ताज़ा खबर
 

‘बेटियां स्कूल जाती हैं तो डरता हूं, पत्नी रोती हैं’, आजम खान के कथित हमले वाले बयान पर बोले अमर सिंह

पूर्व सपा नेता ने इससे पहले वीडियो संदेश में आजम को राक्षस और मुलायम-अखिलेश का राजीनितक पुत्र बताया था, जबकि अखिलेश को नमाजवादी पार्टी का मुखिया करार दिया था। सिंह ने तब दावा किया था कि आजम की ओर से उनकी बेटियों पर तेजाब फेंकने की धमकी भी दी गई थी।

अमर सिंह (फोटो सोर्स- पीटीआई)

राज्यसभा सांसद अमर सिंह ने कहा है, “मेरी नाबालिग बेटियां जब स्कूल जाती हैं, तो मुझे डर लगता है। पत्नी बुरी तरह रोती हैं।” मंगलवार (28 अगस्त) को उन्होंने ये बातें सपा नेता आजम खान के कथित हमले वाले बयान पर कहीं। बता दें कि पूर्व सपा नेता ने हाल ही में एक इंटरव्यू का हवाला देते हुए दावा किया था आजम खान की ओर से उनकी बेटियों पर तेजाब से हमला कराने की बात कही गई थी। रास सांसद ने 24 अगस्त को इस बाबत फेसबुक पर एक वीडियो भी पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने आजम को राक्षस और मुलायम-अखिलेश का राजीनितक पुत्र बताया था।

लखनऊ में मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में रास सांसद ने आजम पर फिर हमला बोला। कहा, “झूठ बोलने में अगर कोई शोध हो, तो उसमें सबसे बड़ा पुरस्कार मोहम्मद आजम खान को मिलेगा। वह कहते हैं कि उन्होंने कुछ कहा ही नहीं। मोहम्मद जी झूठ बोलते हैं। उनके जिस बयान पर मेरी प्रतिक्रिया का वीडियो वायरल हुआ है, वह दिखाया ही नहीं गया।”

रास सांसद ने आजम के उसी बयान के बारे में मीडिया को बताया। कहा, “वह (आजम) कहते हैं कि अमर सिंह और उनके जैसे लोगों को सड़क पर पीटा जाएगा। उनकी जवान बेटियों पर तेजाब फेंका जाएगा। मैं बुरा और विवादत शख्स हो सकता हूं। लेकिन मैं दो 17 साल की बेटियों के बाप की हैसियत से यहां बैठा हूं।”

बकौल सिंह, “बेटियां स्कूल जाती हैं, तो डर लगता है। हमारी पत्नी रोती हैं। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में जब हिंदू लड़की के साथ क्रूरता से छेड़छाड़ हुई, तब आजम खान ही वहां मंत्री थे। देश की आजादी दौरान भी इस क्षेत्र में दंगे नहीं हुए। लेकिन वहां इनके राज में दंगे हुए।”

पूर्व सपा नेता आगे बोले, “प्रधानमंत्री मोदी पर गुजरात के दंगों का कलंक लगाने वाले नमाजवादियों (सपा नेताओं से) से कि गुजरात का दंगा, दंगा था। आजम के नेतृत्व में हिंदू बेटी छेड़ने के बाद जो दंगे हुए और उसमें उनकी बिरादरी और नस्ल के लोग मरे, वह गुजरात के दंगों से भी ज्यादा थे।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App