 फीसदी लोगों का मानना है कि मोदी सरकार के नए मंत्रिमंडल से चीजों में सुधार आएगा। जबकि 41 फीसदी लोगों का मानना है कि हालात ज्यों के त्यों ही रहेंगे। बता दें कि सर्वे में 18 साल से ऊपर के 1200 लोगों ने हिस्सा लिया था।

Next Stories
1 ज्योतिरादित्य को एयर इंडिया से जोड़ कांग्रेस का तंज- आइए महाराज हम दोनों बिकाऊ; भाजपा ने दिया जवाब
2 भाजपा पर बोले राकेश टिकैत- बहुत धार्मिक पार्टी है, इससे बड़ा कर्मकांड कोई नहीं कर सकता
3 चिराग पासवान को दिल्ली हाई कोर्ट से झटका, खारिज हो गई चाचा पशुपति के खिलाफ याचिका
आज का राशिफल
X