ताज़ा खबर
 

जवाब से संतुष्ट नहीं, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के वीसी के खिलाफ जांच कराएगा प्रकाश जावड़ेकर का मंत्रालय

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के वीसी जमीरूद्दीन शाह के खिलाफ एचआरडी मंत्रालय को शिकायत मिली थी।

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के वीसी जमीरूद्दीन शाह।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एचआरडी) अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के वीसी के खिलाफ जांच करवाने के लिए कमेटी बनवा सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि मंत्रालय वीसी जमीरूद्दीन शाह द्वारा राष्ट्रपति को भेजे गए जबाव से संतुष्ट नहीं है। इंडियन एक्सप्रेस को सूत्रों से जानकारी मिली है कि 17 अक्टूबर 2016 को HRD मंत्री प्रकाश जावड़ेकर की सलाह के बाद राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने शाह को नोटिस दिया था। उसमें शाह से पूछा गया था कि उनके खिलाफ जांच क्यों ना की जाए। शाह पर वित्तीय, प्रशासनिक और शैक्षणिक अनियमितताओं के आरोप हैं। शाह उन आठ वीसी में शामिल हैं जो एनडीए की सरकार आने के बाद सरकार की जांच के घेरे में आ गए थे।

शाह के खिलाफ मिली थी शिकायत: अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के वीसी जमीरूद्दीन शाह के खिलाफ एचआरडी मंत्रालय को शिकायत मिली थी। वह शिकायत वसीम अहमद नाम के शख्स ने की थी। वसीम अहमद एएमयू कोर्ट के एक्स विजिटर नॉमनी हैं।

शाह पर क्या हैं आरोप ? शाह पर गैरकानूनी तरीके से फंड ट्रांसफर का आरोप है। वह फंड स्टूडेंट्स द्वारा सर सय्यद अहमद एजुकेशनल फाउंडेशन नाम के प्राइवेट ट्रस्ट ने जमा किया था। शाह पर रिटायर्ड ब्रिगेडियर को प्रो वीसी अपाइंट करने का भी आरोप है। जिसे यूजीसी की गाइडलाइन का उल्लंघन माना गया। यूजीसी की गाइडलाइन के हिसाब से किसी प्रोफेसर को ही वह स्थान दिया जा सकता है। शाह पर अयोग्य उम्मीदवारों का चयन करने का भी आरोप है।

इंडियन एक्सप्रेस को जानकारी मिली है कि शाह ने जो जवाब दिया था उससे मंत्रालय संतुष्ट नहीं था। इस वजह से अब मंत्रालय ने प्रणब मुखर्जी से गहरी जांच की मांग की है। इस मांग पर अभी प्रकाश जावड़ेकर की हामी आना बाकी है। प्रकाश जावड़ेकर के कार्यकाल में AMU, इलाहबाद यूनिवर्सिटी और हेमवती नंदा बहुगुणा यूनिवर्सिटी के वीसी जांच के घेरे में आए हैं। वहीं स्मृति ईरानी के कार्यकाल में विश्व भारती यूनिवर्सिटी और पुडुचेरी यूनिवर्सिटी के वीसी को पद से हटाया गया था। इसके अलावा IGNOU के वीसी और दिल्ली यूनिवर्सिटी और जामिया मीलिया इस्लामिया के पूर्व वीसी के भी पूछताछ हुई थी।

गुरुवार को जब इंडियन एक्सप्रेस ने शाह से इस बारे में बात की तो उन्होंने कहा, ‘मैंने सारी जानकारी डीटेल में दे दी है, अगर वह आगे जांच करना चाहते हैं तो उनका स्वागत है। जांच में सब साफ हो जाएगा।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘स्वच्छ भारत अभियान’ के लिए घर में टॉयलेट बनवाकर बुरा फंसा परिवार, पैसा आया नहीं उल्टा बेटा भी कैद हो गया
2 बीजेपी सांसद मनोज तिवारी की गाड़ी का शीशा तोड़ा, पर्ची में लिखा- चुनाव प्रचार बंद करो, वर्ना मुंह भी तोड़ेंगे
3 मोदी सरकार पर बरसे चिदंबरम, भाजपा पर लगाया ‘मानवाधिकारों के उल्लंघन’ का आरोप
ये पढ़ा क्या...
X