ताज़ा खबर
 

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने यूपी में अफ्रीकी नागरिकों की गिरफ्तारी पर मांगी रिपोर्ट

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने नोएडा में कक्षा 12वीं के छात्र की मौत में कथित भूमिका के लिए कुछ अफ्रीकी नागरिकों की गिरफ्तारी पर सोमवार को उत्तर प्रदेश सरकार से सूचना मांगी।

Author नई दिल्ली | March 28, 2017 5:39 AM
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज। (फाइल फोटो)

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने नोएडा में कक्षा 12वीं के छात्र की मौत में कथित भूमिका के लिए कुछ अफ्रीकी नागरिकों की गिरफ्तारी पर सोमवार को उत्तर प्रदेश सरकार से सूचना मांगी। सुषमा ने एक ट्वीट में कहा, मैंने नोएडा में अफ्रीकी छात्रों पर कथित हमले के बारे में उत्तर प्रदेश सरकार से एक रिपोर्ट मांगी है। मीडिया की खबरों के अनुसार नाइजीरिया के पांच छात्रों को पुलिस ने कक्षा 12वीं के एक छात्र की मौत के मामले में उनकी भूमिका के लिए उठाया था। छात्र की 25 मार्च को कथित रूप से मादक पदार्थ के अधिक इस्तेमाल से मौत हो गई थी। इससे पहले भी सुषमा स्वराज आए दिन ही विदेश में फंसे लोगों की मदद करने के लिए आगे आती हैं। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज विदेशों में फंसे लोगों की सहायता के लिए कई बार चर्चाओं में रही हैं। उन्होंने कई भारतीयों को विदेश से स्वदेश लाए जाने में मदद की है।

हाल ही में विदेश मंत्री को पता लगा कि सर्बिया में एक भारतीय का अपहरण कर लिया गया है, लेकिन जब तक वो इस शख्स की मदद करतीं, जानकारी मिली कि यह मामला फर्जी है। विदेश मंत्री को पता लगा कि शख्स ने खुद के अपहरण का नाटक रचा था। सर्बिया में कथित तौर पर अगवा और प्रताड़ित किए गए भारतीय को बचाने के अनुरोध पर सुषमा द्वारा प्रतिक्रिया देने के कई घंटों बाद उन्होंने गुरुवार रात कहा कि अपहरण का नाटक किया गया था और वीडियो फर्जी था।

 

क्या था मामला:

दरअसल विदेशों में परेशानी में फंसे भारतीयों को तुरंत मदद पहुंचाने के लिए जानी जाने वाली सुषमा के पास एक ट्वीट आया था। इस ट्वीट में में एक व्यक्ति ने अपने भाई के लिए मदद मांगी थी और बताया था कि सर्बिया में उसे अगवा कर लिया गया है और फिरौती की मांग की गई है। व्यक्ति ने कहा कि अगर उन्होंने पैसे नहीं दिए तो भाई की हत्या करने की धमकी दी गई है। ट्वीट के साथ एक वीडियो भी डाला गया था। इस वीडियो में बिना कमीज पहने एक व्यक्ति दिख रहा था जिसके हाथ बंधे हुए थे और एक कोड़े से उसकी पिटाई की जा रही थी।

विदेश मंत्री ने तुरंत मामले का संज्ञान लिया और सर्बिया में फंसे लड़की की मदद के लिए टीम लगा दी। बाद में सुषमा ने ट्वीट किया था, “विजय महाजन मिल गए हैं और सर्बियाई अधिकारियों की सुरक्षित पनाह में हैं।” उन्होंने यह भी लिखा कि इसके लिए उसे वहां भेजने वाला एजेंट जिम्मेदार है और उसे इसकी सजा मिलनी चाहिए। लेकिन बाद में देर रात सुषमा ने ट्वीट किया, “राजीव, मेरे सामने सभी तथ्य हैं। आपका भाई अगवा नहीं हुआ था। उसने अगवा होने का नाटक किया था और यह वीडियो जाली है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App