Huge Scam in Prime Minister Narendra Modi's Swachh Bharat Mission: 80 Percent of the Amount was used for Some other Purpose in Banglore - स्वच्‍छ भारत मिशन में बड़ा घोटाला! एक शौचालय बनाने में लगे 20 लाख, दूसरे मद में खर्च कर दिए करोड़ों रुपए - Jansatta
ताज़ा खबर
 

स्वच्‍छ भारत मिशन में बड़ा घोटाला! एक शौचालय बनाने में लगे 20 लाख, दूसरे मद में खर्च कर दिए करोड़ों रुपए

देश में साफ-सफाई के प्रयासों और स्वच्छता पर जोर देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र ने स्वच्छ भारत मिशन लॉन्च किया था। साल 2014 में दो अक्टूबर (महात्मा गांधी की जयंती) को इसकी शुरुआत की गई थी।

देश को साफ-सुथरा बनाने के मकसद से पीएम ने साल 2014 में इस मिशन की शुरुआत की थी। (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन को बड़ा खुलासा हुआ है। कर्नाटक के बेंगलुरू शहर में इस मिशन के नाम पर बड़ा घोटाला किया गया। बृहत बेंगलुरू महानगर पालिका (बीबीएमपी) ने यहां एक शौचालय बनाने पर लगभग 20 लाख रुपए खर्च कर दिए, जबकि दूसरे मद में करोड़ों रुपए अन्य कामों के नाम पर बहाए गए। बीबीएमपी को केंद्र सरकार से स्वच्छ भारत मिशन के लिए 154 करोड़ रुपए मिले थे, जिसका 80 फीसदी हिस्सा इस मिशन के लिए इस्तेमाल ही नहीं हुआ।

घोटाले से जुड़ा खुलासा सीएनएन-न्यूज 18 की रिपोर्ट में किया गया। याचिकाकर्ता एस.अमरेश ने चैनल से दावा किया कि मिशन के दिशा-निर्देश के मुताबिक ये रकम शौचालयों का निर्माण पर खर्च की जानी थी। साथ ही लोगों के उनके जरिए जागरूकता किया जाना था। पर मामले की जमीनी हकीकत कुछ और ही।

याचिकाकर्ता ने बताया, “स्वच्छ भारत कार्यक्रम के लिए केंद्र सरकार ने बीबीएमपी को 154 करोड़ रुपए का अनुदान दिया था। लेकिन उन्होंने 80 फीसदी रकम और कामों के लिए इस्तेमाल की। इन्होंने कब्रिस्तान की दीवार, सड़क और अन्य चीजें उस रकम के जरिए बनाईं, जबकि मिशन के अंतर्गत शौचालय बनाए जाने थे।”

देखें चैनल से क्या बोले याचिकाकर्ता 

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में इससे पहले स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण योजना में तकरीबन 48 लाख रुपए का घोटाला सामने आया था। मामले में ग्राम प्रधान और सचिवों ने मिलकर इस रकम की चपत लगाई थी। 2014 से 15 के बीच बनाए गए शौचालय पंचायतों में ढूंढे जाने पर भी नहीं मिले, जिसकी वजह से उनकी भू-टैगिंग भी नहीं हो सकी थी। मामला सामने आने के बाद मुख्य विकास अधिकारी ने जांच की बात कही थी।

आपको बता दें कि देश में साफ-सफाई के प्रयासों और स्वच्छता पर जोर देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र ने स्वच्छ भारत मिशन लॉन्च किया था। साल 2014 में दो अक्टूबर (महात्मा गांधी की जयंती) को इसकी शुरुआत की गई थी। मिशन का उद्देश्य- महात्मा गांधी की 150वीं वर्षगांठ को सही से श्रद्धांजलि देते हुए 2019 तक साफ-सुथरे देश की प्राप्ति करना है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App