ताज़ा खबर
 

कांग्रेस उठाती रही है बालाकोट एयर स्ट्राइक पर सवाल, पर राजस्थान सरकार स्कूलों में पढ़वाएगी विंग कमांडर अभिनंदन की कहानी

राजस्थान की सरकार पाकिस्तान में घुसकर उनका एक एयरक्राफ्ट मार गिराने वाले विंग कमांडर अभिनंदन की शौर्यगाथा को स्कूलों के पाठ्यक्रम में शामिल करेगी।

भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान। (फाइल फोटोः रॉयटर्स)

भारत द्वारा पाकिस्तान के बालाकोट स्थित आतंकी कैंप पर हुए एयर-स्ट्राइक पर अभी तक कांग्रेस सवाल उठाती रही है। लेकिन, कांग्रेस शासित प्रदेश राजस्थान में एयर-स्ट्राइक के बाद पाकिस्तानी लड़ाकू विमान को मार गिराने वाले एयरफोर्स के विंग कमांडर अभिनंदन की शौर्यगाथा वहां के छात्रों को पढ़ाई जाएगी। बुधवार को राजस्थान सरकार ने विंग कमांडर अभिनंदन की शौर्यगाथा को पाठ्यक्रम में शामिल करने का प्रस्ताव पेश किया। यह प्रस्ताव प्रदेश के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने भेजा है। एक ट्वीट करते हुए शिक्षा मंत्री ने कहा, “अभिनंदन के सम्मान में उनकी बहादुरी की कहानी स्कूल के पाठ्यक्रम में लागू की जाएगी।”

शिक्षा मंत्री ने इस बात का भी उल्लेख किया है कि विंग कमांडर अभिनंदन ने जोधपुर से भी अपने स्कूल की पढ़ाई की है। सोमवार को उन्होंने एक फेसबुक पोस्ट लिखा, जिसमें उन्होंने हैशटैग के साथ अभिनंदन दिवस लिखा। हालांकि, अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि पाकिस्तानी में घुसकर उसके एयरक्राफ्ट को मार गिराने और पकड़े जाने के बाद सुरक्षित भारत लौटने वाले विंग कमांडर की कहानी किस कक्षा के छात्रों को पढ़ाई जाएगी। डोटासरा ने यह भी बताया है कि पाठ्यक्रम में इसके साथ ही पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आतंकी घटना और उसमें शहीद हुए सीआरपीएफ की टुकड़ी के बारे में भी बताया जाएगा। टोटासरा का प्रस्ताव समिक्षा समिति के पास भेजा गया है।

एयरफोर्स के विंग कमांडर अभिनंदन उस वक्त चर्चा में आ गए, जब बालाकोट एयरस्ट्राइक बाद उन्होंने पाकिस्तान के F-16 विभाग को उसकी सीमा में घुसकर मार गिराया। हालांकि, इस दौरान अभिनंदन के मिग विमान भी क्षतिग्रस्त हो गया और उन्हें पाकिस्तान में गिरफ्तार कर लिया गया। लेकिन, देश में अभिनंदन की रिहाई को लेकर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफी मुहिम चली। बाद में पाकिस्तान अभिनंदन को सुरक्षित भारत को लौटाने के लिए राजी हो गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App