ताज़ा खबर
 

‘हमें करंट लगा है…’, हार पर बोले दिल्ली BJP चीफ मनोज तिवारी- किस हैसियत से जाऊं शाहीन बाग?

Delhi BJP Chief Manoj Tiwari Exclusive Interview to ABP News after Delhi Assembly Elections Results 2020: इंटरव्यू के दौरान उनसे पूछा गया कि चुनावी नतीजों से करंट लगा या नहीं? इसपर उन्होंने कहा कि 'करंट तो लगा ही है। मुझे लगता है कि हमें अपना मैनिफेस्टो थोड़ा पहले लाना चाहिए था, ताकि समय रहते उसे लोगों को पहुंचा सकें।

Delhi Assembly, arvind kejriwal, shaheen bagh, Manoj Tiwari, amit shah, shaheen bagh protests, CAA, NRC, pm modi, aap, ABP News, Seedha Sawaal, ManojTiwariMP, Rubika LiyaquatBJP चीफ मनोज तिवारी। फोटो: Indian Express

Delhi BJP Chief Manoj Tiwari Exclusive Interview to ABP News after Delhi Assembly Elections Results 2020 News in Hindi: दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने विधानसभा चुनाव में पार्टी की करारी हार पर कहा है कि चेहरे के साथ न उतरना हार की वजह है। अगर चेहरे के साथ उतरते तो नतीजे कुछ और होते। उन्होंने एबीपी न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में पार्टी की हार पर खुलकर चर्चा की।

तिवारी ने इंटरव्यू में गृह मंत्री अमित शाह के ‘करंट’ लगने वाले बयान, शाहीन बाग में चल रहे संशोधित नागरिकता कानून और प्रचार के दौरान छाए चुनावी मुद्दों पर भी अपनी बात  रखी। उन्होंने कहा कि हमें (बीजेपी) करंट लगा है।

इंटरव्यू के दौरान उनसे पूछा गया कि चुनावी नतीजों से करंट लगा या नहीं? इसपर उन्होंने कहा कि ‘करंट तो हमें लगा ही है। मुझे लगता है कि हमें अपना मैनिफेस्टो थोड़ा पहले लाना चाहिए था, ताकि समय रहते उसे लोगों को पहुंचा सकें। जो भी लोग शाहीन बाग भ्रम फैला रहे हैं उन्हें करंट लगने की बात कही गई थी। नेशनल रिजस्टर ऑफ सिटीजन (एनआरसी) पर कोई बातचीत नहीं हुई है। प्रधानमंत्री भी इस बात को साफ कर चुके हैं लेकिन शाहीन बाग के लोग इसपर जनता के बीच भ्रम फैला रहे हैं।’

वहीं जब उनसे पूछा गया कि वह शाहीन बाग क्यों नहीं जा रहे हैं तो इसके जवाब में उन्होंने कहा कि मैं किस हैसियत से शाहीन बाग जाऊं। वहां मुझपर हमला हो सकता है इस वजह से मैं वहां नहीं जा रहा है। शाहीन बाग को हम आज भी सही नहीं मानते और न ही कल मानेंगे। मालूम हो कि शाहीन बाग को बीजेपी ने मुद्दा बनाया था। एक सभा में अमित शाह ने कहा था ‘दिल्ली वालों ईवीएम का बटन इतनी जोर से दबाना कि वोट यहां मिले और करंट शाहीन बाग में लगे।’

मालूम हो कि गत आठ फरवरी को हुए विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) ने 70 में से 62 सीटों पर जीत दर्ज अपनी सत्ता बरकरार रखी। बीजेपी ने आठ सीटें जीती जबकि कांग्रेस का इस बार भी खाता नहीं खुल सका।

Next Stories
1 महात्मा गांधी ने भगत सिंह और अन्य क्रांतिकारियों को बचाने की नहीं की कोशिश: प्रधान आर्थिक सलाहकार की राय
2 अरविंद केजरीवाल की शपथ में ‘जूनियर मफरलमैन’ को भी बुलावा, जानिए कौन है नन्हा AK
3 सेना ने कर्नल के खिलाफ शुरू की कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी, क्लिनिक में नर्स संग संबंध बनाते धरे गए थे रंगेहाथ
ये पढ़ा क्या?
X