ताज़ा खबर
 

किडनी में परेशानी के चलते वित्त मंत्री अरुण जेटली का लंदन दौरा रद्द, ट्वीट कर दी जानकारी- घर से ही काम करेंगे

वित्त मंत्री अरुण जेटली किडनी की समस्या से जूझ रहे हैं, जिसकी वजह से उन्हें वार्षिक आर्थिक वार्ता को लेकर अगले हफ्ते होने वाला अपना लंदन दौरा रद्द करना पड़ा है। पहले सूत्रों के हवाले से खबर आई थी कि 65 वर्षीय अरुण जेटली किडनी की बीमारी से पीड़ित हैं, उन्हें आराम की सलाह दी गई है।

वित्त मंत्री अरुण जेटली। (फाइल फोटो)

वित्त मंत्री अरुण जेटली किडनी की समस्या से जूझ रहे हैं, जिसकी वजह से उन्हें वार्षिक आर्थिक वार्ता को लेकर अगले हफ्ते होने वाला अपना लंदन दौरा रद्द करना पड़ा है। पहले सूत्रों के हवाले से खबर आई थी कि 65 वर्षीय अरुण जेटली किडनी की बीमारी से पीड़ित हैं, उन्हें आराम की सलाह दी गई है। लेकिन गुरुवार (5 अप्रैल) को वित्त मंत्री ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर अपने स्वास्थ्य को लेकर जानकारी दी। अरुण जेटली ने ट्वीट में बताया कि उनका किडनी और निश्चित संक्रमण से संबंधित इलाज किया जा रहा है। इसलिए वह वर्तमान में घर से ही एक नियंत्रित वातावरण में काम कर रहे हैं। बता दें कि वित्त मंत्री की 2015 में वजन घटाने के लिए गैस्ट्रिक बाईपास सर्जरी की गई थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जेटली ने गुरुवार को दिल्ली स्थित एम्स जाकर अपनी जांच कराई, जहां डॉक्टरों ने उन्हें किडनी की बीमारी के इलाज से पहले आराम की सलाह दी। हालांकि एम्स के प्रवक्ता बीएन आचार्य ने न तो इसकी पुष्टि की और न ही इससे इनकार किया। आचार्य ने कहा, “वह टिप्पणी नहीं करेंगे।”

वित्त मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मीडिया को बताया कि वित्त मंत्री ने अपना ब्रिटेन का दौरा रद्द कर दिया है। वे अगले हफ्ते वार्षिक ब्रिटेन-भारत आर्थिक वार्ता में भाग लेने वाले थे। जेटली सोमवार को अपने नार्थ ब्लॉक के दफ्तर आए थे, जबकि वह मंगलवार से अपने आवास से काम कर रहे हैं। जेटली बीते महीने राज्य सभा के लिए फिर से निर्वाचित हुए हैं।

अरुण जेटली को सदस्य के तौर पर अभी शपथ लेना है। उन्हें मंगलवार को राज्य सभा में सदन का नेता नियुक्त किया गया था। बता दें कि हाल ही में वित्त मंत्री अरुण जेटली तब सुर्खियों में आ गए थे जब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 10 करोड़ के मानहानी के मामले में उनसे लिखित में मांफी मांगी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App